बैंकों के निजीकरण के खिलाफ हड़ताल, मुख्य राजस्व अधिकारी के हाथों स्मार्ट फोन का वितरण

ब्राह्मण स्वयंसेवक संघ की बैठक

बलिया. ब्राह्मण स्वयंसेवक संघ की बैठक त्रिकालपुर, रेवती में संपन्न हुई. बैठक में सर्वप्रथम भगवान परशुराम के तैल चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्वलन करके कार्यक्रम की शुरुआत किया गया. तत्पश्चात भगवान परशुराम की वंदना एवं आरती हुई.

बैठक में मुख्य अतिथि के रुप में प्रदेश महासचिव राजेश कुमार मिश्र उपस्थित रहे. बैठक की अध्यक्षता बासडीह विधानसभा अध्यक्ष ददन पांडे ने किया. बैठक को संबोधित करते हुए कांग्रेस के वरिष्ठ नेता संगठन के जिला संरक्षक सी बी मिश्र ने कहा कि वर्तमान परिवेश में संगठन के प्रासंगिकता अपने आप बढ़ जा रही हैं. उन्होंने कहा कि इस तरह की बैठक हर विधानसभा में होनी चाहिए.

बैठक को संबोधित करते हुए जिला अध्यक्ष बृजेश कुमार दुबे रिंकू ने कहा कि वर्तमान समय में संगठन का सदस्यता अभियान चल रहा है जिस का समापन अक्षय तृतीया भगवान श्रीपरशुराम जी के जयंती पर भव्य कार्यक्रम के रूप में किया जाएगा. संगठन के आजमगढ़ मंडल प्रभारी ओम प्रकाश पांडे ने कहा कि संगठन बलिया के साथ-साथ पूरे प्रदेश में ब्राह्मण समाज के लिए कार्य कर रहा है.

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए संगठन के जिला महासचिव विष्णु कुमार मिश्र ने ब्राम्हण के इतिहास एवं गौरव पर चर्चा किया. संगठन के जिला संरक्षक दयाशंकर तिवारी ने कहा कि भविष्य में संगठन जगह जगह पर संस्कारशाला का आयोजन करेगा जिसमें समाज के बच्चों को धर्म एवं संस्कृति से परिचित कराया जाएगा. मुख्य अतिथि एवं प्रदेश महासचिव राजेश कुमार मिश्र ने कहा कि ब्राह्मण स्वयंसेवक संघ एक आदर्शवान संस्कारवान एवं चरित्रवान समाज की स्थापना के लक्ष्य को लेकर चल रहा है. उन्होंने कहा कि ब्राह्मण है तो संस्कार है. संस्कार है तो संस्कृति है. संस्कृति है तो हिंदुत्व है तथा हिंदुत्व है तो हिंदुस्तान है.

इसलिए हम सभी को अपने संस्कृति एवं संस्कार का जीवन पर्यन्त पालन करना चाहिए. ब्राह्मण स्वयंसेवक संघ इस दिशा में बहुत सारे माध्यमों से बहुत सारे कार्यों से अग्रसर है. उन्होंने सभी से आग्रह किया संगठन को मजबूत करने का काम करें. बैठक में सत्येंद्र कुमार पांडे, राकेश तिवारी, पप्पू चौबे, राजेश तिवारी, रवि मिश्र, विजय मिश्र, राजेश पांडे सहित सैकड़ों की संख्या में ब्राह्मण बंधु उपस्थित रहे.

(बलिया से केके पाठक की रिपोर्ट)

 

बैंकों के निजीकरण के खिलाफ हड़ताल

सिकंदरपुर, बलिया. बैंकों के निजीकरण के खिलाफ सहित वेतन वृद्धि व सप्ताह में पांच दिन बैंकिंग कार्यों की मांग को लेकर अखिल भारतीय बैंक कर्मचारी संघ के आह्वान पर तहसील क्षेत्र के बैंक कर्मचारी हड़ताल पर रहे. बैंक कर्मचारी संगठन द्वारा आहुत दो दिवसीय हड़ताल का सोमवार को पहला दिन था. मंगलवार को भी हड़ताल जारी रहने की संभावना है.

इसके चलते क्षेत्र के यूनियन बैंक, पंजाब नेशनल बैंक व सेंट्रल बैंक की शाखाओं में ताला लटका रहा. लिहाजा दूर-दराज से बैंक शाखाओं में अपना काम-काज निपटाने आए लोगों को खाली हाथ वापस जाना पड़ा. लोगों को बैंकों की हड़ताल के बारे जानकारी न होने के कारण लोग सुबह ही बैंक शाखाओं में पहुंच गए. बैंकों के मुख्य गेट पर ताला लगा देख लोग एक दूसरे से बैंकों के बंद होने का कारण पूछने लगे.

