सैनिक रीति रिवाज से हवलदार चंद्रशेखर सिंह की की गई अंत्येष्टि

बैरिया बलिया. दोकटी थाना क्षेत्र के धतुरी टोला निवासी हवलदार चन्द्र शेखर सिंह 43 वर्ष का लखनऊ में हार्ट अटैक होने के बाद शव का पैतृक गांव आने पर गांव में कोहराम मच गया. सेना में हवलदार पद पर चंद्र शेखर सिंह वर्तमान समय मे लखनऊ में तैनात थे. उनका परिवार भी लखनऊ में साथ रह रहा था. उनका पुत्र आशुतोष सिंह 17 वर्ष व पुत्री आकांक्षा सिंह आर्मी स्कूल में पढ़ रहे थे. गुरुवार को परेड के दौरान परेड ग्राउंड में हार्ट अटैक आने के बाद गिर पड़ा. उन्हें साथी जवानों ने अविलंब कमांड हॉस्पिटल उन्हें ले जाया गया.

जहां पर कमांड हॉस्पिटल के चिकित्सकों ने जांचोपरांत मृत घोषित कर दिया. शुक्रवार को प्रातः परेड ग्राउंड में ही कमांड के अधिकारियों व जवानों द्वारा गार्ड ऑफ ऑनर व श्रद्धांजलि दी गयी. शव शुक्रवार को देर शाम पैतृक गांव धतुरी टोला पहुंचा.उनका अंतिम संस्कार सैनिक रीति रिवाज के साथ महुली घाट पर उनके एक मात्र पुत्र आशुतोष सिंह के द्वारा मुखाग्नि दी गई जिसमे 39 जी टी सी वाराणसी के जवान व पुर्व सैनिक संगठन बैरिया तहसील के सदस्य व ग्रामीण उपस्थित रहें.
पूर्व सैनिकों ने दी श्रद्धांजलि.

बैरिया. जवान की मौत की सूचना पर शनिवार को पूर्व सैनिक संगठन के जिला अध्यक्ष अखिलेश्वर सिंह के नेतृत्व में रिटा0 सूबेदार,सत्य नारायन सिंह,रिटा0 सूबेदार मेजर शलेंद्र सिंह,हरिहर यादव,सूबेदार सुनील सिंह, श्रीकान्त तिवारी, श्री राम सिंह एच एन मिश्रा, रामायण सिंह, सुनील सिंह सहित दर्जनों की संख्या में पहुँचकर पुर्व सैनिको ने श्रद्धांजलि दी. वही पूर्व सैनिकों के द्वारा परेड भी किया गया.
बैरिया से शशि सिंह की रिपोर्ट