पुलिस देख चोरी की मूर्ति छोड़ भागे चोर

बन्द बोरी में चोरी की पांच मूर्तियां पुलिस ने किया बरामद

ग्राम तेलमा जमालुद्दीनपुर से चोरी की दो मूर्ति हुई शिनाख्त

अवायां ढांबा पर भोजन करने पहुंचे थे चोर, पुलिस देख बाईक से हुए फरार

बिल्थरारोड(बलिया). उभांव पुलिस को बुधवार की देर रात करीब 10.30 बजे एक बन्द बोरी में चोरी की 5 अदद प्राचीन मूर्तियां बरामद करने में सफलता मिली है. इन मूर्तियों को चोर विक्री करने की नियत से ले जा रहे थे, जो पुलिस की गतिविधि को देख बोरी में भरी मूर्तियों को छोड़ भाग निकले.

उभांव थाने के प्रभारी निरीक्षक राजीव कुमार मिश्र ने जानकारी देते हुए बताया कि उभांव थाना क्षेत्र के ग्राम अवाया ढाबा पर बुधवार की देर रात करीब 10.30 बजे बन्द बोरी में बरामद मूर्तियों संग एक बाइक पर सवार होकर भोजन करने मूर्ति चोर पहुंचे थे जहां जल रहे अलाव के पास आग से ठंड का राहत लेते हुए ढाबा संचालक शंभूनाथ चौरसिया से भोजन लगाने का आर्डर दिए. काफी ठंड का मौसम देखते हुए भोजन से पूर्व चाय पिलाने का भी आर्डर दे दिया. इसी बीच उभांव थाने की हल्का पुलिस के दो पुलिस गोविन्द मौर्य तथा अमित पटेल भी कड़ाके की ठंढ से राहत पाने की गरज से ढाबा पर चाय पीने पहुंच गए. पुलिस को देख भोजन का आर्डर देने वाले दोनो चोरों ने चोरी की मूर्ति से भरी बोरी छोड़ बाईक पर सवार होकर भाग निकले. चोर बाईक से जैसे निकले कि ढाबा संचालक के पुत्र ने जमीन पर रखी ये बोरी छोड़कर दोनों लोग जा रहे हैं फिर मौके पर अचानक पहुंचे दो बाईक सवारों संग हल्का पुलिस के दोनो सिपाहियो ने उनका पीछा किया, किन्तु घने कोहरे के कारण पकड़ने का असफल साबित हुए और चोर भागने में सफल हो गये.प्रभारी निरीक्षक मिश्र ने आगे बताया कि हल्का पुलिसकर्मियों ने फोन से सूचित कर मुझे बुलाया. तब जाकर बोरी खोलने के बाद 5 मूर्तियां पाई गई जिसमे दो अदद लगभग तीन फीट ऊंची पीतल की लक्ष्मण तथा सीता के अलावे लगभग एक एक फीट ऊंची गंदूम रंग की राम, जानकी तथा सीता की तीन मूर्तियां पाई गई.
ढाबा संचालक शंभूनाथ चौरसिया की माने तो भोजन लगाने का आर्डर दिए जाने के दौरान चोरों ने वाराणसी जाने वाली ट्रेन के बारे में भी मुझसे जानकारी पूछी थी. वे अपने चेहरे विल्कुल बांधे हुए थे.
इस घटना चक्र से ऐसा आभाष हो रहा है कि मूर्तियों को विक्री की नीयत से ले जाने वाले चोर पुलिस को देख असफल साबित हुए, और भगवान की चोरी हुई मूर्ति पुलिस को बरामद हो गयी.
थाने के प्रभारी निरीक्षक राजीव कुमार मिश्र ने थाना क्षेत्र के ग्राम तेलमा जमालुद्दीन पुर में बीते 9 जनवरी को पुराने मंदिर में स्थापित हुई दो अदद मूर्ति चोरी की शिनाख्त मंदिर के संचालक मोहन पांडेय को तत्काल बुलाकर करा दिया. जिसमें मोहन पाण्डेय ने चोरी गयी मूर्ति अपनी पहचान ली.प्रभारी निरीक्षक मिश्र ने बताया कि बीते 20 दिसम्बर की रात ग्राम मालीपुर मंदिर से हुई मूर्तियों की चोरी के मुकदमा वादी रमेश यादव की अनुपलब्धता के कारण शिनाख्त कराना अभी शेष रह गया है.
इस प्रकार अभी तक क्षेत्र की हुई मूर्ति चोरियो का राजफाश हो गया जिससे पुलिस ने राहत की सांस ली है.
बिल्थरा रोड से उमेश गुप्ता की रिपोर्ट