पंचायत चुनाव की खबरें: मतदान के दिन बलिया में रहेगा सार्वजनिक अवकाश

सांकेतिक चित्र

बलिया. जिलाधिकारी अदिति सिंह ने त्रिस्तरीय पंचायत निर्वाचन में मतदान के दिन यानी 26 अप्रैल को सार्वजनिक अवकाश घोषित किया है. नेगोशिएबल इंस्ट्रूमेंट एक्ट के तहत उन्होंने यह निर्णय लिया है.

 

पुलिस ने फ्लैग मार्च किया

 

मनियर, बलिया. चुनाव शांतिपूर्ण कराने एवं आम मतदाताओं में सुरक्षा  को लेकर भय समाप्त करने के उद्देश्य से मनियर पुलिस ने थाना क्षेत्र के करीब एक दर्जन गांवों में फ्लैग मार्च किया. पुलिस मनियर थाना क्षेत्र के निपनिया, बहादुरा ,बड़सरी जागीर, पनीचा , सरवार ककरघट्टी, छितौनी, देवरार, विशुनपुरा, घाटमपुर, रिगवन, ककरघट्टाखास सहित आदि ग्राम पंचायतों में फ्लैग मार्च किया.

 

 

चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन में सैकड़ों पर कार्रवाई

 

पंचायत चुनाव में चुनाव आचार संहिता का पालन नहीं करने वालों पर पुलिस लगातार शिकंजा कस रही है. मनियर पुलिस ने आचार संहिता के उलंघन करने वाले दो ग्राम पंचायत बहदूरा व चन्दायर में प्रत्याशियों व समर्थकों के खिलाफ आचार संहिता के उलंघन का मुक़दमा दर्ज किया है.

ग्राम पंचायत चन्दायर में पूर्व प्रधान ऊषा देवी व उनके पति संतोष कुमार, जितेन्द्र वर्मा, चिन्ता देवी व गुंजा देवी सहित अन्य 50 लोगों पर तथा ग्राम पंचायत बहदुरा में वीरेन्द्र पासवान, सरिता देवी, सुरेश, मनोज, उमाकांत, अर्जुन सहित अन्य 50 लोगों पर चुनाव आचार संहिता का उलंघन की धारा में मुकदमा दर्ज किया गया है. पुलिस का कहना है कि ये लोग बिना अनुमति के जुलूस व हुजूम लेकर अपने समर्थकों के साथ नारेबाजी व भीड़ एकत्रित करते पाए गए .

 

नगरा क्षेत्र में भी आचार संहिता उल्लंघन पर कार्रवाई

 

नगरा,बलिया. पंचायत चुनाव में प्रत्याशियों द्वारा आचार संहिता के उल्लंघन पर भीमपुरा पुलिस ने बुधवार को निवर्तमान प्रधान, दो जिला पंचायत सदस्य, एक प्रधान व एक बीडीसी प्रत्यासी सहित  26 नामजद व 30 अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर दिया है. मामले में जिला पंचायत प्रत्याशी बिना पास के वाहन से प्रचार कर रहे थे तो महिला प्रधान प्रत्याशी के पुत्र ने समर्थकों संग जुलूस निकाला था. वहीं एक प्रधान व बीडीसी प्रत्याशियों ने सरकारी स्कूल को पोस्टरों से भर दिया था. एक दिन में पुलिस द्वारा इतने लोगों के खिलाफ मुकदमा लिखे जाने से प्रत्यशियों में हड़कम्प मच गया है.

क्षेत्र के बाराडीह गांव में महिला प्रधान प्रत्यासी के पुत्र मिथिलेश, निवर्तमान प्रधान मैनेजर राम ने अपने लगभग 30 समर्थकों संग गांव में जुलूस निकालकर प्रचार कर रहा था. उसी दौरान पंचायत चुनाव संबंधी निरीक्षण करने गयी पुलिस को देखकर जुलूस में शामिल सभी लोग गांव की गलियों से भाग खड़े हुए हुए. पुलिस ने महिला प्रत्याशी के पुत्र व निवर्तमान प्रधान मैनेजर राम सहित 12 ज्ञात व 20 अज्ञात के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कर लिया. उसी शाम निरीक्षण के दौरान नेवादा गांव के पास वार्ड नम्बर 30 की जिला पंचायत सदस्य प्रत्याशी कसौन्डर निवासी मीरा देवी के समर्थक शिवनारायण व मनीष कुमार निवासी कसौन्डर आठ दस लोगों के साथएक जीप में पोस्टर लेकर प्रचार लर रहे थे. पुलिस ने जीप के सीसे पर पास न चिपका होने पर लोगों से पूछताछ करने लगी तो सभी भाग खड़े हुए हुए. पुलिस ने जीप को थाने लाकर सीज कर दिया साथ मीरा देवी सहित तीन नामजद व दस अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर दिया.

पुलिस की एक टीम ने कीडीहरापुर चट्टी पर पोस्टर लगी बोलेरो गाड़ी को चेक किया तो उसमें 9 लोग बैठे थे और बिना वाहन पास के जिला पंचायत सदस्य प्रत्याशी मानवेन्द्र भारती डिम्पल के पोस्टर लगे हुए थे. बोलेरो में बैठे लोगों से जब पास के बाबत पूछताछ हुई तो लोग एक दूसरे का मुह झांकने लगे. पुलिस ने बोलेरो को कब्जे में लेते हुए सीज कर दिया साथ ही मानवेन्द्र भारती सहित नौ लोगों पर नामजद मुकदमा दर्ज कर दिया.

लोहटा पचदौरा गांव में प्रशासन की मनाही के बाद भी सरकारी स्कूल की दीवार पर प्रधान प्रत्याशी यशवंत सिंह की पत्नी और बीडीसी प्रत्याशी अनिल यादव का पोस्टर लगाया गया था. पुलिस ने पोस्टर को उखाड़ने के बाद दोनों प्रत्याशियों पर भी मुकदमा दर्ज कर दिया. सभी पर धारा 188, 269, 171 -एच, महामारी अधिनियम 3 व आपदा प्रबंधन अधिनियम 51 के तहत मुकदमा पंजीकृत किया गया है. थाना प्रभारी शिवमिलन ने बताया कि सभी लोग चुनाव आचार संहिता व कोविड 19 के आदेशों की अवहेलना करते हुए पकड़े गए जिन पर निषेधात्मक कार्यवाही की गई है.

(बलिया से कृष्णकांत पाठक, बांसडीह से रविशंकर पांडेय और नगरा से संतोष द्विवेदी की रिपोर्ट)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.