जिला जेल का निरीक्षण, जलजमाव के स्थायी समाधान पर चर्चा

बलिया। जिलाधिकारी श्रीहरि प्रताप शाही व पुलिस अधीक्षक देवेंद्र नाथ ने सोमवार को जिला जेल का निरीक्षण किया. किचन से लेकर सभी बैरक व पूरे परिसर में भ्रमण किया. इस दौरान कोई खास कमी नहीं मिली.

दोनों अधिकारियों ने बारिश का पानी निकलने के बाद दवाओं का छिड़काव व साफ—सफाई पर विशेष जोर देने का निर्देश दिया. साथ ही जेल परिसर में जलजमाव के स्थायी समाधान कराने पर भी चर्चा की.

डीएम—एसपी जेल में जाते ही सबसे पहले किचन में गए और वहां हर हाल में सफाई रखने के निर्देश दिए. कहा, कोरोना को देखते हुए खाना बनाने में और ज्यादा सतर्कता बरती जाए. इसके बाद बारी—बारी से सभी बैरकों में गए. कैदियों से बातचीत कर आश्वस्त हुए कि किसी को कोई दिक्कत तो नहीं. तन्हाई बैरक को देखने के बाद पूरे ​जेल परिसर में भ्रमण कर जल निकासी के बाद की स्थिति देखी. बाहर निकलने के बाद जेल कालोनी में भी घूमकर सफाई आदि का जायजा लिया.

जिलाधिकारी ने जेल अधीक्षक व जेलर को निर्देश दिया कि नगरपालिका के अ​धिकारी से समन्वय बनाकर तथा पत्र के माध्यम से अवगत कराकर जेल परिसर में समय—समय पर छिड़काव कराते रहें. उन्होंने ​परिसर में होने वाली खेती बारी के बारे में भी जानकारी ली. जलजमाव के स्थायी समाधान को लेकर जिलाधिकारी श्री शाही ने कहा कि ऐसा सिस्टम विकसित किया जाए, जिससे जेल के पानी के निकास के लिए किसी के भरोसे नहीं रहना पड़े. इसके लिए वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम के बारे में भी चर्चा की गई. इस दौरान जेल अधीक्षक प्रशांत मौर्य सहित अन्य जेल स्टॉफ मौजूद थे.