News Desk August 12, 2019

बलिया। अनुसूचित जाति और जनजाति को लेकर बनाए गए एससी, एसटी एक्ट एक बार फिर सुर्खियों में है. समाचार एजेंसी एएनआई के ट्वीट के मुताबिक भाजपा के बैरिया विधायक सुरेंद्र नाथ सिंह ने कहा है कि ‘SC/ST एक्ट की वजह से आज भी जातिवाद जिंदा है. अगर इस एक्ट को निरस्त कर दिया गया तो देश में छुआछूत नहीं रहेगी. एससी, एसटी एक्ट और आरक्षण ने देश में जातिवाद को जिंदा रखा हुआ है.’

बैरिया विधायक ने कहा, रामविलास और मायावती जैसे लोग सुरक्षित सीट से लड़े ये प्रासंगिक नहीं

इस बयान के बाद इसे लेकर प्रदेश में एक बार फिर राजनीति गरमा गई है. मालूम हो कि मोदी सरकार ने अपने पहले कार्यकाल में एससी एसटी एक्ट में संशोधन किया था, इसे लेकर देशभर में इतना विरोध हुआ था कि उस संशोधन को वापस लेना पड़ा था. वहीं दूसरी ओर आरक्षण के विरोध में सरकार को सवर्ण समाज का विरोध झेलना पड़ा था. रामविलास पासवान और मायावती को आड़े हाथों लेते हुए सुरेंद्र सिंह ने कहा कि रामविलास पासवान और मायावती जैसे लोग सुरक्षित सीट से लड़े ये प्रासंगिक नहीं है. उन्होंने कहा एक बार कोई सुरक्षित सीट से चुनाव लड़ लिया तो दोबारा उसको उस सीट से चुनाव लड़ने की इजाजत ही नहीं मिलनी चाहिए. दूसरे को मौका मिले, सुविधा मिले लेकिन उसी जाति के किसी गरीब को मिले तभी संविधान की रक्षा होगी.

सुरेंद्र सिंह बोले, 370 जैसे राक्षसी कानून का राम के रूप में पैदा होकर पीएम मोदी ने अंत किया

एबीपी न्यूज के मुताबिक सुरेंद्र सिंह ने कहा कि धारा 370 जवाहर लाल नेहरू के द्वारा स्थापित राक्षसी कानून है और उस राक्षसी कानून का राम के रूप में पैदा होकर पीएम मोदी ने अंत कर दिया है. सुरेंद्र सिंह ने कहा कि धारा 370 का हटना मतलब जम्मू कश्मीर से प्रजातांत्रिक व्यवस्था का राक्षस हटना है अब वहां इंसान और इंसानियत जीवित रहेगी. उन्होंने कहा कि नेहरू संवैधानिक राक्षस था, उस राक्षस का अंत हो गया. उन्होंने कहा आरएसएस की तपस्या का अभी पहला अध्याय पूरा हुआ है दूसरा और तीसरा अध्याय बाकी है जो पूरा होगा. सोनिया गांधी को पार्टी का अंतरिम अध्यक्ष बनाये जाने पर सुरेंद्र सिंह ने कांग्रेस और नेहरू पर हमला बोलते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी नेहरू परिवार की जमीदारी है और अपनी जम्मीदारी को ज़मीदार किसी दूसरे को नहीं देता है. उन्होंने कहा इस पद का निर्वाह दूसरा कोई कर भी नहीं पाएगा और वह लोग देंगे भी नहीं. कभी व्यवस्था देखने के लिए पुत्र मालिक हो जाता है, कभी मां मालिक हो जाती है. लेकिन दूसरा कोई नहीं आएगा, यह संभव नहीं है. उन्होंने कहा इसमें कोई नई बात नहीं है यह पहले से ही तय था.

SC/ST Act Has Kept Casteism Alive, There Will Be No Untouchability if Act is Repealed, Says UP BJP MLA Surendra Singh

Leave a comment.

Your email address will not be published. Required fields are marked*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.