यूपी पेट एग्जाम हर हाल में गृह जनपद में कराने की मांग

This item is sponsored by Maa Gayatri Enterprises, Bairia : 99350 81969, 9918514777

यहां विज्ञापन देने के लिए फॉर्म भर कर SUBMIT करें. हम आप से संपर्क कर लेंगे.

बलिया. यूपी पेट एग्जाम हर हाल में गृह जनपद में ही कराये जाने व उसकी मान्यता अवधि कम से कम पांच वर्ष तक बढ़ाये जाने की मांग को लेकर इंडियन पीपुल्स सर्विसेज(आईपीएस) ने 18 अक्टूबर 2022 बलिया ने जिलाधिकारी कार्यालय पर संवैधानिक लोकतांत्रिक तरीके से शान्तिपूर्ण प्रदर्शन कर महामहिम राज्यपाल व मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन जिलाधिकारी के माध्यम से प्रेषित किया।

 

इस दौरान इंडियन पीपुल्स सर्विसेज (आईपीएस) के संस्थापक राष्ट्रीय अध्यक्ष अरविन्द गोंडवाना ने कहा कि राष्ट्रहित में शिक्षित बेरोजगार नौजवानों की युवा शक्ति, श्रम ऊर्जा-श्रम शक्ति का सदुपयोग किया जाना चाहिए। रोजगार है हम सब का जन्म सिद्ध अधिकार। रोजगार की गारंटी को मौलिक अधिकार घोषित किया जाना चाहिए। इसके लिए देश के समस्त बेरोजगार नौजवानों को संगठित होकर राष्ट्रव्यापी संगठित जनांदोलन छेड़ने की आवश्यकता है। लाखों-लाख बेरोजगार नौजवानों द्वारा इस बार 2022 की पेट परीक्षा हेतु आवेदन करना इस बात का सबूत है कि देश-प्रदेश में बेरोजगारी चरम सीमा पर है।

(बलिया से केके पाठक की रिपोर्ट)