टंगुनिया गांव में पसरी उदासी, शहीद के पार्थिव शरीर के आने का इंतजार

​बिल्थरारोड (बलिया)। उभांव थाना क्षेत्र के टँगुनिया गांव निवासी सीमा सुरक्षा बल 14 वीं बटालियन में जम्मू  काश्मीर के रामबन जिले के बनिहाल पट्टी में तैनात हेड कांस्टेबल रामप्रवेश यादव सेना कैम्प पर ड्यूटी पर थे. बुधवार की शाम पाकिस्तान द्वारा की गयी गोला बारी में रामप्रवेश व एक अन्य जवान को लगी. जिसमें बलिया का जवान रामप्रवेश की मौके पर ही शहीद हो गया. इसकी सूचना बुधवार की रात्रि 10 बजे उभांव पुलिस व सीमा सुरक्षा बल के अधिकारियों ने फोन द्वारा   उनके परिवार को दी. सूचना मिलते ही घर सहित पूरे क्षेत्र मे कोहराम मच गया.  टँगुनिया गांव निवासी लालबचन यादव के तीन पुत्र व एक पुत्री में रामप्रवेश यादव 32 वर्ष सबसे बड़े थे. अन्य लड़के सुनील जो बीते 18 सितम्बर को दुबई चला गया व सर्वजीत बम्बई में है. इसकी बहन सुनीता है. शहीद रामप्रवेश यादव वर्ष 2006 में गोरखपुर में सीमा सुरक्षा बल में भर्ती हुए हुए थे. बड़े होने के कारण पूरे परिवार के खर्चे की जिम्मेदारी रामप्रवेश के ही कन्धे पर थी. रामप्रवेश की शादी देवरिया जिले मइल थाना के पिपराबाध की चिंता देवी से 2009 में हुआ था. रामप्रवेश के दो पुत्र है. आयुष की उम्र 7 वर्ष और पियूष की उम्र 4वर्ष  है. घर पर लगी भीड़ से बिचलित दोनो बच्चे लगी भीड़ को देखकर कुछ जानने का प्रयास कर रहे थे. इस घटना की खबर पाकर  जो जहां सुना वही से उनके घर पहुचने लगा. परिवार के लोगों का रो रो कर बुरा हाल है.  गाँव सहित आस पास के  क्षेत्रो में सन्नाटा पसर गया है. शुक्रवार की शाम तक शहीद का शव उनके घर उभांव थाना क्षेत्र के टगुनिया पहुँचने की सूचना है.

सांसद रविन्द्र कुशवाहा शहीद राम प्रवेश के घर पहुंचकर परिजनों को ढांढस बधाते हुए शहीद के नाम पर गांव की सड़क व शहीद द्वार बनवाने व जमीन उपलब्ध होने पर मूर्ति लगवाने की बात कही. विधायक धनञ्जय कन्नौजिया व पूर्व विधायक गोरख पासवान ने शहीद के घर पहुंचकर शोक संवेदना जताया.

आपकी बात

Comments | Feedback

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!