रतसर कसबे में उत्पात, आगजनी, चौकी प्रभारी निलंबित

सिकन्दरपुर (बलिया)। गड़वार थाना क्षेत्र के रतसर कसबे में मामूली विवाद में बुधवार को अचानक कुछ अराजक तत्वों द्वारा माहौल खराब कर पूरे बाजार में लूटपाट, उत्पात तथा आगजनी की वारदात को अंजाम दिया गया. इस घटना में स्थानीय पुलिस चौकी प्रभारी की लापरवाही सामने आई, जिसे मौके पर पहुंचे पुलिस कप्तान अनिल कुमार ने तत्काल निलम्बित कर दिया. बाद में मौके पर पहुंचे जिलाधिकारी, पुलिस कप्तान और उनके साथ आई भारी फ़ोर्स ने बवालियों पर काबू पाया और करीब दर्जन भर लोगों को हिरासत में ले लिया. 
देखा जाए तो पूरी घटना की पटकथा मंगलवार को ही लिख दी गई थी. लोगों की माने तो मंगलवार शाम करीब 8 बजे एक पक्ष का अरविंद राजभर (17) पुत्र लक्ष्मण राजभर साइकिल से रतसर गाँव में पंचायत भवन की तरफ जा रहा था. उसी समय दूसरी तरफ दूसरा पक्ष रानू (18) पुत्र नन्हे खान बाइक से आ रहा था. इस दौरान वे आपस में टकरा गए. इस हादसे में दोनों लोगों को हल्की चोट आई. इसके बाद दोनों लोगों में आपस में विवाद होने लगा. एक पक्ष का आरोप है कि दूसरे पक्ष के लोगों ने उसी विवाद को लेकर अरविन्द राजभर की पिटाई कर दी. नतीजतन वह गंभीर रूप से घायल हो गया.

रात  में परिजनों द्वारा इसकी सूचना पुलिस चौकी में दी  गई, लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई न करते हुए घायल को इलाज के लिए जिला अस्पताल भिजवा दिया. दूसरी तरफ परिजन कार्रवाई की मांग करते रहे. बुधवार को घायल युवक की तबीयत पुन: बिगड़ने पर तथा पुलिस की ओर से कार्रवाई न होने से क्षुब्ध होकर दोपहर करीब 12 बजे रतसर गांधी आश्रम चौराहे पर युवक को लिटाकर जाम लगा दिया गया. दूसरे पक्ष के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की गई. साथ ही उच्च स्तरीय अधिकारियों को बुलाने की मांग की गई. दो घण्टे बीत जाने के बाद भी जब कोई उच्च अधिकारी व अन्य फोर्स नहीं आई तो जाम लगा रहे लोग उग्र हो गए. इसी दौरान कुछ अराजक तत्वों ने चौराहे पर तोड़फोड़ व लूटपाट की. आगजनी भी की गई.

बताया जाता है कि थोड़ी देर बाद चौकी इंचार्ज कुछ सिपाहियों के साथ मौके पर पहुंचे, लेकिन भारी भीड़ देखते हुए पुन: वापस लौट गए. करीब दो बजे भारी फोर्स के साथ जिलाधिकारी सुरेंद्र विक्रम व पुलिस कप्तान अनिल कुमार मौके पर पहुुंचे. उसके बाद उपद्रव कर रहे लोगों को काबू करने मेें जुट गए. थोड़ी ही देर बाद स्थिति सामान्य हो गयी और आग से जल रही दुकानों को करीब तीन फायर ब्रिगेड की गाड़ियों के द्वारा आग पर काबू पाया गया. उसके बाद पुलिस द्वारा चिन्हित लोगों को गिरफ्तार कर ले जाया गया. समाचार लिखे जाने तक पूरे कस्बे में सन्नाटा पसरा हुआ है और मौके पर जिलाधिकारी व पुलिस कप्तान की मौजूदगी में भारी मात्रा में फोर्स तैनात है.

आपकी बात

Comments | Feedback

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *