बलिया: छिटपुट घटनाओं के बीच हुआ चुनाव, जिला प्रशासन रहा अलर्ट

बलिया. छिटपुट घटनाओं के बीच गुरूवार को बलिया में छठवें चरण में 2828 बूथों पर 54.27 प्रतिशत मतदान हुआ. कई स्थानों पर ईवीएम में खराबी होने के कारण कुछ देर के लिए मतदान प्रभावित रहा. कयी बूथों पर वोटर लिस्ट में नाम नहीं होने की शिकायतें रहीं.

मतदान का बहिष्कार

फेफना विधान सभा क्षेत्र के तीन बूथों पर करीब तीन हजार मतदाताओं ने रेलवे अंडरपास की मांग को लेकर मतदान का बहिष्कार किया. कई बूथों पर धीमी वोटिंग सामने आईं. लोगों ने इसकी शिकायत कंट्रोल रूम से की. मतदान के दौरान डीएम-एसपी समेत अधिकारी मतदान स्थलों जायजा लेते रहे.

 

ईवीएम मशीन की तकनीकी खराबी

बांसडीह के डूहीमुसी गांव में बूथ संख्या 200 पर  मतदान के शुरुआती दौर में ईवीएम मशीन की तकनीकी खराबी रही. जिसके चलते तीन घंटा तक मतदान बाधित रहा. उसके बाद जिला प्रशासन की तत्परता से मतदान तीन घण्टे बाद शुरू हो सका.

मतदान केंद्रों में डीएम इन्द्र विक्रम सिंह और एसपी राजकरण नय्यर पूरा दिन जायजा लेते  रहे. जिसका नतीजा रहा शांति पूर्ण एवं निष्पक्ष चुनाव कराने में जिला प्रशासन सफल, जिला प्रशासन रहा अलर्ट कि सकुशल चुनाव सम्पन्न हो गया.

 

भाजपा और सपा के समर्थकों के बीच झड़प

बांसडीह विधानसभा क्षेत्र में शांतिपूर्ण चुनाव संपन्न हो गया. सुबह से ही मतदान के प्रति मतदाताओं में काफी उत्साहित दिखा. लेकिन कुछ मतदाताओं का वोटर लिस्ट में नाम न होने के कारण उन्हें मायूस होकर घर वापस लौटना पड़ा . मतदाताओं की लाइन 8 बजे से लेकर 11 बजे तक लगी रही. सुबह एवं दोपहर के बाद भीड़ कम देखी गई. प्रशासन की सतर्कता के वजह से किसी प्रकार का विवाद नहीं हुआ. मतदेय स्थल पर मोबाइल ले जाना सख्त मना था. यहां तक की पत्रकारों को भी मोबाइल ले जाने की अनुमति पुलिस प्रशासन ने नहीं दिया. असेगा गांव में भाजपा व निषाद पार्टी के संयुक्त प्रत्याशी श्रीमती केतकी सिंह व सपा एवं सुभासपा गठबंधन के प्रत्याशी राम गोविंद चौधरी के समर्थकों में हल्की झड़प हुई. दोनों पक्ष एक दूसरे पर आरोप लगा रहा है. इसके अतिरिक्त हर जगह लोगों ने शांतिपूर्ण मतदान किया. थाना प्रभारी मनियर मदन पटेल सहित इत्यादि अधिकारी क्षेत्र में भ्रमण करते दिखे.

 

This item is sponsored by Maa Gayatri Enterprises, Bairia : 99350 81969, 9918514777

यहां विज्ञापन देने के लिए फॉर्म भर कर SUBMIT करें. हम आप से संपर्क कर लेंगे.

बैरिया में कुल मतदान प्रतिशत 47 प्रतिशत

विधानसभा बैरिया (363) क्षेत्र में मतदान की गति थोड़ा धीमा तो जरूर रहा , परन्तु इस चुनाव में मतदाताओं ने सौहार्द, उत्साह और शान्ति तरीके अपना मतदान कर क्षेत्र के लिये एक मिसाल भी कायम कर दिया. बैरिया विधानसभा में कुल मतदान प्रतिशत 47 प्रतिशत रहा.

मतदान के दौरान प्रशासन की तत्परता व सुरक्षाकर्मियों की मुस्तैदी के चलते लगभग पूरे क्षेत्र में फाल्स वोट पर विराम लग गया और यही कारण है कि कही से भी पोलिग बूथों पर विवाद की नौबत नही आई.

मतदान प्रारम्भ होने के एक-दो घण्टों के बीच कर्णछपरा, बैरिया इण्टर कालेज, जयप्रकाशनगर , दलनछपरा तथा चांदपुर आदि जगहों से मतदान मशीनों में कुछ टेक्निकल खराबी की सूचना आई , परन्तु काफी तत्परता से चुनावकर्मियों ने मशीनों को ठीक कर मतदान चालू करा दिया.

मतदान प्रकिया व प्रशासन की मुस्तैदी को लेकर मतदाता भी काफी प्रसन्न दिखे और प्रसाशन की सराहना भी की. बैरिया विधानसभा के मतदान रुझान की चर्चाएं अब जोरो पर है और मतदाताओं की मतदान के बाद भी चुप्पी साधे रहना सभी राजनीतिक दलों के चिन्ता का विषय बना हुआ है. राजनीतिक जानकारों की मानें तो एक ही वोट बैक पर दो प्रत्याशियों की खींचातानी विपक्षी दल के लिए रास्ता को आसान कर सकता है. तो विपक्षी के वोट में हुई सेंधमारी भी समीकरण को उलट पुलट कर सकता है. कोई प्रमुख पार्टी को जीतने की बात कर रहा है तो कोई अप्रत्याशित परिणाम का दावा भी भर रहा है.

 

जब पीठासीन अधिकारी की तबीयत बिगड़ी

बैरिया, बलिया. स्थानीय विधान सभा क्षेत्र के टोला फत्तेराय स्थित प्राथमिक विद्यालय पर नियुक्त पीठासीन अधिकारी अनिल कुमार की तबियत अचानक खराब हो गई. उन्हें इलाज के लिए सोनबरसा सीएचसी पहुंचाया गया, जहां उनका इलाज चल रहा है.

अधीक्षक डाक्टर आशीष श्रीवास्तव ने बताया कि मनियर के रहने वाले अनिल कुमार पीठासीन अधिकारी बनकर टोला फतेयराय में आये थे जहां दोपहर में उनकी तबीयत खराब गयी. उनका इलाज चल रहा है. वह खतरे से बाहर है. दूसरी तरफ एसडीएम अभय कुमार सिंह ने बताया कि प्राथमिक विद्यालय टोला फतेयराय में दूसरा पीठासीन अधिकारी भेजकर मतदान कार्य सकुशल कराया गया.

(बलिया लाइव संवाददाता, बांसडीह से रविशंकर पाण्डेय, मनियर से वीरेंद्र सिंह और बैरिया से शशि सिंह की रिपोर्ट)