जिला जवार

छात्रों की माने तो बलिया में है जंगल राज

छात्र संघर्ष समिति के आह्वान पर नगर के विभिन्न कालेजों के छात्रों ने सोमवार को जिला प्रशासन का पुतला फूंका. बताते चले कि 16 जून को डीआरडीए कार्यालय में कार्यरत सहायक अभियंता उमेश गुप्त के साथ अधीनस्थ कर्मचारियों द्वारा की गई मारपीट के विरोध में छात्र सड़क पर उतरे. इसके पूर्व छात्र संघर्ष समिति के बैनर तले प्रदर्शनकारियों ने प्रशासन से दोषी कर्मचारियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने की मांग की थी. छात्र नेताओं का कहना है कि अधिकारी की पिटाई के बाद भी कर्मचारियों के खिलाफ कोई कार्रवाई न होना इस बात को साबित करता है कि बलिया में कानून नाम की कोई चीज नहीं रह गई है.

परिषदीय स्कूलों में खूब बंटा फल

मध्याह्न भोजन योजना के मेन्‍यू में हुए परिवर्तन के तहत सोमवार को पहली बार जनपद के समस्त परिषदीय स्कूल के बच्चों ने मौसमी फल का स्वाद लिया. शासन के निर्देश पर परिषदीय बच्चों को पूर्ण आहार उपलब्ध कराने के दृष्टिकोण से मध्याह्न भोजन योजना के मेन्‍यू में फेरबदल किया गया है. योजना को मूर्त रूप देने के लिए जनपद स्तरीय दर्जनों टीमें गठित की गयी थी. यह टीम सुबह 08 बजे से अपराह्न एक बजे तक स्कूलों का भ्रमण कर धरातलीय हकीकत से रूबरू होती रही. इसी क्रम में एक पंथ-दो काज की तर्ज पर बीएसए डॉ . राकेश सिंह ने आधा दर्जन से अधिक स्कूलों का निरीक्षण भी कर डाला, जिसमें एक दर्जन से अधिक शिक्षक गैरहाजिर मिले.

अब तिवारी गांव में महिलाओं ने शराब के खिलाफ हल्ला बोला

पिछले एक महीने में बांसडीह रोड थाना क्षेत्र का तिवारी गांव जिले में चौथा ऐसा गांव है जहां की महिलाओं ने पूरे लाव लश्कर के साथ शराब के खिलाफ टूट पड़ी हैं. बीते 14 जून को फरसाटार गांव, 11 जून को सिकंदरपुर थाना क्षेत्र के लिलकर गांव, 6 जून को सुखपुरा थाना क्षेत्र के बसंतपुर गांव में महिलाओं ने बवाल काटा था. सोमवार को बांसडीह रोड थाना क्षेत्र के तिवारी गांव में प्रधान चम्पा देवी की अगुवाई में महिलाओं ने शराब के अड्डे पर पहुंच कर जमकर बवाल काटा. इस दौरान भारी तादाद में उमड़ी महिलाओं ने न सिर्फ शराब के अड्डे को आग के हवाले कर दिया, बल्कि एक पलानी को भी आग लगा दी. लाठी डंडे के बल पर चारदीवारी को धराशायी कर दिया. इसके बाद भी गुब्बार ठंडा नहीं हुआ तो पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी की.

राजकीय निर्माण निगम नहीं चाहता की पूरा हो कालेज का काम! 

शहीद मंगल पांडेय राजकीय महिला महाविद्यालय नगवा का निर्माणाधीन भवन तत्काल कम्पलीट करके लोकार्पित किया जाए. इसी उद्देश्य से सोमवार को मंगल पांडेय विचार मंच के पदाधिकारियों ने जिलाधिकारी को संबोधित ज्ञापन अपर जिलाधिकारी बच्चालाल को सौंपा. ज्ञापन में कहा गया है कि कार्यदाई संस्था राजकीय निर्माण निगम जानबूझकर भवन निर्माण में विलंब कर रही है. विभाग कोई न कोई बहाना बना कर इस मामले को टालता जा रहा है, जबकि महिला महाविद्यालय की छात्राएं शहीद मंगल पांडेय स्मारक के एक कमरे में एक दशक से पढ़ने को मजबूर हैं.

घट रही हैं बलिया में महिलाएं!

