Sarpanch Kedarnath kept fighting for the exploited, deprived and poor of the society all his life. Reminds us of his development work

आजीवन समाज के शोषित, वंचित व गरीबों की लड़ाई लड़ते रहे सरपंच केदारनाथ

नगवा गांव के पूर्व प्रधान स्व. केदारनाथ पाठक की 27वीं पुण्यतिथि उनके आवास पर सोमवार को मनाई गई.

Poster art competition on environmental protection was organized

बलिया की खास – खास ख़बरें / 02 Jun 2023

बलिया की खास – खास ख़बरें / 02 Jun 2023

मंगल पांडेय के गांव नगवा के भगवती बने गुणवत्ता नियंत्रक स्टेट क्वालिटी मॉनिटर्स

Bhagwati of Mangal Pandey's village Nagwa became the Quality Controller State Quality Monitors

मंगल पांडेय के गांव नगवा के भगवती बने गुणवत्ता नियंत्रक स्टेट क्वालिटी मॉनिटर्स

मंगल पांडेय के गांव नगवा के भगवती बने गुणवत्ता नियंत्रक स्टेट क्वालिटी मॉनिटर्स

दुबहर, बलिया. क्षेत्र के नगवा गांव निवासी भगवती शरण पाठक (सेवानिवृत्त अधिशासी अभियंता लोनिवि) का चयन प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना अंतर्गत गुणवत्ता नियंत्रक स्टेट क्वालिटी मॉनिटर्स के पद पर हुआ है.

शहीद मंगल पांडे के नाम पर बना स्मारक जर्जर एवं खस्ताहाल

मंगल पांडे विचार सेवा समिति उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष केके पाठक एवं महामंत्री अरुण कुमार ने भारत सरकार से स्वतंत्रता संग्राम के महानायक शहीद मंगल पांडे को भारत रत्न के सम्मान से सम्मानित करने की मांग की है.

स्वतंत्रता संग्राम के अग्रदूत के पैतृक गांव के पड़ोस में बनेगा आधुनिक अखाड़ा

दुबहर, बलिया. स्वतंत्रता संग्राम के अग्रदूत अमर शहीद मंगल पांडेय की जन्मस्थली नगवा का पड़ोसी गांव अखार जहां कभी प्रसिद्ध अखाड़ा हुआ करता था जिसके चलते इस गांव का नाम अखाड़ा से अखार हो गया.

mangal pande college

शहीद मंगल पांडे इंटर कॉलेज को परीक्षा केंद्र बनाने की मांग

शहीद मंगल पांडे इंटर कॉलेज नगवा को इस वर्ष बोर्ड का सेंटर ना बनाए जाने के कारण क्षेत्रीय अभिभावकों में काफी आक्रोश है.

शहीद मंगल पांडेय राजकीय महिला महाविद्यालय में हुआ वार्षिकोत्सव और पुरस्कार वितरण

इस मौके पर मुख्य अतिथि एवं विशिष्ट अतिथि ने महाविद्यालय के छात्राओं को पुरस्कृत कर उनका उत्साहवर्धन किया. कार्यक्रम में मुख्य रूप से प्रभारी राजेश्वर डॉ धनंजय सिंह डॉ रजनी कांत तिवारी डॉ शिवेंद्र नाथ दुबे डॉ रोहित कुमार डॉ दीपक कुमार झा मनीष पाठक के अलावा विद्यालय के समस्त कर्मचारी मौजूद रहे. संचालन डॉ विवेक कुमार सिंह ने किया.

मंगल पांडे के चरित्र को आत्मसात करने की जरूरत-के के पाठक

विचार मंच के अध्यक्ष कृष्ण कांत पाठक ने कहा कि बलिया के विकास एवं सामाजिक समरसता तथा बेलगाम अधिकारियों पर अंकुश लगाने के लिए आज जनपद के प्रत्येक लोगों में मंगल पांडे के चरित्र को आत्मसात करने की जरूरत आ पड़ी है. कहा कि अन्याय अत्याचार एवं शोषण के खिलाफ आवाज उठाने के लिए बागी बलिया की धरती जानी पहचानी जाती है. इस पर परंपरा को कायम रखने की जरूरत है.

