बलिया लाइव नवरात्रि स्पेशल: खरीद की मां भवानी-नवरात्रि के समय दूर-दूर से आते हैं भक्तजन माथा टेकने

Ballia Live Navratri Special: Devotees come from far and wide to pay obeisance to Goddess Bhavani during Navratri.
This item is sponsored by Maa Gayatri Enterprises, Bairia : 99350 81969, 9918514777

यहां विज्ञापन देने के लिए फॉर्म भर कर SUBMIT करें. हम आप से संपर्क कर लेंगे.

भक्तों की अभिलाषा पूर्ण करती हैं खरीद की मां भवानी
नवरात्रि के समय दूर-दूर से आते हैं भक्तजन माथा टेकने

सिकंदरपुर, बलिया. जिले में पौराणिक महत्व के तमाम मंदिर हैं. खरीद की भवानी और वरदहस्ता देवी मंदिर भी एक है. यहां नवरात्र ही नहीं वर्ष पर्यंत श्रद्धालुओं की भीड़ लगी रहती है.

यहां की मां की प्रतिमा अनोखी मानी जाती है क्योंकि वह दिन में तीन रूप धारण करती है. सिकंदरपुर-मनियर मार्ग पर करीब छह किमी की दूरी पर स्थित खरीद गांव का यह दिव्य व पौराणिक मंदिर आस्था का केंद्र है. यहां पूरे वर्ष दर्शनार्थियों का तांता लगा रहता है. नवरात्र में तो यह संख्या कई गुना बढ़ जाती है.

Ballia Live Navratri Special: Devotees come from far and wide to pay obeisance to Goddess Bhavani during Navratri.

भगवती की आराधना कर रहे परिवार के वयोवृद्ध पुजारी बृजराज उपाध्याय ने बताया कि जाफरानी खरीद (नया नाम खरीद) का इलाका जंगल हुआ करता था. इसी जंगल में घाघरा नदी के तट पर मेधा ऋषि का आश्रम था.

अपना राजपाट गंवाने के बाद राजा सूरथ व समाधि नामक वैश्य इस आश्रम में पहुंचे थे. दोनों की व्यथा सुन ऋषि ने उन्हें देवी उपासना की सलाह दी. दोनों के नदी तट पर देवी की मिट्टी की मूर्ति बनाकर जप किया. दो वर्षों की तपस्या के बाद देवी ने दर्शन दिया तो राजा व वैश्य ने मनोवांछित सिद्धि के साथ यहां नित्य विराजमान हो कल्याण का वरदान मांगा था.

Ballia Live Navratri Special: Devotees come from far and wide to pay obeisance to Goddess Bhavani during Navratri.

अपना आशीष व अभीष्ट सिद्धि का वरदान दे मां अंतर्ध्यान हो गईं.मां के आशीर्वाद से राजा सूरथ व समाधि वैश्य को अभीष्ट की प्राप्ति हुई. राज्य मिलने के बाद राजा ने खरीद में ही तपस्या स्थल से 500 मीटर की दूरी पर वरदहस्ता भगवती की अष्टधातु की मूर्ति स्थापित करवाई, जो जमीन में दब गई थी. कहा जाता है कि करीब 200 वर्ष पूर्व एक महिला को खूंटा गाड़ते समय मूर्ति का पता चला. इसे निकाल कर विधिवत स्थापित कर मंदिर का निर्माण कराया गया.

दोनों मंदिर भक्तों की अभीष्ट सिद्ध कर रहे हैं. मान्यता है कि यहां की प्रतिमा सुबह से शाम तक तीन बार अपना रूप बदलती है. सुबह मां तरुणा के रूप में नजर आती हैं, तो अपराह्न में प्रौढ़ रूप का दर्शन होता है. शाम के समय वृद्धा के रूप में दर्शन देती हैं.

मां की शक्ति व चमत्कार का ही नतीजा है कि यहां श्रद्धालु अपनी अर्जी लगाने से नहीं चूकता. समय समय पर भवानी माई के दरबार में दिग्गजों ने भी मत्था टेका.

Ballia Live Navratri Special: Devotees come from far and wide to pay obeisance to Goddess Bhavani during Navratri.

पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी, पूर्व राज्यपाल रोमेश भंडारी व मोतीलाल बोरा आदि नेता यहां आ चुके हैं.

  • सिकंदरपुर से संतोष शर्मा की रिपोर्ट

बलिया लाइव की हर खबर अब आपको Whatsapp पर भी मिल सकती है. अभी तक बलिया लाइव की खबरें आपको फेसबुक, टेलीग्राम – सोशल मीडिया साइट X पर मिलती रही हैं.

अब बलिया की ब्रेकिंग न्यूज और बाकी सभी अपडेट के लिए बलिया लाइव का Whatsapp चैनल FOLLOW/JOIN करें – नीचे दिये गये लिंक को आप टैप/क्लिक कर सकते हैं.
https://whatsapp.com/channel/0029VaADFuSGZNCt0RJ9VN2v

आप QR कोड स्कैन करके भी बलिया लाइव का Whatsapp चैनल FOLLOW/JOIN कर सकते हैं.

ballia live whatsapp channel

Breaking News और बलिया की तमाम खबरों के लिए आप सीधे हमारी वेबसाइट विजिट कर सकते हैं.

Website: https://ballialive.in/
Facebook: https://www.facebook.com/BalliaLIVE
X (Twitter): https://twitter.com/ballialive_
Instagram: https://www.instagram.com/ballialive/