सभी बुराइयों की जड़ है नशा- अन्नू त्यागी

  • दीमक के समान है नशाः डा. सुनील कुमार
  • विद्यार्थियों को नशा मुक्ति की शपथ दिलाई गई

जौनपुर, बलिया. वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय के संकाय भवन में राज्य में नशा मुक्ति अभियान को क्रियान्वित किए जाने के तहत बुधवार को बीएएलएलबी के विद्यार्थियों को नशा नहीं करने की शपथ दिलाई गई.

 

इस अवसर पर विश्वविद्यालय परिसर की नोडल अधिकारी और मनोविज्ञान विभाग की असिस्टेंट प्रोफेसर अन्नू त्यागी ने नशे को सभी बुराइयों की जड़ बताया. कहा कि इससे व्यक्ति हीं नहीं उसका पूरा परिवार प्रभावित होता है. नशा किसी भी प्रकार का हो वह नशा अपने परिवार को अपने पड़ोस को अपने समाज को खत्म करने की ओर ले जाता है, इसलिए हमें समाज में इस जागरूकता अभियान को मजबूती के साथ चलाना है.

 

जनसंचार विभाग के असिस्टेंट प्रोफेसर और विश्वविद्यालय के मीडिया प्रभारी डा. सुनील कुमार ने कहा कि नशा उस दीमक की तरह है जो हमारी संस्कृति और सामाजिक ताना-बाना को अंदर-अंदर चाल देती है, इसलिए हमारे विद्यार्थियों की जिम्मेदारी बनती है कि वह अपने परिवार के साथ-साथ पास पड़ोस को भी नशा करने से रोकें और उन्हें नशा ने होने वाले रोग और नुकसान के बारे में बताएं.  दतोपंत ठेंगड़ी विधि संस्थान के निदेशक मंगला प्रसाद ने कहा कि नशीले पदार्थों के सेवन करने से विभिन्न प्रकार की बीमारियां जन्म लेती हैं जिससे समाज में लोगों को शारीरिक और आर्थिक रूप से नुकसान उठाना पड़ता है. उन्होंने इसके दुष्प्रभावों पर विस्तार से प्रकाश डाला. विद्यार्थियों को शपक्ष छात्र प्रद्युम्न त्रिपाठी ने दिलाई.

 

इस अवसर पर शिक्षक राजित सोनकर, डा. प्रमोद कुमार, डा. राहुल राय, डा. अंकित कुमार, डा. दिनेश सिंह आदि उपस्थित थे.

(डॉ सुनील कुमार की विशेष रिपोर्ट)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.