व्यक्तित्व विकास में भावना की अहम् भूमिका: प्रो.निर्मला एस. मौर्य

कार्यक्रम के संयोजक व मुख्य वक्ता डॉ. रसिकेश ने कहा कि भावनाओं को रणनीतिक तरीके से संतुलित किया जा सकता है , भावनाओं को हमेशा सम्हालकर और लोगों को समझकर जिंदगी को आसान किया जा सकता है. कार्यक्रम में कहानी हाउस हाउस का मंचन किया गया.

शिक्षक समाज का एक आईना है- बीइओ

दोनों खंड शिक्षा अधिकारियों ने शिक्षकों को संबोधित करते हुए कहा कि शिक्षक समाज का एक आईना है शिक्षक विद्यार्थियों में आचरण और संस्कार भरने के साथ ही उन्हें शिक्षा से अलंकृत करते हैं. जो उन्हें जीवन पर्यंत काम आते हैं. इसीलिए शिक्षकों को गुरु की उपाधि मिली हुई है. जिन्हें शास्त्रों में भगवान से भी बड़ा बताया गया है.

मां की जगह कोई नहीं ले सकता – एसडीएम सीमा पाण्डेय

एसडीएम सीमा पाण्डेय जी ने अपने उद्बोधन में बच्चों के कार्यक्रम की सराहना करते हुए मां की संज्ञा इस धरा पर साक्षात मौजूद भगवान से कि उन्होंने कहा कि इतने बड़े जहान में मां की जगह कोई नहीं ले सकता

जननायक चंद्रशेखर विश्वविद्यालय में जिलाधिकारी ने बताए स्टूडेंट्स को सफलता के मंत्र

जिलाधिकारी ने जननायक चंद्रशेखर विश्वविद्यालय के प्रशासनिक भवन में कार्यक्रम के उपरांत सुरहाताल का निरीक्षण किया.

जननायक चंद्रशेखर की मनाई गई 95 वीं जयंती

बलिया. चंद्रशेखर विचार मंच एवं शेखर फाउंडेशन के तत्वावधान में रविवार को जननायक चंद्रशेखर की 95वीं जयंती चंद्रशेखर उद्यान में सर्व धर्म समभाव प्रार्थना सभा …

डॉ अंबेडकर ने समतामूलक समाज के निर्माण का अद्वितीय प्रयास किया: प्रो. देवराज

विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित डॉ श्याम कन्हैया ने छात्रों को बाबा साहब के जीवन से प्रेरणा लेने के लिए प्रोत्साहित किया. उन्होंने बाबा साहब के जीवन संस्मरणों का छात्रों के साथ साझा किया.

राम कथा में श्रीराम के गगनभेदी नारों से पूरा वातावरण हुआ गुंजायमान

कथा के आखिरी दिन रविवार के देर शाम कथा प्रसंग में भगवान श्रीराम के राज्याभिषेक का प्रसंग सुन भक्त खुशी से झूम उठे. भक्तों के जय श्रीराम के गगनभेदी नारों से पूरा वातावरण गुंजायमान हो गया. स्वामी राधारंग जी महाराज ने कथा का विस्तार देते हुए कहा कि भगवान श्रीराम धर्मपालन के आदर्श प्रतिमान है. वनवास के अवसर धैर्य का जैसा अपूर्व प्रदर्शन श्रीराम ने किया वैसा अत्यंत दुर्लभ है. जिस परिस्थिति में स्वयं महाराज दशरथ अधीर हैं,राज परिवार अधीर हैं,मंत्री सुमंत अधीर हैं,अयोध्या की प्रजा अधीर हैं, उस स्थिति में भी श्रीराम “धीर”हैं.

