शतचंडी महायज्ञ का शुभारंभ

बैरिया, बलिया. पांच दिवसीय प्रतिष्ठात्मक शतचण्डी महायज्ञ ग्राम कर्णछपरा (शिवमंदिर)का शुभारम्भ सोमवार को जलयात्रा से होगा प्रारंभ. जल यात्रा जुलूस को संत श्रीरोमणि श्री हरिहरानंद जी प्रातः 8 बजे करेगें रवाना. जलयात्रा में हजारों श्रद्धालु लेंगे भाग.
प्राप्त समाचार के अनुसार कर्णछपरा (उतर टोला शिवमंदिर) पर माँ दुर्गा जी की भव्य प्रतिमा की प्राणप्रतिष्ठा के अवसर पर संत श्रीरोमणि श्री हरिहरानंद के निर्देशन में पांच दिवसीय प्रतिष्ठात्मक शतचण्डी महायज्ञ का आयोजन किया गया है. महायज्ञ की जलयात्रा 6 फरवरी दिन सोमवार को प्रातः 8 बजे से मांझी घाट के लिये प्रस्थान करेगा तथा पञ्चाङ्ग पूजन का आयोजन होगा. मंगलवार को मण्डप प्रवेश, वेदी पूजन, पाठ प्रारंभ व कर्मकुंटी और जलाधिवास, वुधवार को अन्नादिवास व अरणी मंथन, बृहस्पतिवार को महास्नान, नगर परिक्रमा तथा शय्याधिवास होगा.  शुक्रवार को श्री दुर्गा जी के मूर्ति की प्राणप्रतिष्ठा व महायज्ञ की पूर्णाहुति सम्पन्न होगा. इस अवसर पर शुक्रवार को महायज्ञ की प्रसाद ग्रहण हेतु विशाल भंडारा का भी आयोजन किया गया है.

इस महायज्ञ में दर्जनों विद्वान पंडित व आचार्यों द्वारा मुख्य यजमान सहित कुल 24 यजमानों से सम्पूर्ण वैदिक मंत्रों द्वारा पूजा सम्पन्न कराई जायेगी. पूरे महायज्ञ के दौरान सन्त शिरोमणि श्री हरिहरानंद जी भी अपराह्न 2 बजे से 4 बजे तक दर्शनार्थ उपलब्ध रहेगें तथा श्री दुर्गा जी के मूर्ति केवल प्राणप्रतिष्ठा उन्ही के करकमलों द्वारा संपन्न होगा. महायज्ञ में 7 से 9 फरवरी तक मानस मर्मज्ञ एवं प्रखर वक्तागण को भी अपने साधना सिंह द्वारा शाम 6 बजे से रात्रि 9 बजे तक आध्यत्मिक प्रवचन किया जायेगा .
बैरिया से शशि सिंह की रिपोर्ट