नव व्यक्तिभारत मेला के दूसरे दिन का शुभारंभ भाजपा नेता मुकेश पांडेय और विहिप जिला सह मंत्री संजीव दुबे ने किया

This item is sponsored by Maa Gayatri Enterprises, Bairia : 99350 81969, 9918514777

यहां विज्ञापन देने के लिए फॉर्म भर कर SUBMIT करें. हम आप से संपर्क कर लेंगे.

रेवती, बलिया. स्थानीय गोपाल जी स्नातकोत्तर महाविद्यालय प्रांगण में चल रहे तीन दिवसीय नव व्यक्तिभारत मेला के दूसरे दिन का शुभारंभ मुख्य अतिथि भाजपा नेता मुकेश पांडेय एवं विशिष्ट अतिथि विहिप जिला सह मंत्री संजीव दुबे बबलू द्वारा फीता काटकर किया गया.

इस अवसर पर सभा को संबोधित करते हुए मुकेश पांडेय ने कहा कि नवभारत के निर्माता मोदी जी के जन्मदिन के उपलक्ष्य पर युवा मोर्चा द्वारा हो रहे नवभारत मेला का आयोजन में भारत के ऐतिहासिक संस्कृति व लोककला के प्रदर्शनी से हमारे अंदर सनातनी संस्कार का प्रवाह हुआ है. जो अपने आप मे मील का पत्थर साबित होगा.

विशिष्ट अतिथि श्री दुबे ने कहा कि मोदी जी नए भारत के निश्चित रूप से शिल्पकार हैं. जिन्होंने भारत के कलंक धारा 370 को समाप्त कर देश की राजनीति को एक अलग आयाम दिया. इस अवसर पर गोपाल जी महाविद्यालय के प्रवक्ता विकाश सिंह, अमित सिंह,प्रियंका गुप्ता,दिग्विजय शर्मा, राहुल चौहान सहित अन्य लोग मौजूद रहे. आये हुए अतिथियों आभार कार्यक्रम के संयोजक व संचालक भाजयुमो के जिला महामंत्री व प्रधान अर्जुन चौहान ने प्रकट किया.

 

देवपुर रेगुलेटर के दो अन्य फाटकों को खोला

रेवती. टीएस बंधा पर स्थित देवपुर रेगुलेटर के दो अन्य फाटकों को बाढ़ विभाग के एई अमृत कुमार की उपस्थिति में मंगलवार को दिन में एक बजे खोल दिया गया. मौके पर उपस्थित समाज सेवी व पूर्व प्रधान मानसिंह छपरा विजय ओझा सहित अन्य ग्रामीणों ने खुशी जताते हुए कहा कि टीएस बंधा के दक्षिणी क्षेत्रों के दर्जन भर से अधिक गांवों के विभिन्न मौजाओं के हजारों एकड़ खेतों में ढाई महीने से से भी अधिक समय से जमे बरसाती पानी तथा देवपुर रेगुलेटर से झर रहे सरयू नदी के पानी से खरीफ की मुख्य फसल धान तथा मक्का पूरी तरह से बर्बाद हो गई हैं.

उक्त रेगुलेटर का एक फाटक इसके पूर्व शुक्रवार को खोला गया था. एई अमृत कुमार ने उस समय ग्रामीणों को आश्वस्त किया था कि नदी की स्थिति अभी घट बढ़ की चल रही है नदी का जलस्तर जैसे ही नीचे जाएगा, अन्य फाटक भी खोल दिए जाएंगे. अब तीन फाटकों के खुल जाने से क्षेत्र के खेतों तथा विभिन्न गांवों के मार्गों पर जमा पानी तेजी से निकलने लगा है. ग्रामीणों का मानना है कि इसी रफ्तार से यदि पानी निकलता रहा तो ढाई से तीन सप्ताह में खेतों तथा गांवों के सड़कों का पानी निकल सकता है.

उक्त अवसर पर बहादुर तिवारी,संजय गोंड़, कृष्णा यादव सहित अन्य लोग उपस्थित रहे.

(रेवती से पुष्पेन्द्र तिवारी की रिपोर्ट)