उदीयमान सूर्य को अर्घ्य के साथ लोक आस्था का चार दिनी महापर्व डाला छठ संपन्न

Chhath concluded with a four-day festival of folk faith with Arghya offered to the rising sun.
उदीयमान सूर्य को अर्घ्य के साथ लोक आस्था का चार दिनी महापर्व डाला छठ संपन्न
प्रसाद वितरण कर किया पारण

 

Chhath concluded with a four-day festival of folk faith with Arghya offered to the rising sun.

बलिया. उदीयमान सूर्य को अर्घ्य के साथ सोमवार को लोक आस्था का चार दिनी महापर्व डाला छठ संपन्न हुआ.

Chhath concluded with a four-day festival of folk faith with Arghya offered to the rising sun.

 

उदित होते ही भगवान भास्कर को नदी, तालाब, सरोवर के पानी में लाखों व्रती महिलाओं ने अर्ध्य देकर पुत्र के दीर्घायु व परिवार के मंगल की कामना की.

Chhath concluded with a four-day festival of folk faith with Arghya offered to the rising sun.

नगर से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों के विभिन्न घाटों पर सूर्य को अर्घ्य देने के बाद व्रती महिलाओं ने घाट और घर पर बड़ों के पैर छूकर आशीर्वाद प्राप्त किया. इसके बाद प्रसाद वितरण कर व्रत का पारण किया.

Chhath concluded with a four-day festival of folk faith with Arghya offered to the rising sun.

कार्तिक मास में सूर्य षष्ठी व्रत पर्व को लेकर नगर से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों में काफी उत्साह दिखा.

Chhath concluded with a four-day festival of folk faith with Arghya offered to the rising sun.

रविवार की शाम अस्ताचलगामी सूर्य को अर्घ्य देकर व्रती महिलाओं ने सोमवार की भोर में स्नान के बाद नदी, तालाब व सरोवर पर पारंपरिक गीत ‘कांच ही बांस के बहंगिया, बहंगी लचकत जाय…’गीत गाती हुई विभिन्न टोलियों में घाटों पर पहुंची.

Chhath concluded with a four-day festival of folk faith with Arghya offered to the rising sun.

This item is sponsored by Maa Gayatri Enterprises, Bairia : 99350 81969, 9918514777

यहां विज्ञापन देने के लिए फॉर्म भर कर SUBMIT करें. हम आप से संपर्क कर लेंगे.

जहां भगवान भास्कर का पूजन-अर्चन किया. तत्पश्चात उदीयमान सूर्य को अर्घ्य देकर परिवार के सुख-समृद्धि की कामना की.

Chhath concluded with a four-day festival of folk faith with Arghya offered to the rising sun.

 

इस दौरान कुछ व्रती महिलाएं पानी में घंटों खड़ी रहीं तो कुछ मन्नत पूरी होने पर घर से घाट तक लेट-लेट कर पहुंची.

 

Chhath concluded with a four-day festival of folk faith with Arghya offered to the rising sun.

 

  • बलिया से केके पाठक की रिपोर्ट

अब बलिया की ब्रेकिंग न्यूज और बाकी सभी अपडेट के लिए बलिया लाइव का Whatsapp चैनल FOLLOW/JOIN करें – नीचे दिये गये लिंक को आप टैप/क्लिक कर सकते हैं.
https://whatsapp.com/channel/0029VaADFuSGZNCt0RJ9VN2v

आप QR कोड स्कैन करके भी बलिया लाइव का Whatsapp चैनल FOLLOW/JOIN कर सकते हैं.

ballia live whatsapp channel

Breaking News और बलिया की तमाम खबरों के लिए आप सीधे हमारी वेबसाइट विजिट कर सकते हैं.

Website: https://ballialive.in/
Facebook: https://www.facebook.com/BalliaLIVE
X (Twitter): https://twitter.com/ballialive_
Instagram: https://www.instagram.com/ballialive/

Click Here To Open/Close