(सिकंदरपुर संवाददाता संतोष शर्मा की रिपोर्ट)

 

 

कृषि निवेश मेला में छाया रहा किसान सम्मान निधि का नवीनीकरण

दुबहर, बलिया. विकासखंड स्तरीय कृषि निवेश मेला का आयोजन विकासखंड दुबहर के सरया ग्राम सचिवालय परिसर में आयोजित किया गया. गोष्ठी में जहां क़ृषि विभाग के अधिकारियों एवं कृषि विशेषज्ञों ने रवि फसल की कटाई के बाद खेत की तैयारी एवं खरीफ फसल की बुवाई के बारे में नई तकनीक की जानकारी दी, वहीं पर किसानों ने कृषि सम्मान निधि का ईकेवाईसी न होने का मुद्दा उठाते रहे. किसानों का कहना था कि ईकेवाईसी कराने का शासन द्वारा निर्धारित समय बहुत ही कम रह गया है और इंटरनेट सेवा की गड़बड़ी के कारण कहीं भी ईकेवाईसी नहीं हो पा रहा है.

ऐसी परिस्थिति में तकनीकी कारणों से किसान सम्मान निधि पाने से वंचित रह सकते हैं. किसानों की समस्या के बारे में कृषि विभाग के जय सिंह, अशोक कुमार, मुकेश कुमार , लाल बहादुर, हरिनाम सिंह, के के पाठक ने इसके नवीनीकरण के अन्य विकल्पों के बारे में जानकारी दी. किसानों की तरफ से शशि भूषण पांडे, गोष्ठी की अध्यक्षता कर रहे वरिष्ठ किसान रामजी चौबे, सोनपुर कला के प्रधान राकेश सिंह,सरया के प्रधान प्रतिनिधि विनोद सिंह ने किसानों की समस्याओं की ओर कृषि विभाग के अधिकारियों का ध्यान आकृष्ट किया. कृषि विशेषज्ञ राम प्रसाद जयसवाल ने कहा कि धरती माता को बचाते हुए कृषि पैदावार बढ़ाना है. पंजाब व हरियाणा में सर्वाधिक पैदावार हो रहा है. इसका कारण यह नहीं है कि वहां पर रासायनिक खादों का इस्तेमाल सर्वाधिक किया जा रहा है. रासायनिक उर्वरक का अधिक इस्तेमाल करने से मिट्टी की उर्वरता समाप्त हो रही है इसलिए किसानों को जैविक खेती जैविक खेती करना आवश्यक हो गया है. किसानों को बताया गया कि हरी खाद के रूप में उड़द, मूंग की फसल लेकर बरसात की प्रारंभ में उसे मिट्टी पलट कर दें इससे जमीन की उर्वरता बनी रहेगी. किसानों को अधिक पैदावार लेने के लिए रसायनिक उर्वरकों पर भी निर्भर नहीं रहना पड़ेगा. किसानों के सवाल के जवाब में लाल बहादुर सिंह ने जैविक खेती पर भी बल दिया.

किसानों को बताया कि आप औषधीय खेती करके अपनी आय को दोगुना कर सकते हैं. किसानों को बताया गया कि प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नारायण सिंह तथा देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी किसानों की आय दोगुनी करने के लिए संकल्पित हैं.

किसानों को प्रधानमंत्री सिंचाई योजना के बारे में भी जानकारी दी गई. बताया गया कि फौव्वारा सिंचाई के लिए 26667 में 22500 की छूट किसानों को दी जा रही है मात्र चार हजार रुपये में उनको पाइप एवं अन्य उपकरण कृषि विभाग के द्वारा उपलब्ध कराया जा रहा है. सोलर सिंचाई के लिए भी बताया गया की 70% की छूट सरकार द्वारा दी जा रही है. किसानों को केवल 30 परसेंट की धनराशि ही भुगतान की जानी है. कृषि विभाग के अधिकारियों ने किसानों को अपना मोबाइल नंबर भी नोट कराया.

(बलिया से केके पाठक की रिपोर्ट)

 

मुख्य राजस्व अधिकारी के हाथों स्मार्ट फोन का वितरण

बलिया. उत्तर प्रदेश में अध्ययनरत युवाओं के तकनीकी सशक्तिकरण हेतु स्मार्ट फोन वितरण योजना के तहत जिला प्रशासन से प्राप्त निर्देश के अनुक्रम में 28 मार्च को शहीद मंगल पाण्डेय राजकीय महिला महाविद्यालय में स्मार्ट फोन का वितरण किया गया.

इस कार्यक्रम में स्मार्ट फोन वितरण महाविद्यालय में अध्ययनरत स्नातक तृतीय वर्ष की पात्र छात्राओं को किया गया.

मुख्य राजस्व अधिकारी विवेक कुमार श्रीवास्तव, प्राचार्य एवं महाविद्यालय के नोडल अधिकारी के हाथों स्मार्ट फोन प्राप्त कर छात्राओं में काफी हर्षोउल्लास देखा गया. स्मार्ट फोन पाने वाली छात्राओं के चेहरे पर भविष्य को लेकर ऑनलाइन शिक्षा एवं ऑन लाइन माध्यम से अध्ययन सामग्री तक पहुंच को लेकर एक उम्मीद की किरण दिखाई दी, जो कि उत्तर प्रदेश में युवाओं के तकनीकी सशक्तिकरण वास्तविक पर उतारने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है. बी०ए० तृतीय वर्ष की छात्रा कु0 रूपाली तिवारी एवं कु० जूही सिंह ने ई-कान्टेन्ट डाउनलोड करने के लिये स्मार्ट फोन की उपयोगिता को रेखांकित किया. माण्डवी मिश्रा तथा लाली ठाकुर ने ऑन लाइन माध्यम से शैक्षिक गतिविधियों में स्मार्ट फोन को महत्वपूर्ण बताया.

कार्यक्रम का संचालन डॉ० चण्डी प्रसाद पाण्डेय एवं धन्यवाद ज्ञापन डॉ० रजनीकान्त तिवारी ने किया.
इस अवसर पर मुख्य राजस्व अधिकारी श्री विवेक कुमार श्रीवास्तव मुख्य अतिथि रहे. उन्होने स्मार्ट फोन के शैक्षिक उपयोग के विषय में छात्राओं को बताया. उन्होंने छात्राओं को प्रेरित करते हुए कहा कि स्मार्ट फोन का शैक्षिक गतिविधियों में उचित प्रयोग कर अनेक प्रकार के ज्ञान विज्ञान से जुड़कर अपने भविष्य को सवार सकते हैं.

इस अवसर पर महाविद्यालय के प्राचार्य राजेश्वर कुमार, महाविद्यालय के स्मार्ट फोन वितरण योजना के नोडल अधिकारी अमित कुमार सिंह डॉ० शिवेन्द्र नाथ दूबे, डॉ० सो० इसरार , डॉ० रजनीकान्त तिवारी, डॉ० चण्डी प्रसाद पाण्डेय ,डॉ० विवेक सिंह, डॉ० रोहित गुप्ता, डॉ० दीपक झा तथा शैक्षणिक कर्मचारी सुरेश प्रसाद, अभिषेक कुमार , शैलेश कुमार यादव एवं मनीष पाठक की गरिमामयी उपस्थिति रहीं.

(बलिया से केके पाठक की रिपोर्ट)

बाइक के पलटने से दो कांस्टेबल घायल

बेल्थरारोड, बलिया. उभांव थाने के दो कांस्टेबल का ड्यूटी पीआरबी डायल 112 नंबर जिला मुख्यालय पर लगा हुआ था ड्यूटी कर वापस लौटते रविवार की देर रात करीब 10 बजे मालदा चट्टी के समीप अचानक एक कुत्ते बाईक के सामने आ गया जिसे बचाने में बाइक असंतुलित होकर पलट गई जिसमें दोनों कांस्टेबल घायल हो गए.

सूचना मिलते ही उभांव थाने की पुलिस मालदा चट्टी पहुंचकर दोनों घायल कांस्टेबल को प्राथमिक उपचार के लिए सीयर समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में दाखिल कराया , जहां पर प्रथमिक उपचार के बाद एक कांस्टेबल कमलेश कुमार 32 वर्ष जो की बाइक चला रहा था गंभीर रूप से घायल हो गया तो वही प्रदीप यादव 40 वर्ष को मामूली चोट लगी है. गंभीर रूप से घायल कमलेश कुमार को प्राथमिक उपचार के बाद चिकित्सकों ने जिला सदर अस्पताल के लिए रेफर कर दिया.

(बेल्थरारोड संवाददाता उमेश गुप्ता की रिपोर्ट)

 

राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई द्वारा चौथे एक दिवसीय शिविर का आयोजन

बैरिया, बलिया. अमरनाथ मिश्र स्नातकोत्तर महाविद्यालय दुबे छपरा, बलिया की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई द्वारा चौथे एक दिवसीय शिविर का आयोजन रविवार को किया गया.

इसके बाद अपराह्न तीन बजे बौद्धिक विमर्श के अंतर्गत एक गोष्ठी का आयोजन किया गया. गोष्ठी का विषय ‘ युवाओं के लिए समय -प्रबंधन का महत्व” था. गोष्ठी में विषय प्रवर्त्तन तथा संचालन करते हुए कार्यक्रम अधिकारी डॉ संजय कुमार मिश्र ने इस समसामयिक टॉपिक के चयन एवं महत्व पर विशद प्रकाश डालते हुए कहा कि अपने कर्त्तव्यों का समयबद्ध तथा वरीयता के अनुसार करना ही समय प्रबंधन है.

(बैरिया से शशि सिंह की रिपोर्ट)