2017 में विधानसभा चुनाव के मद्देनजर भारत निर्वाचन आयोग के निर्देश पर जिला प्रशासन प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र के मतदाता सूची को दुरुस्त करने में युद्धस्तर पर जुटा हुआ है. निर्वाचन से जुड़े अधिकारियों की सबसे बड़ी चिंता एपिक और जेंडर लिंगानुपात में भारी अंतर को लेकर है. एपिक संवाद 7 फ़ीसदी ही होना चाहिए, जबकि यह अंतर बलिया में बहुत ज्यादा है. कहीं-कहीं तो यह अनुपात 80 से 90 फीसदी तक भी है. उसी तरह लिंगानुपात में भारी अंतर देखने को मिल रहा है. एक हजार पुरुष पर महिला मतदाताओं की संख्या कम से कम 930 होनी चाहिए, जबकि वर्तमान में यह संख्या 810 या इससे भी कम है.

संध्या पांडेय समेत 15 के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज

शनिवार को एडीएम कोर्ट में आक्रोश प्रदर्शन के दौरान कथित तोड़फोड़ के मामले में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है. इस मामले में भाजपा महिला मोर्चा की पूर्व नगर महामंत्री संध्या पांडेय समेत लगभग पंद्रह महिलाओं को आरोपी बनाया गया है. पुलिस ने धारा 143, 332, 353 तथा 3/4 लोकसंपति क्षति निवारण के तहत मुकदमा दर्ज किया है.

महिला सशक्तिकरण के लिए समर्पित रहे डॉ. श्रीराम चौधरी

समाजवादी पार्टी के जिला अध्यक्ष संग्राम सिंह यादव ने शिक्षाविद् एवं मुरली मनोहर टाउन स्नातकोत्तर महाविद्यालय के अर्थशास्त्र विभागाध्यक्ष डॉ. श्रीराम चौधरी की प्रथम पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए उन्हें सरल, मृदुभाषी विद्वान, समाज चिंतक तथा महिला शिक्षा को बढ़ावा देने वाला पुरोधा बताया. उन्होंने कहा कि हमें संकल्प लेना होगा कि हम बेटे-बेटियों में कोई भेद नहीं करेंगे. उन्होंने बालिकाओं के विकास के लिए अखिलेश सरकार द्वारा किए जा रहे प्रयासों की भी चर्चा की.

जीप बाइक टक्कर में दो युवक घायल

सहतवार थाना क्षेत्र के बघाव गांव के पास रविवार को जीप एवं बाइक में जोरदार टक्कर हो गई. इस हादसे में बाइक सवार बांसडीह रोड थाना क्षेत्र के चौकन गांव निवासी मनोज राजभर (22) व विजय राजभर (23) गंभीर रूप से घायल हो गए. घायलों को प्राथमिक इलाज के बाद जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया.

विक्रमादित्य का ड्रीम प्रोजेक्ट होने का अभिशाप

देश के पहले स्वतंत्रता सेनानी या फिर पहले शहीद मंगल पांडेय के पैतृक गांव नगवा में उनके नाम पर एक महिला महाविद्यालय बीते दस साल से बस बन ही रहा है. कब तक बन जाएगा? इस सवाल का जवाब किसी के पास नहीं है. 8 अप्रैल 2005 को अमर शहीद के बलिदान दिवस के मौके पर तत्कालीन मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव ने इस महाविद्यालय को बनाने की घोषणा की थी. लगे हाथ उन्होंने इसके लिए धन भी मुक्त करवा दिया. तत्कालीन मुख्यमंत्री ने कला, विज्ञान व वाणिज्य की स्नातक शिक्षा के मान्यता भी प्रदान करवा दी.

बेकाबू बाइक ने ली दो की जान

बांसडीह रोड थाना क्षेत्र में सहतवार की ओर बाइक से जा रहे दो लड़के रविवार को अनियंत्रित होकर हादसे के शिकार हो गए. जीन बाबा के स्थान के पास हुए इस हादसे में रोहुंआ निवासी रजनीश दूबे (18) और पुरास के मठिया निवासी रविशंकर गोस्वामी गंभीर रूप से जख्मी हो गए. आसपास के लोगों ने उन्हें तत्काल जिला अस्पताल पहुंचाया. हालांकि डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया.