मालेगांव ब्लास्ट के आरोपी रि.मेजर रमेश उपाध्याय बंगाल से लड़ सकते हैं लोकसभा चुनाव

2008 मालेगांव ब्लास्ट केस में आरोपी रिटायर्ड मेजर रमेश उपाध्याय के 2009 लोकसभा चुनाव लड़ने की खबरें आ रही हैं. प्राप्त जानकारी के अनुसार, पश्चिम बंगाल की जाधवपुर संसदीय सीट से रमेश उपाध्याय को हिंदू महासभा चुनाव मैदान में उतार सकती है.

नई दिल्ली। 2008 मालेगांव ब्लास्ट केस में आरोपी रिटायर्ड मेजर रमेश उपाध्याय के 2019 लोकसभा चुनाव लड़ने की खबरें आ रही हैं. प्राप्त जानकारी के अनुसार, पश्चिम बंगाल की जाधवपुर संसदीय सीट से रमेश उपाध्याय को हिंदू महासभा चुनाव मैदान में उतार सकती है. 29 सितंबर, 2008 को मालेगांव में जो बम धमाके हुए थे उनमें 6 लोगों की जान चली गई थी, जबकि 101 अन्य जख्मी हो गए थे. इसी केस में रमेश उपाध्याय को आरोपी बनाया गया है.

उन्होंने जेल से बाहर आकर किए बड़े खुलासे में यह भी कहा था कि मामले की दूसरी आरोपी साध्वी प्रज्ञा के साथ भी जेल में बुरा बर्ताव होता था. मामले में साजिश का सूत्रधार कर्नल पुरोहित, साधवी प्रज्ञा, राकेश थावड़े और मेजर रमेश उपाध्याय को बताया गया. उन्होंने कहा कि उन्हें हिंदू आतंकवादी तक कहा गया. उनके मकान मालिक को भी कहा गया कि उनके घर में आतंकवादी रह रहे हैं और वह उनसे घर खाली करवा दें.

उपाध्याय जम्मू कश्मीर और पंजाब में आतंक के खिलाफ लंबी लड़ाई लड़ चुके हैं. साथ ही श्रीलंका भेजी गई इंडियन पीस कीपिंग फोर्स का हिस्सा रह चुके हैं. वह कई अवॉर्ड भी जीत चुके हैं. उन्होंने आरोप लगाया कि उन्हें इस केस में इसलिए धकेला गया क्योंकि वह अभिनव भारत संगठन के सदस्य थे.

गौरतलब है कि रमेश उपाध्याय ने बीते साल उत्तर प्रदेश विधानसभा का चुनाव लड़ने के लिए मकोका कोर्ट से अनुमति मांगी थी. जिसे मकोका कोर्ट ने स्वीकार लिया था. रमेश उपाध्याय के उत्तर प्रदेश के बैरिया (बलिया) और मेरठ सदर से चुनाव लड़ने की चर्चाएं थी. हालांकि रमेश उपाध्याय ने सिर्फ बैरिया से ही चुनाव लड़ने की इच्छा जाहिर की थी. मालूम हो कि रमेश उपाध्याय बलिया के ही मूल निवासी हैं. इससे पहले भी वे 2012 में उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव लड़ चुके हैं, हालांकि तब वे हार गए थे.

वहींं, मालेगांव ब्लास्ट मामले में लेफ्टीनेंट कर्नल पुरोहित की एसआईटी से जांच कराने की याचिका पर सुनवाई से सुप्रीम कोर्ट ने इनकार कर दिया. कोर्ट ने मामले में दखल से इनकार करते हुए कहा कि वो इस मामले में ट्रायल कोर्ट जाएं. पुरोहित ने 2008 में मालेगांव में हुए ब्लास्ट मामले में की एसआईटी जांच की मांग को लेकर सुप्रीम कोर्ट में याचिका दी थी, मंगलवार को जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली सुप्रीम कोर्ट की बेंच ने इसे खारिज कर दिया.

2008 Malegaon blast accused retired Major Ramesh Upadhyay to contest 2019 Lok Sabha Election from Jadavpur constituency in West Bengal on Hindu Mahasabha ticket.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.