जननायक चंद्रशेखर विश्वविद्यालय में मनाया गया हिन्दी पत्रकारिता दिवस

लोकतंत्र को बचाने का अति मह्त्वपूर्ण कार्य भी पत्रकारों के हाथ में –डॉक्टर जैनेन्द्र पांडेय

बलिया. सोमवार को कुलपति प्रोफेसर कल्पलता पाण्डेय के संरक्षण और निदेशक शैक्षणिक डॉ. पुष्पा मिश्रा के निर्देशन में हिन्दी और पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग द्वारा हिन्दी पत्रकारिता दिवस का आयोजन जननायक चन्द्रशेखर विश्वविद्यालय के शैक्षणिक भवन में किया गया.

 

मुख्य अतिथि एवं जन संपर्क अधिकारी, जननायक चन्द्रशेखर विश्वविद्यालय के डॉक्टर जैनेन्द्र पांडेय ने पत्रकारिता की उपयोगिता, महत्व के साथ ही लोकतंत्र के चौथे स्तंभ की कुछ कमियों पर भी प्रकाश डाला. साथ ही साथ उन्होंने कई संस्मरणों के माध्यम से पत्रकारिता के महत्व एवं उत्तरदायित्वों से सभी को अवगत कराया. उन्होंने बताया कि लोकतंत्र को बचाने का अति महत्त्वपूर्ण कार्य भी पत्रकारों के हाथ में है.

 

इस अवसर पर निदेशक शैक्षणिक, डॉ. पुष्पा मिश्रा ने अपने विचार साझा करते हुए कहा कि कोई भी देश पत्रकारिता के बिना मृतप्राय है. उन्होंने कहा कि पत्रकारिता समाज को दिशा देने वाली धारा व कला है. जिसके वर्तमान में सकारात्मक व नकारात्मक स्वरुप दोनों ही देखने को मिलता हैं.

 

इस दौरान कार्यक्रम में योग विभाग के सहायक प्राध्यापक डॉक्टर नीरज कुमार पांडेय ने अपने विचार साझा करते हुए आधुनिक परिवेश में पत्रकारिता के स्वरुप के विषय में बताया.

 

हिन्दी विभाग के सहायक प्राध्यापक डॉ. प्रमोद शंकर पांडेय ने पत्रकारिता की ऐतिहासिक पृष्ठभूमि पर विस्तार से प्रकाश डाला. अंग्रेजी विभाग के एसोसिएट प्रोफ़ेसर डॉ. अजय कुमार चौबे ने पत्रकारिता के महत्व व नैतिकता पूर्ण व्यवहार को सभी प्रतिभागियों के साथ साझा किया.

 

कार्यक्रम में एसोसिएट प्रोफेसर डॉ प्रियंका सिंह सहित परिसर के विभिन्न विभागों के सहायक प्राध्यापक सुश्री नेहा विशेन, डॉक्टर लाल विजय सिंह, डॉक्टर अमित सिंह, डॉ. रानू पाल, डॉ. तृप्ति तिवारी, डॉ. अन्याष सिंह, डॉ. शैलेन्द्र कुमार सिंह, डॉ. राघवेन्द्र कुमार पांडेय, पत्रकारिता छात्र सूर्य देव सहित विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों ने अपनी उपस्थित के माध्यम से कार्यक्रम को सफल बनाने हेतु अपनी सहभागिता सुनिश्चित की.

कार्यक्रम का संचालन पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग के सहायक प्रोफेसर विनय कुमार एवं समाज कार्य विभाग से असिस्टेंट प्रोफेसर नीति कुशवाहा ने किया. धन्यवाद ज्ञापन पर्यटन विभाग के सहायक प्रोफेसर रंजीत कुमार पांडेय ने किया.

(बलिया से केके पाठक की रिपोर्ट)