सीएम आदित्यनाथ ने दिया आश्वासन, सभी समस्याएं होंगी दूर – पूर्व विधायक

बांसडीह, बलिया.  बांसडीह विधानसभा के पूर्व विधायक शिवशंकर चौहान प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ से मिलकर आते ही मीडिया से मुखातिब हुए।गुरुवार को पूर्व विधायक ने कहा कि क्षेत्र की समस्याओं से अवगत कराने के लिए मैं खुद लखनऊ जाकर मुख्यमंत्री से मिला. सीएम ने कहा कि जो भी क्षेत्रीय समस्याएं हैं उसे दूर किया जायेगा.

 

बता दें कि पूर्व विधायक शिवशंकर चौहान पहले भी बांसडीह से एमएलए रह चुके हैं. 2022 विधासभा चुनाव में भी बीजेपी की टिकट के लिए प्रबल दावेदार थे. लेकिन यहां से केतकी सिंह को बीजेपी + निषाद पार्टी से टिकट मिला और केतकी सिंह विधायक चुनी गईं. वहीं पूर्व विधायक शिवशंकर चौहान क्षेत्रीय समस्याओं को लेकर चिंतित हैं।जिसको लेकर मुख्यमंत्री से मिलने गए थे.

श्री चौहान ने कहा कि आजादी की इतने वर्ष बीत जाने के बाद भी पूर्वांचल में रहने वाले लगभग 70 लाख चौहान नोनिया समाज की आर्थिक राजनीतिक पिछड़े तथा अंतिम हिंदू सम्राट जो चौहान समाज के पूर्वज पृथ्वीराज चौहान की प्रतिमा लगाने के लिए सीएम से आग्रह किया. साथ ही आज तक इतनी आबादी वाले चौहान समाज के बीच में राजनीतिक पार्टियों द्वारा समुचित भागीदारी सत्ता में न मिलने की बात भी कही तथा आज के वर्तमान परिवेश में इस पूरे पूर्वांचल में चौहान समाज की वकालत करने वाला कोई भी नेता न तो सरकार में है और न ही विधान परिषद, राज्यसभा में है. इस पर भी मुख्यमंत्री का ध्यान आकृष्ट पूर्व विधायक ने कराया ताकि चौहान समाज की राजनीतिक आर्थिक शैक्षणिक का विकास हो सके.

पूर्व विधायक ने कहा कि मुख्य मंत्री ने क्षेत्र की समस्यायों को ध्यान पूर्वक सुना इतना ही नही सार्थक आश्वासन मुझे दिया. उन्होंने कहा कि की भारतीय जनता पार्टी सबका साथ और सबका विकास को लेकर पूरी तरह से कटिबद्ध है. सुभासपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं बड़े भाई, उन्हे उन पर हमला का राजनीतिक रूप नही देना चाहिए.

बांसडीह विधासनभा के पूर्व विधायक शिवशंकर चौहान ने कहा कि गाजीपुर में सुभासपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष व विधायक ओमप्रकाश राजभर हमला की चर्चा जो हो रही है. उसे उन्हे राजनीतिक रूप नही देना चाहिए. ओमप्रकाश राजभर को शिव शंकर ने अपना बड़ा भाई बताया.

(बांसडीह संवाददाता रवि शंकर पाण्डेय की रिपोर्ट)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.