सरयू नदी में कटान को लेकर हिंद पूर्वांचल किसान यूनियन ने दिया धरना

Protest given by Hand Purvanchal Kisan Union regarding erosion in Saryu River
This item is sponsored by Maa Gayatri Enterprises, Bairia : 99350 81969, 9918514777

यहां विज्ञापन देने के लिए फॉर्म भर कर SUBMIT करें. हम आप से संपर्क कर लेंगे.

सरयू नदी में कटान को लेकर हिंद पूर्वांचल किसान यूनियन ने दिया धरना
बोले केसीसी पर लिए गए ऋण को सरकार करें माफ
जमीन का मुआवजा देने की मांग

बांसडीह, बलिया. क्षेत्र के सुल्तानपुर गांव में रविवार को हिंद पूर्वाचल किसान यूनियन की ओर से किसान सभा का आयोजन किया गया. किसान सभा में सरयू नदी से हो रहे कटान के कारण किसानों की परेशानियां को लेकर विस्तृत रूप से चर्चा की गई.
सभा में किसानों ने भी अपनी-अपनी समस्याओं को रखा.

यूनियन के उपाध्यक्ष अंजनी सिंह ने कहा कि सरयू नदी के कटान से सैंकड़ों एकड़ खेती की उपजाऊ भूमि नदी में समाहित हो गई है. ककड़घटटा, खादीपुर, सुल्तानपुर, टिकुलिया दियर, भोजपुरवा, रेंगहा, रामपुर नम्बरी आदि गांवों के किसानों का खेत नदी में विलीन हो गया है. यदि कटान रोकने की तत्काल व्यवस्था नहीं की गई तो गांवों का अस्तित्व भी समाप्त हो जायेगा. गांव के लोगों के सामने विकट स्थिति उत्पन्न हो जाएगी. हालात यह हैं कि कटान लगातार हो रहा है जिससे भुखमरी की स्थिति उत्पन्न हो गई है.

 

Protest given by Hand Purvanchal Kisan Union regarding erosion in Saryu River

 

किसान सभा में किसानों ने रिंग बांध व ठोकर बनाकर सरकार से सरयू नदी का कटान रोकने, किसानों के नदी में विलीन खेतों का सकिंल रेट के अनुसार मुआवजा देने, खेतों की केसीसी पर किसानों का ऋण माफ करने, फसल बीमा राशि तुरन्त भुगतान करने तथा कटान में जिसका भी घर विलीन हो गया है उन्हें आवास देने की मांग किया. इस मौके पर अवध बिहारी सिंह,सुधेन्धु सिंह, राजेन्द्र उपाध्याय, खड़ग बहादुर सिंह, प्रवीण सिंह विक्की आदि थे.

  • बांसडीह से रविशंकर पांडेय की रिपोर्ट