धूम धाम से मनाया गया अंतर्राष्ट्रीय मृदा दिवस

This item is sponsored by Maa Gayatri Enterprises, Bairia : 99350 81969, 9918514777

यहां विज्ञापन देने के लिए फॉर्म भर कर SUBMIT करें. हम आप से संपर्क कर लेंगे.

कलेक्ट्रेट सभागार में सीडीओ ने किसानों को बताया मिट्टी का महत्व

बलिया। कृषि विभाग के तत्वाधान में मंगलवार को कलेक्ट्रेट सभागार में विश्व मृदा दिवस के अवसर पर एक कार्यशाला का आयोजन किया गया. आयोजन में प्रभारी जिलाधिकारी/ मुख्य विकास अधिकारी संतोष कुमार मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित रहे.
इस अवसर पर प्रभारी जिलाधिकारी संतोष कुमार ने कहा कि मिट्टी का हमारे जीवन में बड़ा महत्व है. मृदा के स्वास्थ्य को कैसे ठीक रखा जा सकता है और मृदा का हमारे जीवन मे क्या योगदान है, इसी तथ्य के दृष्टिगत संयुक्त राष्ट्र संघ की महासभा ने 5 दिसम्बर को विश्व मृदा दिवस के रूप में मनाने का संकल्प लिया है. हमें इस बात का निरंतर प्रयास करना चाहिए कि हमारी मृदा सतत खेती के साथ ज्यादा से ज्यादा पैदावार दे सकें, इसके लिए सभी को संकल्पित होना होगा. इसी के क्रम में प्रभारी जिलाधिकारी संतोष कुमार कार्यशाला में आये किसानों और अधिकारियों को संकल्प दिलाया कि हम मृदा के स्वास्थ्य को ठीक रखने के लिए निरंतर प्रयास करते रहेंगे.
इस अवसर पर कार्यक्रम के संयोजक उप कृषि निदेशक इंद्राज ने उपस्थित किसानों को मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना के बारे में बताते हुए कहा कि जनपद के अभी किसानों को ग्रिड के आधार पर निःशुल्क मृदा स्वास्थ्य कार्ड उपलब्ध कराया जा रहा है. किसान इस कार्ड को अगले दो वर्षों तक प्रयोग में ला सकेगा. इसके बाद पुनः नया कार्ड उपलब्ध कराया जाएगा. जिला कृषि अधिकारी जेपी यादव ने किसानों को संतुलित उर्वरक उपयोग के बारे में बताया.
जिला कृषि रक्षा अधिकारी प्रियनंदा ने बताया कि भूमि उपचार रासायनिक दवाओं से स्थान पर जैविक साधनों से करके मृदा के स्वास्थ्य को ठीक रखा जा सकता है. जिला उद्यान अधिकारी सुभाष कुमार ने कहा कि स्वस्थ मृदा ही अच्छी सब्जियों और फलों का उत्पादन कर सकती हैं. इसलिए किसानों को चाहिए कि मृदा को संदूषित होने से बचाया जाए. कार्यशाला में उपस्थित सहायक आयुक्त सहकारिता राम नयन सिंह और जिला खाद्य एवं विपणन अधिकारी नरेंद्र त्रिपाठी ने किसानों को धान क्रय की व्यवस्था के बारे में बताया.
कृषि विज्ञान केंद्र के कार्यक्रम समन्वयक डॉ रामजीत और कृषि वैज्ञानिक डॉ वेद प्रकाश ने मृदा स्वास्थ्य सुधार विषय पर अपना व्याख्यान प्रस्तुत किया. भूमि संरक्षण अधिकारी संजेश कुमार श्रीवस्तव ने कार्यक्रम का संचालन किया. इस अवसर पर जिला के सैकड़ो प्रगतिशील किसानों ने बड़े उल्लास के साथ इस कार्यशाला में प्रतिभाग किया.

मृदा स्वास्थ्य कार्ड का हुआ वितरण

मृदा स्वास्थ्य दिवस के अवसर पर सांसद आदर्श ग्राम ओझवलिया के कपिल मुनि, पशुपति, सतीश कुमार, सुदामा, रामकुमार आदि किसानों को मृदा स्वास्थ्य कार्ड का वितरण भी किया गया. किसानों को इसकी उपयोगिता के बारे में जानकारी दी गई.