बलिया में भाजपा प्रत्याशी पर हमला, अज्ञात के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज, फार्नूचर गाड़ी व चालक पुलिस कस्टडी में

दुबहर, बलिया. स्थानीय थाना क्षेत्र अंतर्गत अखार ग्राम सभा में भाजपा प्रत्याशी व वाई श्रेणी की सुरक्षा प्राप्त दयाशंकर सिंह के ऊपर प्राणघातक हमला करने की कोशिश की गई. उनके साथ चल रहे सुरक्षा गार्ड एवं वाई प्लस की सुरक्षा होने एवं ग्रामीणों के घटनास्थल पर पहुंच जाने से दुर्घटना टल गई. घटना बुधवार की रात्रि 11:30 बजे की है.

भाजपा नेता दयाशंकर सिंह अपने समर्थक प्रेम प्रकाश सिंह पिंटू के पिता की मृत्यु की सूचना के बाद कुशल क्षेम पूछ कर अखार से वापस लौट रहे थे. तभी सड़क पर दयाशंकर के वाहन के सामने एक काले रंग की फॉर्चूनर यूपी 32 ई के 72 73 खड़ी हो गई. दोनों वाहनों के ड्राइवरों के बीच बातचीत हुई फिर तू तू मैं – मैं में बात बदल गई. उसके बाद स्थिति बिगड़ती देख दयाशंकर के साथ चल रहे सुरक्षा कर्मियों एवं घटनास्थल पर ग्रामीणों को देख सामने खड़ी वाहन के ड्राइवर भागने का प्रयास किया. तभी अन्य अज्ञात वाहनों के भागने के दौरान दयाशंकर के साथ चल रही दूसरी वाहन जिसमें टुनजी पाठक बैठे थे, उस गाड़ी के ऊपर राइफल के बट से धक्का मारा गया. जिससे शीशा क्रैक कर गया तथा अन्य वाहन भाग गए. इस बात की सूचना थानाध्यक्ष दुबहर को मिलते ही दुर्घटना स्थल पर पहुंच गए. काले रंग की फॉर्च्यूनर ड्राइवर के साथ पकड़ी गई  जिसे थानाध्यक्ष अपने साथ थाने लेते गए। वहां दयाशंकर सिंह की तहरीर पर दुबहर थाने में भादवी की धारा 341, 352, 504 वह 427 के अंतर्गत मुकदमा संख्या 39 बटा 22 दर्ज किया गया है. फर्नीचर गाड़ी वह उसका चालक पुलिस कस्टडी में है. थानाध्यक्ष आरके सिंह ने बताया कि भाजपा प्रत्याशी दयाशंकर सिंह के तहरीर के अनुसार इस गाड़ी को पूर्वांचल के एक जेल में बंद माफिया के गिरोह में देखा गया है. मुकदमा दर्ज करने के बाद ड्राइवर को थाने में बैठा दिया गया है. इस घटना की सूचना मिलते ही थाने पर समर्थकों का जमावड़ा लगने लगा. किंतु थानाध्यक्ष की तत्काल कार्रवाई के बाद समर्थक वापस लौट गए. 4:00 बजे भोर में भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी दयाशंकर भी वापस लौट गए. थानाध्यक्ष ने बताया कि घटना की सूचना उच्च अधिकारियों को दे दी गई है. जांच के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी.

(बलिया से केके पाठक की रिपोर्ट)