एफपीओ से लाभान्वित होंगे बलिया के किसान, जिले में कुल 20 एफपीओ गठित

बलिया. शासन की मंशानुरूप कृषको की आय में बृद्धि किये जाने हेतु कृषको के बीच लगातार योजनाओं का प्रचार प्रसार किया जा रहा है. मुख्य विकास अधिकारी प्रवीण कुमार वर्मा की अध्यक्षता में मंगलवार को विकास भवन सभागार में कृषि उत्पादक संगठन(एफपीओ) के क्रियान्वयन को लेकर जिला स्तरीय अनुश्रवण समिति की बैठक आयोजित की गई.

डीडीएम नाबार्ड ने कहा कि भारत सरकार की एफपीओ नीति के अंतर्गत 2024 तक जनपद के समस्त विकासखंड में एफपीओ स्थापित कराया जाना है. भारत सरकार द्वारा नामित एसएफएसी संस्था द्वारा जनपद में चार एफपीओ का गठन किये जाना है. ये चारो एफपीओ क्रमशः चिलकहर , बांसडीह , नवानगर और रेवती विकास खण्ड में स्थापित किये जायेंगे. जिसका अनुमोदन समिति द्वारा किया गया. पूर्व के वर्षों में नाबार्ड के माध्यम से बायो एनर्जी बोर्ड के तहत पांच एफ़पीओ एवं पूर्वांचल ग्रामीण सेवा समिति के माध्यम से दो एफ पी ओ अर्थात कुल सात एफ पी ओ गठित किए गए हैं , इसके अलावा 13 कृषको द्वारा सीधे कंपनी से संपर्क कर एफ़पीओ का गठन कराया गया हैं. इस प्रकार से अब तक जनपद में कुल 20 एफपीओ गठित किए गए हैं। एफ़पीओ गठन हेतु कृषको के आधार कार्ड, बैंक पासबुक, पैन कार्ड, खतौनी एवं फोटो के साथ सीए के माध्यम कंपनी से सम्पर्क कर पंजीकरण कराया जा सकता है और पंजीकरण के उपरांत कृषि विभाग से सत्यापन कराकर योजनाओं से लाभान्वित हुआ जा सकता है.

बैठक में मुख्य विकास अधिकारी द्वारा निर्देशित किया गया कि कृषको के बीच एफपीओ के गठन और उससे होने वाले लाभ के बारे में व्यापक प्रचार किया जाय और जनपद में अधिक से अधिक एफपीओ का गठन कराकर इनको शासन की योजनाओं से लिंक किया जाय. जिससे कृषको की आय में आशातीत बृद्धि हो. बैठक में उप कृषि निदेशक इन्द्राज, जिला कृषि अधिकारी, अग्रणी जिला प्रबंधक बैंक, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी और डीडीएम नाबार्ड द्वारा प्रतिभाग किया गया.

 

(बलिया से कृष्णकांत पाठक की रिपोर्ट)

Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.