इलाहाबाद हाईकोर्ट के बाहर से प्रेमी युगल अगवा, पुलिस ने फतेहपुर से छुड़ाया

इलाहाबाद हाई कोर्ट परिसर के बाहर से एक कपल का बंदूक के बल पर अपहरण कर ल‍िया गया. बाद में फतेहपुर में प्रेमी युगल को अपहर्ताओं के चंगुल से मुक्त करवा ल‍िया गया. उधर, भाजपा विधायक की बेटी साक्षी के पति अजितेश संग हाईकोर्ट परिसर में कुछ लोगों ने मारपीट की. 

प्रयागराज। इलाहाबाद हाईकोर्ट में सुरक्षा की गुहार लगाने आए प्रेमी युगल को हाई सिक्युरिटी जोन से दिनदहाड़े अगवा कर लिया गया. हालांकि प्रयागराज में दंपति का अपहरण करने वालों को फतेहपुर से गिरफ्तार कर लिया गया. पुलिस की सक्रियता से युगल को भी उनकी गिरफ्त से छुड़ा लिया गया है. बताया जाता है कि हाईकोर्ट के गेट नंबर 3 ए के सामने से गाड़ी में सवार होकर बदमाश आए और गन प्वांइट पर प्रेमी युगल का अपहरण कर ले गए. वहां मुस्तैद सुरक्षाकर्मी जब तक कुछ समझते तब तक बदमाश गाड़ी सहित फरार हो गए. इस घटना के बाद से पुलिस प्रसासन सकते में आ गया. आनन फानन में शहर में कई जगहों पर नाकेबंदी कर वाहनों की तलाश की गई.

सुरक्षा की मांग करने हाईकोर्ट पहुंचा था प्रेमी युगल

बताया जा रहा था कि युवक और युवती बिजनौर के रहने वाले थे. उन्होंने लव मैरिज की है और हाई कोर्ट में पुलिस सुरक्षा मुहैया कराने की गुहार लगाने आए थे. इसी बीच उनका अपहरण कर लिया गया. पहले ऐसी सूचना आयी थी कि बरेली के बीजेपी विधायक राजेश मिश्र की बेटी साक्षी और उनके पति का अपहरण किया गया है, लेकिन पुलिस ने इसका खंडन किया. मामले में एडीजी प्रयागराज एसएन सावन ने कहा कि अपहरणकर्ताओं के हाथ में हथियार थे. बदमाश यूपी 82 नम्बर की काले रंग की गाड़ी में सवार थे और गाड़ी के पीछे चेयरमैन लिखा था. प्रेमी युगल यहां सुरक्षा की मांग करने आ रहे थे.

बरेली के विधायक की बेटी साक्षी और उसके ससुरालियों को मिली सुरक्षा
आज बरेली से बीजेपी विधायक राजेश मिश्र की बेटी साक्षी मिश्रा और उनके पति अजितेश की सुरक्षा की मांग को लेकर दायर याचिका पर इलाहाबाद हाईकोर्ट में सुनवाई होनी थी. सुनवाई सुबह करीब 11 बजे जस्टिस सिद्धार्थ वर्मा की कोर्ट में होनी थी. साक्षी और अजितेश ने शांतिपूर्ण जीवन जीने के लिए सुरक्षा की मांग करते हुए इलाहाबाद हाईकोर्ट में एक याचिका दायर की थी. हालांकि इस मामले पर साक्षी के विधायक पिता राजेश मिश्र ने कहा था कि उन्हें साक्षी और अजितेश की शादी से कोई दिक्कत नहीं है, लेकिन साक्षी को अपने पिता की बात पर अब तक भरोसा नहीं हो रहा है. हालांकि साक्षी मिश्रा और अजितेश को पुलिस सुरक्षा मिल गई है. रविवार को यूपी पुलिस ने दिल्ली के गीता कॉलोनी में साक्षी, अजितेश, अजितेश के मामा, भाई और पिता से मुलाकात की. इसके बाद यूपी पुलिस साक्षी, अजितेश और उनके रिश्‍तेदारों को अपनी सुरक्षा में लेकर प्रयागराज रवाना हो गई. इलाहाबाद के एसएसपी ने बताया कि साक्षी और उनके पति हाई कोर्ट में मौजूद हैं.

अजितेश संग मारपीट पर कोर्ट का कड़ा रुख

अजितेश ने आरोप लगाया कि कोर्ट नंबर दो में सुनवाई के दौरान कुछ लोगों ने उनसे मारपीट की. इस दौरान साक्षी से भी धक्का-मुक्की की गई. परिसर में मारपीट को लेकर हाईकोर्ट ने कड़ा रुख अपनाया है. पिटाई के मामले में कोर्ट ने संज्ञान लेते हुए साक्षी के पिता को फटकार लगाई है. हाईकोर्ट ने अजितेश के साथ मारपीट पर जिला प्रशासन को तलब करते हुए पुलिस को साक्षी व अजितेश की सुरक्षा देने के निर्देश दिए हैं. अजितेश के वकील का कहना है कि अजितेश को पीटने वाले लोग कौन थे, यह स्पष्ट नहीं? लेकिन यह साबित करता है कि वास्तव में उनके जीवन के लिए खतरा है, जिसके लिए वे सुरक्षा की मांग कर रहे थे. बताया जा रहा है कि भाजपा विधायक और साक्षी के पिता राजेश मिश्र भी कोर्ट पहुंचे हैं. बरेली से भाजपा विधायक राजेश मिश्र की बेटी साक्षी ने अजितेश से 4 जुलाई को प्रयागराज के एक मंदिर में शादी की थी. यह मामला तब सुर्खियों में आया जब साक्षी ने एक वीडियो जारी कर आरोप लगाया कि उसके पिता से उन दोनों को जान का खतरा है.

Couple abducted from Allahabad High Court premises in Prayagraj today has been rescued by police in Fatehpur. The abductors have been nabbed. Sakshi, daughter of BJP MLA Rajesh Mishra, and her husband Ajitesh were allegedly roughed up by some people at Allahabad High Court premises where they went to seek protection. They are present in the court.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.