मंजुल ठाकुर बेस्ट डायरेक्टर, ‘मेहंदी लगा कर रखना’ बेस्ट भोजपुरी फ़िल्म

मंजुल ठाकुर बेस्ट डायरेक्टर, ‘मेहंदी लगा कर रखना’ बेस्ट भोजपुरी फ़िल्म

भोजपुरी फ़िल्म जगत की सबसे प्रतिष्ठित सबरंग भोजपुरी फ़िल्म अवार्ड 2018 मुंबई में सम्पन्न हुआ. भारी भीड़ और भव्यता लिए रंगारंग कार्यक्रम के बीच मेगा स्टार रवि किशन को बेस्ट ऐक्टर का क्रिटिक अवार्ड तो खेसारी लाल यादव को बेस्ट…

Read More
नवरात्र स्पेशलः जानिए दशरथ नंदन लक्ष्मण और सोनाडीह की भगवती का क्या है बलिया कनेक्शन

नवरात्र स्पेशलः जानिए दशरथ नंदन लक्ष्मण और सोनाडीह की भगवती का क्या है बलिया कनेक्शन

सोनाडीह की भगवती ने किया था महाहनु का वध. नवरात्रि : जगमगाया मां कष्टहरणी का दरबार, उमड़ी भीड़. मां कष्टहरणी के भक्त लक्ष्मण ने की थी लखनेश्वरडीह की स्थापना. 11000 अखंड दीप जलाए गए मां के दरबार में. वसंत पंचमी…

Read More
Navratri 2018 : आश्विन (शारदीय) महानवरात्र – 10 से 19 अक्तूबर, किस मुहूर्त में करें कलश स्थापना

Navratri 2018 : आश्विन (शारदीय) महानवरात्र – 10 से 19 अक्तूबर, किस मुहूर्त में करें कलश स्थापना

नवरात्र भारतवर्ष में हिंदूओं द्वारा मनाया जाने प्रमुख पर्व है. इस दौरान मां के नौ अलग-अलग रूपों की पूजा की जाती है. वैसे तो एक वर्ष में चैत्र, आषाढ़, आश्विन और माघ के महीनों में कुल मिलाकर चार बार नवरात्र…

Read More
Sarva Pitru Paksha amavasya: जानें कब है सर्वपितृपक्ष अमावस्या

Sarva Pitru Paksha amavasya: जानें कब है सर्वपितृपक्ष अमावस्या

इस बार सोमवार और मंगलवार दोनों दिन सर्व पितृ अमावस्या मनाई जा रही है. यह दिन पितरों को विदाई देने का दिन है. पितृविसर्जन, सर्वपितृ श्राद्ध महालय 8 और 9 अक्टूबर को होगा क्योंकि 8 अक्टूबर दिन सोमवार को दिन…

Read More
बलियाटिक गमक संग देसी का तड़का, हमारी रसोई में बलिया/Ballia LIVE

बलियाटिक गमक संग देसी का तड़का, हमारी रसोई में बलिया/Ballia LIVE

बलिया का नाम जुबान पर आते ही लोगों के जेहन में वहां की बड़की पुड़ी, पुरी, फुटेहरी (भउरी-चोखा) और सत्तुआ की याद आ जाती है. ज्यादा नहीं, एकाध पीढ़ी पहले जाइए, घरों में तैयार होने वाली विभिन्न मिठाइयां, जो बेटी-पतोह…

Read More
बलिया लाइव की आज (31 अगस्त 2018) की सबसे ज्यादा पढ़ी गईं खबरें 

बलिया लाइव की आज (31 अगस्त 2018) की सबसे ज्यादा पढ़ी गईं खबरें 

बलिया लाइव की आज (31 अगस्त 2018) की सबसे ज्यादा पढ़ी गई खबरें और लेटेस्ट खबरें 

Read More
कुलदीप नैयरः चंद्रशेखर कहां गच्चा खा गए और वीपी सिंह बाजी मार ले गए

कुलदीप नैयरः चंद्रशेखर कहां गच्चा खा गए और वीपी सिंह बाजी मार ले गए

कुलदीप नैयर भारतीय उपमहाद्वीप की पत्रकारिता के शिखर पुरुष थे. उन्हें भरोसा था कि एक न एक दिन दक्षिण एशियाई देश अपनी अलग अलग पहचान को बरकरार रखते हुए यूरोपीय संघ की तर्ज पर साझा संघ बनाएंगे.

Read More
आत्मीय और जीवंत कथाकार थे अमरकांत

आत्मीय और जीवंत कथाकार थे अमरकांत

अमरकांत अत्यंत आत्मीय कथाकार, उपन्यासकार थे. उतने ही सहज और पारदर्शी. उनकी रचनाएं दिल को छू कर देर तक दिमाग पर छाई रहती हैं. अमरकांत की अनुपस्थिति से रिक्तता का बोध होना स्वाभाविक है. वे प्रेमचंद की परंपरा के कथाकार…

Read More
फेसबुक के कोठार से – केदार जी स्मृतियों में गूंजते रहेंगे – अपनी कविताओं की तरह

फेसबुक के कोठार से – केदार जी स्मृतियों में गूंजते रहेंगे – अपनी कविताओं की तरह

केदारजी ने मेरे पिताजी की डायरी ‘जग दर्शन का मेला’ की भूमिका लिखी थी. किताब विश्व पुस्तक मेले में जारी हुई. तब केदारजी कोलकाता में अस्पताल में थे. दिल्ली आकर फिर एम्स.

Read More
केदारनाथ सिंह नहीं रहे, घड़ी भर को मानो हिंदी ने साँस रोक ली

केदारनाथ सिंह नहीं रहे, घड़ी भर को मानो हिंदी ने साँस रोक ली

हिंदी कविता में नए बिंबों के प्रयोग के लिए जाने जाने वाले वरिष्ठ शब्द शिल्पी केदरानाथ सिंह का सोमवार को दिल्ली में निधन हो गया. वह पिछले कुछ समय से अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्थान (एम्स) में भर्ती थे.

Read More
error: Content is protected !!