रसड़ा: कैंडल मार्च निकालकर लोगों ने किया विरोध प्रदर्शन

राजस्थान के जालौर जिले में इंद्र कुमार मेघवाल को मटकी से पानी पीने को लेकर हुई मौत एवं शिक्षिका की निर्मम हत्या के विरोध में मंगलवार की सांय लोगों ने कैंडल मार्च निकालकर विरोध प्रदर्शन किया.

राजस्थान में टीचर की पिटाई से हुई दलित छात्र की मौत के विरोध में भीम आर्मी के कार्यर्ताओं ने निकाला कैंडिल मार्च

जिलाध्यक्ष अजय कुमार भारती ने कहा कि राजस्थान के जिला जालौर के ग्राम शुक्राणु निवासी कक्षा 3 के दलित छात्र इन्द्र मेघवाल की मात्र मटके से पानी पीने के कारण सवर्ण अध्यापक द्वारा बेरहमी से पिटाई के चलते मौत हो गई. जिसकी जितनी निंदा की जाय कम ही है.

बलिया के गांव में मृत बकरी के पेट से निकला अद्भुत अर्द्धविकसित जीव

बलिया के बिनहाँ गांव में रविवार की रात मृत बकरी के पेट से मानव शिशु से मिलता जुलता का एक अजीबो-गरीब आकृति वाला जीव निकला, जो लोगों के बीच कौतुहल का विषय बना रहा.

छपरा सारिव गांव के पहलवान की जयपुर में संदिग्ध हालात में मौत

रेवती थाना क्षेत्र के छपरा सारिव निवासी 26 वर्षीय एक पहलवान की संदिग्ध हालात में जयपुर (राजस्थान) में मौत हो गई. इस संबंध में पहलवान के पिता द्वारा रेवती थाने में तहरीर  दी गई है. पुलिस द्वारा मामले की छानबीन की जा रही है.

शारीरिक व मानसिक अनुशासन में योग को सहायक बताया

आशा देवी इंटरनेशनल स्कूल राजगढ़ में योग आचार्य जगदीश पूनियां के मार्ग दर्शन में अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया गया. योगाचार्य ने बच्चों को योग का महत्व बताया व दैनिक जीवन में योग के माध्यम से शारीरिक व मानसिक अनुशासन में योग को सहायक बताया.

मूंछें हो तो सिताबदियारा के सरल बैठा जैसी

इंसान के शौक भी अजीब किस्‍म के होते हैं. अब अगर शौक है तो उसमें सनक भी होगी ही. नाम व प्रसिद्धि पाने के लिए कुछ ऐसा ही शौक चढ़ा है जेपी के गांव सिताबदियारा के अंबिका बैठा उर्फ सरल बैठा पर.

इलाहाबाद विश्वविद्यालय ही कराएगा प्रवेश परीक्षा

विभिन्न पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए अब इलाहाबाद विश्वविद्यालय ही प्रवेश परीक्षा कराएगा. कॉमन इंट्रेंस में शामिल होने के विवि के प्रस्ताव पर राजस्थान सेंट्रल यूनिवर्सिटी के साथ सहमति नहीं बन पाई.

ददरी मेला में अखिल भारतीय कवि सम्मेलन 30 को

ऐतिहासिक ददरी मेला के भारतेंदु कला मंच पर आयोजित अखिल भारतीय कवि सम्मेलन में देश विदेश में ख्यातिलब्ध कवियों का काव्य पाठ होने जा रहा है. आगामी 30 नवम्बर दिन बुधवार को रात्रि 8 बजे से भारतेंदु कला मंच एक बार फिर गंगा जमुनी तहजीब की काव्य सुरसरि का साक्षी बनेगा, जिसमे देश के दर्जन भर से अधिक मशहूर कवि अपने काव्यपाठ से उपस्थित श्रोताओं को आनंदित करने का काम करेंगे.