कोरोना की वजह से सादगी से मनाई गई पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर की जयंती

This item is sponsored by Maa Gayatri Enterprises, Bairia : 99350 81969, 9918514777

यहां विज्ञापन देने के लिए फॉर्म भर कर SUBMIT करें. हम आप से संपर्क कर लेंगे.

बलिया. कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों की वजह से पूर्व प्रधानमंत्री स्व. चंद्रशेखर की जयंती उनके चाहने वालों ने सादगी से एवं अपने-अपने आवास पर ही मनाई. इसी क्रम में चंद्रशेखर के राजनीतिक शिष्य और उत्तर प्रदेश विधान सभा में विपक्ष के नेता रामगोविन्द चौधरी ने अपने जगदीशपुर स्थित आवास पर पूर्वप्रधानमंत्री की तस्वीर के सामने पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी.

रामगोविंद चौधरी ने कहा कि आज 17 अप्रैल को हम लोग एक ऐसे राजनेता (पूर्व प्रधानमंत्री चन्द्रशेखर) की जयंती मना रहे हैं, जिसने जीवन पर्यन्त जो कहा उस पर अडिग रहा लेकिन इस देश का दुर्भाग्य देखिए कि आज के दौर के नेता रोज अपनी बात बदलने में माहिर हैं. झूठ बोलने में माहिर हैं. चंद्रशेखर जी कहते थे मैं चुनाव हार जाऊंगा वह मंजूर है लेकिन झूठ नहीं बोलूंगा. अपनी नीतियों से समझौता नहीं करूंगा. वहीं, एक आज का दौर है. चुनाव में सफलता के लिए किसी भी स्तर तक गिरने के लिए नेता तैयार हैं. ऐसे समय में जब सत्ता की खातिर नीतियों और सिद्धांतों की बलि दी जा रही है, लोकतांत्रिक परंपराओं पर बेड़ियां डाली जा रही, संवादहीनता बढ़ती जा रही है तब अपने चंद्रशेखर जी की याद सबसे अधिक आती है.

रामगोविंद चौधरी ने कहा कि आज उनकी जयन्ती पर बलिया की समस्त जनता की तरफ से तथा समाजवादी पार्टी के समस्त कार्यकर्ताओ के तरफ से अपने नेता को श्रद्धा के पुष्प अर्पित करता हूं.

 

छात्र सहायता समिति बलिया किया पौधारोपण

 

 

पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय चंद्रशेखर के 94वें जन्मदिवस पर कोरोना जैसी महामारी को ध्यान में रखते हुए छात्र सहायता समिति द्वारा उनका जन्म दिवस चंद्रशेखर उद्यान में बहुत ही सादगी पूर्वक मनाया गया. छात्र सहायता समिति ने पौधारोपण कर अपने नेता को याद किया. इस अवसर पर मुख्य रूप से संस्था के अध्यक्ष सर्वदमन जायसवाल, संतोष सिंह, प्रहलाद खरवार, सुनील पांडे अधिवक्ता, सुनील कुमार चौबे अधिवक्ता आदि लोग मौजूद रहे.

(बलिया से रविशंकर पांडेय के साथ कृष्णकांत पाठक की रिपोर्ट)