मनुष्यों को मुक्ति एवं जीवों के कल्याण के लिए जीना चाहिए, भागवत यही सिखाता है- राम व्यास उपाध्याय

भागवत कथा के अंतिम दिन आचार्य राम व्यास उपाध्याय ने अपने प्रवचन के दौरान कहा कि भागवत यही सिखाता है कि मनुष्यों को मुक्ति व जीवों के कल्याण के लिए जीना चाहिए. मनुष्य को मनुष्य के साथ हमेशा प्रेम करते करना चाहिए. मनुष्य को कष्ट देने वाले व्यक्ति दानव की श्रेणी में आते हैं.

मोक्ष की कामना को लेकर श्रद्धालुओं ने गंगा स्नान के बाद महर्षि भृगु व दर्दर मुनि के किए दर्शन

सेवा शिविर के माध्यम से लोगों को उचित राय एवं परामर्श दिया जा रहा था भृगु जी मंदिर के सामने पूर्व मंत्री आनंद स्वरूप शुक्ला के सहयोगी शिविर लगाए हुए थे.

मसहा गांव में रामचरितमानस का हुआ पाठ, भंडारे का हुआ भव्य आयोजन

श्री तुलसी जी एवं ठाकुर जी का विवाह उत्सव संपन्न हुआ इस अवसर पर ब्राह्मण स्वयंसेवक संघ के प्रदेश महासचिव पंडित राजेश कुमार मिश्र ने कहा कि देवोत्थान एकादशी से संसार में सभी मंगलमय कार्य प्रारंभ हो जाते हैं.  आज के दिन तुलसी जी एवं ठाकुर जी का विवाह संपन्न हुआ उन्होंने कहा कि भगवान विष्णु की कृपा पूरे संसार पर बनी रहे.

कार्तिक पूर्णिमा की पूर्व संध्या पर सोमवार को होगी भव्य गंगा पूजन एवं दिव्य आरती

नगवा स्थित काली माता के मंदिर पर रविवार को दिव्य आरती के निमित्त हुई बैठक के बाद डॉ जयगणेश चौबे ने बताया कि गंगा पूजन एवं आरती का कार्यक्रम वाराणसी के विद्वान पण्डितों एवं आचार्यों के देखरेख में सम्पादित किया जाएगा.

अक्षय नवमी की पूजा से प्रसन्न होती हैं मां लक्ष्मी

आंवला वृक्ष के हर भागों में अलग-अलग देवी-देवताओं के वास होना बताया जाता है. कहा जाता है कि है कि आंवला वृक्ष के नीचे अक्षय नवमी की पूजा करने पर धन दौलत में वृद्धि होती है वहीं विभिन्न प्रकार की समस्याएं जैसे विवाह संतान दांपत्य जीवन आदि सभी समस्याओं का निदान हो जाता है.

महिलाओं ने आंवला वृक्ष की पूजा अर्चना कर परिवार संग किया भोजन

पर्व को लेकर मान्यता है कि इस दिन आंवले के पेड़ का पूजन कर परिवार समेत पकवान बनाकर भोजन करने से परिवार में आरोग्यता व सुख-समृद्धि आती है। बुधवार को अक्षय नवमी को लेकर सुबह से ही आंवला पेड़ों का पूजन करने के लिए महिलाओं की कतारें लग गई.

दामोदरपुर गांव में रामलीला का हुआ शुभारंभ

रामलीला के मुख्य अतिथि गड़वार ब्लाक प्रमुख अतुल प्रताप सिंह की अनुपस्थिति में उन्होंने अपने प्रतिनिधि के रूप में बलिया कुंवर सिंह कॉलेज के पूर्व अध्यक्ष अजय यादव जी व अपने प्रतिनिधि अनटू सिंह जी को आज के रामलीला का उद्घाटन करने को भेजा.

सूर्य उपासना और पूजन अर्चन का महापर्व हर्षोल्लास से हुआ संपन्न

छठी माई और सूर्य देव की पूजा करने पर मनोकामना पूर्ण होने की वजह से अब यह व्रत यह उपवास उत्तर प्रदेश सहित भारत के हर राज्य में वृहद रूप से होता है.

छठी मैया के गीतों से गुंजायमान रहा संपूर्ण ग्रामीण क्षेत्र

छठ घाट पर समाजसेवियों द्वारा श्रद्धालुओं के लिए जगह जगह नींबू पानी की भी व्यवस्था की गयी थी. कहीं कोई अप्रिय घटना घटित न हो, इसके लिए पुलिस प्रशासन व बद्रीनाथ सिह सेवा संस्थान के ‌सदस्य बराबर चक्रमण कर रहे थे.

व्रती महिलाओं ने सूर्यदेव को दिया पहला अर्घ्य

व्रती महिलाएं दउरा व सुपली में फल के साथ पूजन सामग्री सजाकर घाट पर पहुंची और भगवान भास्कर की उपासना किया चार दिनों तक चलने वाले इस अनुष्ठान के अंतिम दिन सोमवार की सुबह उगते हुए सूर्य को अर्घ्य दिया जाएगा.