विश्व स्वास्थ्य दिवस ‘हमारा ग्रह हमारा स्वास्थ्य’ की थीम पर मना

मुख्य चिकित्साधिकारी डॉक्टर नीरज पांडे द्वारा अपने संबोधन में कहा गया कि पर्यावरण का असर हमारे स्वास्थ्य पर पड़ता है. इसलिए यह जरूरी है कि वातावरण को इको फ्रेंडली बनाया जाए! इसके लिए यह आवश्यक है कि अपने आस पास साफ-सफाई पर विशेष ध्यान दिया जाए तथा वृक्षारोपण हेतु आम जनमानस में जन जागरूकता फैलाई जाए

युवाओं को तकनीक से जुड़कर समय का सदुपयोग करना चाहिए- एसडीएम

एसडीएम ने कहा कि परिश्रम के बल पर ही सफलता प्राप्त होती है. ऐसे में आप सभी सार्थक दिशा में कठिन परिश्रम करें. सफलता आपके कदम चूमेगी.

प्रतियोगिता से बच्चों की चौमुखी प्रतिभा को निखारा जाता है- संजय यादव

कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि केशव चौधरी ब्लॉक प्रमुख नवानगर व प्रभात कुमार श्रीवास्तव खंड शिक्षा अधिकारी नवानगर रहे. मुख्य अतिथि ने अपने संबोधन में यह भी कहा कि जीवन में बिदाई का बेला बहुत ही दुखदायी होता है. इस पल को कभी भूलाया नहीं जा सकता है और उनके किये गए अच्छे कार्यों का अनुसरण हमेशा याद रहता है.

प्राथमिक शिक्षा की मजबूती ही बच्चे का भविष्य उज्जवल बनाती है- दानिश आजाद अंसारी

बच्चों का हौसला अफजाई करते हुए दानिश आजाद ने कहा कि जब नीव मजबूत होती है तभी मकान मजबूत होता है. इसी प्रकार प्राथमिक शिक्षा की मजबूती ही बच्चे का भविष्य उज्जवल बनाती है. यही वजह है कि प्रदेश सरकार भी प्राथमिक शिक्षा के उत्थान पर न सिर्फ ध्यान दे रही है बल्कि आर्थिक रूप से समृद्धि भी कर रही है. शिक्षा से कोई भी बच्चा वंचित न हो इसके लिए सरकार तमाम तरह के प्रयास कर रही है. प्रदेश सरकार जन जागरण से लेकर संसाधन की व्यवस्था के प्रति भी गंभीर है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज करेंगे स्टूडेंट्स के साथ परीक्षा पे चर्चा

जवाहर नवोदय विद्यालय सिंहाचवर जिला बलिया के विद्यार्थी शिक्षक एवं अभिभावक भी अप्रत्यक्ष रूप से मीडिया के माध्यम से जुड़ेंगे इसके साथ-साथ जिले के सभी विद्यालयों के विद्यार्थी भी दूरदर्शन व सोशल मीडिया के माध्यम से कार्यक्रम में सहभागिता कर सकते हैं.

ईमानदारी व निष्ठा से की जाने वाली मेहनत कभी बेकार नहीं जाती- प्रभात श्रीवास्तव

इस दौरान विद्यालय के छात्र-छात्राओं ने समूह गान व नृत्य सहित विभिन्न देश भक्ति गीतों पर एकल व सामूहिक डांस प्रस्तुत किया. छोटे व बड़े बच्चों ने अपने मनमोहक नृत्य व अदा से सबको मोहित किया. दर्शकों ने भी होनहारों की अदाकारी को जमकर सराहा. वहीं कार्यक्रम के दौरान शहीदों की स्मृति में प्रस्तुत गीत व नृत्य को देखकर दर्शक भावुक भी हुए. वहीं विद्यालय के मेधावियों को सम्मानित भी किया गया.

डा. रामनरेश का शोध पेपर उत्कृष्ट जर्नल में प्रकाशित, इंजीनियरिंग संकाय में शिक्षकों ने किया सम्मानित

ॉ. यादव का रिसर्च पेपर अत्यंत ही उत्कृष्ट जर्नल में प्रकाशित हुआ है जिसका इंपैक्ट फैक्टर 20.2 है. टेलर एंड फ्रैंसिस कैटालसिस रिव्यू जैसे बड़े लोकप्रिय जर्नल में पेपर प्रकाशित होना बहुत बड़ी उपलब्धि है. साथ ही यह विश्वविद्यालय के लिए गौरव की बात है. टेक्नीकल सेल के प्रभारी और केमिस्ट्री विभाग के डॉ अमरेंद्र सिंह को उत्तर प्रदेश सरकार के रिसर्च एवं डेवलपमेंट विभाग द्वारा प्रोजेक्ट प्राप्त होने पर सम्मानित किया गया.

पूर्वांचल विश्वविद्यालय के शिक्षकों में ऊर्जा की कमी नहीं : कुलपति

–सेंटर ऑफ एक्सीलेंस अनुदान पाने वाले छह शिक्षक और छह विद्यार्थी हुए सम्मानित जौनपुर, बलिया. वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय के सेंटर ऑफ एक्सीलेंस की …

होली पर डाक्टर आशुतोष गुप्ता के खास टिप्स, रखें इन बातों का ध्यान

सिकंदरपुर, बलिया. होली एक ऐसा त्योहार हैं जिसे देश के विभिन्न भागों में भिन्न-भिन्न तरीकों से मनाया जाता हैं. इसमें मुख्यतया रंगों और पानी का …

‘होली’ प्रेम, सद्भाव और भाईचारे का त्योहार

पुराणों के अनुसार आदिकाल में हिरण्यकश्यप नामक एक शैतान राजा राज्य करता था जिसे ब्रह्मा द्वारा आशीर्वाद प्राप्त था कि उसे कोई आदमी, जानवर या हथियार नहीं मार सकता. इस वरदान के बाद वह इतना अहंकारी हो गया कि उसने अपने राज्य में भगवान की पूजा करना मना कर दिया एवं स्वयं की पूजा कराने लगा लेकिन किसी घटना ने उसके ही संतान की आंखें खोल दी और उसके पुत्र प्रह्लाद ने उसके आज्ञा का उल्लंघन करना शुरू कर दिया, जिसके कारण हिरण्यकश्यप ने प्रहलाद को मारने के लिए अनेक कुचक्र रचा.

‘होली’ बुराई पर अच्छाई की जीत की प्रतीक

लोक कलाकार एवं संगीतकार विद्यार्थी ने कहा कि आज किसी भी समारोह, उत्सव और त्योहार के अवसर पर डीजे की अश्लील धुनों पर डांस करना फैशन बन गया है. युवाओं को इससे दूर रहने की आवश्यकता है. तेज आवाज वाले डीजे की ध्वनि हृदय, अस्थमा एवं कमजोर व्यक्तियों के लिए घातक साबित हो सकता है. होली के अवसर पर कुछ लोग शराब एवं अन्य नशीले पदार्थों का सेवन कर धमा-चौकड़ी करते हैं. ऐसी घटनाएं होली त्योहार की पवित्र परंपरा को नष्ट करती है.

सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक स्तर पर समुचित भागीदारी के बिना महिला सशक्तीकरण का लक्ष्य पूरा नहीं हो सकता- डॉ नरेंद्र प्रसाद गुप्ता

महिलाएं ही अपने त्याग, समर्पण और परिश्रम से हमारे जीवन में रंग भरती हैं. ऐतिहासिक दृष्टिकोण से देखा जाए तो ऋग्वेद दौर तक देश में महिलाओं को समान अधिकार प्राप्त थे, परंतु कालांतर में स्थिति बिगड़ने लगी. कहा कि सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक स्तर पर समुचित भागीदारी के बिना महिला सशक्तीकरण का लक्ष्य पूरा नहीं हो सकता.

निर्वाचन पूरी ईमानदारी से होगा- जिला निर्वाचन अधिकारी

बलिया. जिला निर्वाचन अधिकारी इन्द्र विक्रम सिंह ने कलेक्ट्रेट सभागार में राजनीतिक पार्टियों के प्रत्याशीयो और उनके चुनावी कार्यकर्तावो के साथ चुनाव की तैयारियों के …