पैतृक गांव नगवा में अमर शहीद मंगल पांडेय को दी गई श्रद्धांजलि

अमर शहीद के पैतृक गांव में बने शहीदी स्मारक में मंगलवार को मंगल क्रांति दिवस के मौके पर चुनाव आचार संहिता वह यूपी बोर्ड परीक्षा के कारण निषेधाज्ञा को जड़ से एक-एक करके लोग स्मारक पहुंचे और अपने अमर शहीद के सम्मान में पुष्प अर्पित किया और उन्हें नमन किया.

विचार मंच की बैठक में अमर शहीद मंगल पाण्डेय जयन्ती मनाने की बनी रणनीति

मंगल पाण्डेय विचार मंच की बैठक रविवार को प्राथमिक विद्यालय शिवपुर दियर नई बस्ती ब्यासी में सम्पन्न हुई

अमर सेनानी मंगल पाण्डेय की जन्म तिथि गलत बताने पर आक्रोश 

मंगल पांडेय विचार मंच की आवश्यक बैठक कैंप कार्यालय नगवां  ढाले पर सम्पन्न हुई. जिसमें मंगल पांडेय की जन्म तिथि 19 जुलाई 1827 को दर्शाए जाने पर विचार मंच के सदस्यों ने विरोध किया.  

बलिया के गौरव व भारतीय राजनीति के फक्कड़ कबीर थे चंद्रशेखर

भारतीय राजनीति के फक्कड़ कबीर के नाम से प्रसिद्ध पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय चंद्रशेखर को आज उनके जन्म भूमि बलिया जनपद के विभिन्न क्षेत्रों में श्रद्धापूर्वक मनाया गया.

जब तक समाज नहीं बदलता, तब तक सरकार की कार्यप्रणाली नहीं बदलती – शुक्ल

सदर विधायक शुक्ल ने कहा कि आम जन मानस के सकारात्मक सोच के कारण ही प्रधानमंत्री मोदी की प्रेरणा से आज लाखों लोग रसोई गैस की सब्सिडी छोड़ रहे हैं. हमारे उत्तर प्रदेश में बिना किसी दबाव के लोग विद्युत बिल का भुगतान कर रहे हैं.

मंगल पांडेय के गांव के लोगों को प्रधानमंत्री मोदी का इंतजार

जंगे आजादी के महानायक अमर शहीद मंगल पांडेय के पैतृक गांव के लोगों ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को नगवा आने के लिए न्यौता भेजा है.

अमर शहीद मंगल पांडेय को याद कर धन्य हुआ भृगु क्षेत्र

1857 के प्रथम स्वतंत्रता संग्राम के महानायक शहीद मंगल पाण्डेय के बलिदान दिवस के अवसर पर कदम चौराहा पर स्थित प्रतिमा के समक्ष गार्ड आफ आनर पुलिस प्रशासन के द्वारा दिया गया.

संगीन पे धर कर माथा, सो गए अमर बलिदानी

कभी ना अस्त होने वाले अंग्रेजी हुकूमत के खिलाफ किसी में बगावत करने की हिम्मत नहीं होती थी. दिन प्रतिदिन अंग्रेजों के अत्याचार बढ़ते जा रहे थे. बेवजह भारतीय सताए जाने लगे चारों ओर हाहाकार मचा था.

अमर शहीद के परिजनों के लिए अधिकारियों व नेताओं के पास फुर्सत नहीं

जिन लोगों ने देश के आजादी के लिए अपने प्राणों की आहुति तक दे दी. आज उन्हीं के परिवार के लोग मुफलिसी की जिंदगी जीने को मजबूर हैं. जनपद के नगवा गांव निवासी शहीद मंगल पांडेय का परिवार आज भी प्रशासनिक उपेक्षाओं का दंश झेल रहा है.

आज अमर शहीद मंगल पांडेय को श्रद्धासुमन अर्पित करेगा बागी बलिया

बलिदानी एवं बागी भूमि बलिया के लोग मंगल पाण्डेय को अक्षुण्ण तथा अक्षय थाती को सहेजने के लिए प्रदर्शन करेंगे. आधार होगा प्रभात फेरी, झण्डोतोलन, गार्ड आफ आनर तथा श्रद्धांजलि सभा और सांस्कृतिक परम्परा का प्रतीक चैता.