कोर्ट के स्थगन आदेश के बावजूद बुलडोजर से दो दुकानों को किया जमींदोज

रसड़ा(बलिया). नगर के प्राइवेट बस स्टाप स्थित गुलाबचंद का हाता स्थित फर्नीचर की दो दुकानों को कोर्ट के स्थगन आदेश के बावजूद मंगलवार की देर रात्रि भू माफियाओं ने बुलडोजर से ध्वस्त कर दिया. सूचना पर पीड़ित दुकानदार दुकान पर पहुंचे तो अपने दुकान को मलबे में देख सन्न हो गए. दुकान टूटने से लाखो रुपयो का समान एवम मशीनरी समान भी टूट गए. पीड़ित दुकानदारो ने पुलिस सहित पुलिस अधीक्षक एवम मुख्यमंत्री के यहां शिकायती पत्र भेजकर न्याय की गुहार लगाई है.

दुकान के कुछ ही दूरी पर उत्तरी चौकी एवम कोतवाली है. क्षेत्र के मुंडेरा गांव निवासी अशोक शर्मा व संजय शर्मा की गुलाबचंद के हाते मे अपने परिजनों के समय लगभग 60 वर्षों से फर्नीचर की दुकान चलाते है. जिसके मकान मालिक मुरारी लाल अग्रवाल थे. वर्तमान में उनके पुत्र सुरेंदर, अनिल, राजेंद्र है. जिन्हें समय से किराया भी अदा किया जा रहा था. 2021 से बगल के रितेश जायसवाल पुत्र संभू जायसवाल द्वारा बार-बार दुकान को खाली करने को बोला जा रहा था जिसे लेकर पीड़ित दुकानदारों ने न्यायालय कोर्ट मे दीवानी दायर किया जिस पर कोर्ट ने स्थगन आदेश भी दे रखा था.

दुकानदारों ने आरोप लगाया की अनिल सुरेंद्र राजेंदर पुत्र गण मुरारीलाल, अनमोल पुत्र सुरेंद्र एवम रिखी लाल पुत्र पारसनाथ, गणेश पुत्र रिखी लाल रितेश जायसवाल, राजेश जायसवाल, दिनेश उर्फ भोला पुत्र गण संभू जायसवाल, मंगल लोहार पुत्र छांगुर लोहार निवासी गढ़िया बराबर दुकान को खाली करने के लिए धमकाया जा रहा था. कड़ाके की ठंड के कारण हम लोग दुकान बंद कर घर चले गए और रात में इन लोगों ने जेसीबी की मदद से पूरी दुकान को ध्वस्त कर दिया गया जिसमें लाखों की मशीनें फर्नीचर आदि सब तहस-नहस हो. नगर में इस घटना पर अफवाहों का बाजार गरम रहा.
रसड़ा से संतोष सिंह की रिपोर्ट