कोरोना से चिलकहर निवासी अध्यापक की मौत, वाराणसी में चल रहा था इलाज

चिलकहर,बलिया. चिलकहर ब्लॉक अंतर्गत प्राथमिक विद्यालय मंगरौली के प्रभारी प्रधानाध्यापक लालमोहन सिंह यादव की गुरुवार को मौत हो गई. वह कोरोना संक्रमित थे. गुरुवार की दोपहर वाराणसी के डीआरडीओ कोविड अस्पताल बीएचयू में इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई. बताया गया कि […]

Read More

जिस प्राथमिक विद्यालय में ककहरा सीखा, अब विश्वविद्यालय के कुलपति बन आए

परिषदीय स्कूलों को बेहतर बनाने के लिए शुरू किए गए ‘हमारी पाठशाला-हमारी विरासत’ कार्यक्रम से परिषदीय विद्यालयों की गुणवत्ता में सुधार की कोशिश हो रही है.

Read More

किल कोरोना क्विज प्रतियोगिता का आयोजन 21 से 24 सितम्बर तक

सभी शिक्षाक्षेत्र के परिषदीय जूनियर हाईस्कूल के प्रतिभागी होंगे शामिल, कुल तीन चरण में होगी यह ऑनलाइन प्रतियोगिता, बीएसए को जिम्मेदारी

Read More

चिलकहर ब्लाक क्षेत्र में ब्राह्मण महासभा का सदस्यता अभियान

बलिया। अखिल भारतीय ब्राह्मण महासभा, बलिया के सदस्यता अभियान के तहत जिलाध्यक्ष बद्री नाथ पांडेय के नेतृत्व चिलकहर ब्लाक के बंसत पांडेय के पूरा, पंडितपुरा तिवारीपुर में सदस्यता अभियान चलाया गया, जिसमे सैकड़ो ब्राह्मण भाइयों ने संगठन की सदस्यता ग्रहण की. इस मौके […]

Read More

मनरेगा मजदूरों को दबंगों ने काम करने से रोका, गाली गलौज

चिलकहर ब्लाक के कझारी गॉवं में प्रधान द्वारा मनरेगा मजदूरों को काम न देने पर रोजगार सेविका ने गुरुवार को मजदूरों संग प्रदर्शन किया.

Read More

चिलकहर में कोरोना वायरस के बचाव के बारे में लोगों को दी जानकारी

रोकथाम के लिए जरूरी उपाय जैसे हाथ को साबुन या सेनिटाइजर से साफ करने, नाक और मुंह पर बार-बार हाथ न लगाने, खांसी होने पर रूमाल या मास्क लगाकर रखने के लिए कहा.

Read More

मृत साथियों की आत्मा की शान्ति के लिए रोजगार सेवकों ने रखा मौन

उन्होंने कहा कि बीस माह से मानदेय न मिलने से आर्थिक और मानसिक तनाव की स्थिति में इटावा, हाथरस, कासगंज और गोरखपुर के पूर्व जिलाध्यक्षों ने खुदकुशी कर ली.

Read More

बीडीओ को आवेदन दे EOL में असमर्थता जतायी रोजगार सेवकों ने

रोजगार संघ चिलकहर के रोजगार सेवकों ने बीडीओ को दिये प्रार्थना पत्र में लिखा है कि उनको बीस माह से मानदेय न दे मानसिक और आर्थिक उत्पीड़न किया जा रहा है.

Read More

एसके रायल्स ऐकेडमी के नौनिहालों ने पेश किया न्यू ईयर का धमाल

बच्चों के हाथों से बने दो क्रिसमस ट्री थे. सूखा वृक्ष जहां कलियुग की स्थिति को दर्शा रहा था, वही हरा भरा वृक्ष भारत के स्वर्णिम अतीत की याद दिला रहा है.

Read More

श्रद्धांजलि मंच पर छाया रहा ‘नागरिकता संशोधन अधिनियम’

आज भी करोड़ों आदिवासियों के पास जन्म संबंधी कोई प्रमाण पत्र नहीं है. भारत के सभी राज्यो मे हर चौथे पांचवे व्यक्ति के पूर्वज रोजगार की तलाश में आए थे.

Read More