बलिया में 46 नए कोरोना पॉजिटिव केस मिले, कमिश्नर ने की कोविड-19 की समीक्षा

कमिश्नर बोले, कोरोना से संबंधित जो गलत सूचना देता है तो उसकी भी चेकिंग की जाए

बलिया। इंटीग्रेटेड कोविड कमांड कंट्रोल सेंटर से जारी रिपोर्ट के अनुसार शुक्रवार को जिले में 46 नए कोरोना पॉजिटिव केस मिले.

इसमें हनुमानगंज ब्लाक के परिखरा में चार, जीरा बस्ती में एक, बहादुरपुर में तीन, पूर्वांचल बैंक मनियर में एक, सिविल लाइन एक, प्रधान डाकघर में एक, सतनी सराय में एक, बजाज इलेक्ट्रानिक में एक, पंदह ब्लाक के खड़सरा में एक, सिकन्दरपुर (मैनापुर) में एक, दादर पोस्ट चड़वां-बरवां में एक, चड़वां में एक, कदम चौराहा एक, मिड्ढ़ी एक, बांसडीह के बड़ी बाजार में एक, परसिया विशौली में एक, उत्तर टोला में पांच, बांसडीह में एक, मिश्रौवली छाता में एक, सोहांव के बसुदेवा में तीन, महरेंव में एक, सीएचसी दुबहर में एक, सहतवार वार्ड नम्बर पांच में एक, मुरलीछपरा के रामपुर उपरवार में एक, रेवती के हड़िहाकलां में एक, गड़वार के अरईपुर में तीन, बेलहरी के मझौवां में एक व विकास खंड बिल्थरारोड में एक केस है

उधर, 46 मरीज स्वस्थ होकर अपने घर भी लौट गए. इस तरह अब तक कोरोना संक्रमण के शिकार 787 मरीज स्वस्थ हुए हैं. अब तक कुल 1694 लोग कोरोना संक्रमण के शिकार हुए हैं. इनमें से 16 की मौत हुई है. अभी एक्टिव केस की संख्या 891 है. अब तक 23,392 लोगों के सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं, इसमें 20,328 की रिपोर्ट आ चुकी है. वहीं 2064 की रिपोर्ट आनी बाकी है.

जनपद में कोरोना संक्रमण के शिकार 891 मरीजों में से 433 मरीज होम आइसोलेशन हैं. जनपदीय अस्पताल में 51 मरीजों का उपचार चल रहा है. जेल आइसोलेशन में 218 मरीज हैं. बलिया के 22 मरीजों का उपचार अन्य जनपदों में हो रहा है. वहीं पोर्टल पर प्रक्रियागत 167 मरीज हैं. कोरोना मरीजों के लिए जनपद में 555 बेड रखे गए हैं, इनमें अभी 504 बेड खाली हैं. सीएचसी बसंतपुर में 37 मरीजों को रखा गया है, वहीं 14 मरीजों का उपचार शहीद मंगल पांडेय महिला महाविद्यालय नगवा में चल रहा है.

कमिश्नर ने की कोविड-19 की समीक्षा, कहा – प्रतिदिन की जाए कम से कम एक हजार व्यक्तियों की सैम्पलिंग

इसी क्रम में कमिश्नर विजय विश्वास पंत ने शुक्रवार को विकास भवन सभागार में अधिकारियों के साथ कोविड-19 के संबंध में चर्चा की. उन्होंने निर्देश दिया कि भर्ती मरीजों का नियमित चेकअप करते हुए प्रतिदिन खांसी, जुखाम, बुखार के लक्षणों को चेक किया जाए. सीएमओ को निर्देश दिया कि प्रतिदिन कम से कम एक हजार व्यक्तियों की सैम्पलिंग की जाए.

उन्होंने कहा कि सभी हॉस्पिटल को नोटिस जारी कर जो प्रोटोकॉल है, उसका हर हाल में अनुपालन सुनिश्चित कराया जाए. एसडीएम अन्नपूर्णा गर्ग से कहा कि सर्वे का कार्य का पर्यवेक्षण के लिए पांच अधिकारियों को लगाएं. यह कार्य तेजी से और गुणवत्तापूर्ण होना चाहिए. सीएमओ को निर्देश दिया कि जिन सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में किट उपलब्ध नहीं है, तो तत्काल किट भिजवाया जाए. कोरोना से संबंधित जो गलत सूचना देता है तो उसकी भी चेकिंग किया जाए. नगर पंचायत के क्षेत्रों में साफ सफाई की व्यवस्था का बेहतर इंतजाम कराने पर विशेष जोर दिया. 

कमिश्नर ने विकास भवन सभागार में बने इंटीग्रेटेड कमांड सेंटर को देखा. वहाँ कार्य कर रहे अधिकारियों व कंप्यूटर ऑपरेटरों से कार्य की प्रगति के बारे में जानकारी ली. डीएम श्रीहरि प्रताप शाही, संयुक्त मजिस्ट्रेट विपिन जैन समेत अन्य अधिकारी साथ थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.