छठ महापर्व पर विशेष- अस्ताचलगामी सूर्य को व्रती देंगे अर्घ्य

व्रत करने वाले जल में खड़े होकर डालों को उठाकर डूबते सूर्य को अर्घ्य देते हैं, सूर्यास्त के पश्चात व्रती पूरी रात साधना करते हैं , कुछ घर भी वापस आ जाते हैं ,रात्रि जागरण होता है , सप्तमी के दिन ब्रह्म मुहूर्त में पुन: बाँस के डालों में पकवान, नारियल, केला, मिठाई लेकर नदी तट पर व्रती सपरिवार जाते हैं , जहाँ उगते सूर्य को अर्घ्य देते हैं.

गड़वार थाना क्षेत्र के दामोदरपुर गांव में रामलीला का हुआ शुभारंभ

गड़वार, बलिया. गड़वार थाना अंतर्गत दामोदरपुर गांव में हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी बुधवार को रामलीला का शुभारंभ हुआ. प्रथम दिन मुख्य अतिथि …

गड़वार ब्लाक के दामोदरपुर गांव में महिलाओं और किशोरियों ने हर्षोल्लास से की गोवर्धन पूजा

कार्तिक मास की अमावस्या तिथि दीपावली के पर्व के ठीक दूसरे दिन मनाया जाने वाला यह गोवर्धन पूजा कल सूर्य ग्रहण के कारण 1 दिन विलंब से लगभग हर जगह मनाया गया, गोवर्धन पूजा यानी अन्नकूट का यह अपने भाइयों के लंबी उम्र और उनके सुरक्षा को देखते हुए मनाया जाता है.

श्री जंगली बाबा धाम पर आयोजित महारुद्र यज्ञ की निकली कलश यात्रा

कलश यात्रा में शामिल श्रद्धालु भक्तों ने हनुमानगढ़ी मंदिर से जल कलश में भरकर मुख्य बाजार,थाना चौराहा,गोविंदपुर होते हुए यज्ञ स्थल पर पहुंचे. यात्रा में शामिल पुरुष, महिलाएं, बालक, बालिकाएं सिर पर जल से भरा हुआ कलश लेकर ॐ नमः शिवाय व बाबा के जयकारे लगाते हुए चल रहे थे जिससे पूरा वातावरण भक्तिमय हो गया.

संत शिरोमणि श्री श्री 108 स्वामी शिवनारायण स्वामी जी महाराज के 306 वें अवतरण दिवस पर देश विदेश के अनुयायियों ने लिया भाग

बेल्थरारोड, बलिया. तहसील क्षेत्र के ससना बहादुर पुर धाम पर संत शिरोमणि श्री श्री 108 स्वामी शिवनारायण स्वामी जी महाराज का 306 वां अवतरण दिवस …

जीयर स्वामी का चातुर्मास्य व्रत और महायज्ञ अगले साल पाल्हे कला-जतपुरा में करने की घोषणा

चातुर्मास्य व्रत और महायज्ञ के लिए पूज्य स्वामीजी महाराज की सहमति मिलने के बाद सभी श्रद्धालु बलिया से वापस श्री बंशीधर नगर लौट गए. श्री लक्ष्मीप्रपन्न जीयर स्वामी जी महाराज भारतवर्ष के महान मनीषी संत श्री त्रिदण्डी स्वामी जी महाराज व उनके कृपापात्र शिष्य हैं.

लक्ष्मी नारायण महायज्ञ में हजारों भक्तों ने की यज्ञ स्थल की परिक्रमा

–वन गमन के बाद राम बन गए पुरुषोत्तम राम-कृष्ण चंद्र ठाकुर बलिया ।श्री लक्ष्मी नारायण महायज्ञ स्थल पर जीयर स्वामी जी महाराज के सानिध्य में …

वाल्मीकि जयंती विशेष- वाल्मीकि आश्रम से जुड़ी है बलिया के नामकरण की कहानी

श्री कौशिकेय ने बताया कि
वाल्मीकि आश्रम के संदर्भ में उसके मलद – करुष राज्य की सीमा पर होने का उल्लेख है. यह राज्य वर्तमान बिहार राज्य के आरा जिले के उत्तर दिशा में था. करुष राज्य की सीमा कामदहन भूमि कामेश्वरधाम कारों से जुड़ी है.

अंतर्राष्ट्रीय धर्म सम्मेलन आज बलिया में

विशाल महोत्सव में उत्तर प्रदेश के कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही सुबह 10:30 बजे तथा केंद्रीय मंत्री अश्विनी कुमार चौबे दोपहर 1:30 बजे से पूरे दिन कार्यक्रम में शिरकत करेंगे.

ईश्वर के सभी 24 अवतार भारत भूमि पर ही हुए- डॉ० श्याम सुंदर पाराशर

डॉ० पराशर जी ने बताया कि भारत भूमि की विशेषता है कि यहां बैकुंठ नाथ है. दुनिया के तपस्वी संत भारत में ही निवास करते हैं. सुखदेव जी महाराज बैकुंठ नाथ की कथा जब-जब सुनाया है वह भारत की भूमि ही रही है.