धूमधाम से मनाई गई गांधी जी व शास्त्री जी की जयंती, हुए विविध कार्यक्रम

कलेक्ट्रेट में जिलाधिकारी ने किया ध्वजारोहण, गोष्ठी का हुआ आयोजन

बलिया: जिले में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री जी की जयंती धूमधाम से मनाई गई। जिलाधिकारी सौम्या अग्रवाल ने कलेक्ट्रेट में ध्वजारोहण किया। इसके बाद गांधी जी व शास्त्री जी के चित्र का अनावरण करते हुए दीप जलाकर व माल्यार्पण कर दोनों महापुरुषों को नमन किया।

इस अवसर पर कलेक्ट्रेट सभागार में एक गोष्ठी का आयोजन हुआ, जिसमें रामधुन के गायन के बाद दोनों महापुरुषों के व्यक्तित्व व कृतित्व पर विस्तार से प्रकाश डाला गया। जिलाधिकारी ने कहा कि गांधी व्यक्ति नहीं, बल्कि विचार थे। गांधी जी हमेशा दूसरे की पीड़ा को समझने का प्रयास करते थे। जीवन के हर क्षेत्र से जुड़े लोगों को आज यह आकलन करने की आवश्यकता है कि उस कसौटी पर हम कितना खरे उतर रहे हैं। इस भावना से काम करें तो सबका जीवन सुखद बीतेगा। जय जवान-जय किसान जैसे ऊर्जावान नारे के उद्घोषक शास्त्री जी की बात की जाए तो वह असली कर्मयोगियों में एक थे। उनका कद जितना छोटा था, व्यक्तित्व उतना ही बड़ा। जिलाधिकारी ने आवाह्न किया कि इन दोनों महापुरुषों के बताए रास्ते पर हम चलने का प्रयास करें तो जीवन अवश्य सफल होगा।

इस अवसर पर सीआरओ अनिल अग्निहोत्री, एडीएम राजेश सिंह, सिटी मजिस्ट्रेट प्रदीप कुमार, सेनानी रामविचार पांडेय व साहित्यकार शिवकुमार कौशिकेय ने भी अपने विचार व्यक्त किए। गोष्ठी में समस्त कलेक्ट्रेट कर्मी मौजूद थे।

(बलिया से केके पाठक की रिपोर्ट)