आचार्य विक्रमादित्य की स्मृति में विद्यार्थी ने जरूरतमंद असहायों को दिये शॉल एवं फल

दुबहर, बलिया. स्थानीय क्षेत्र के नगवा गांव में प्रत्येक वर्ष की भांति इस वर्ष भी आचार्य स्व विक्रमादित्य पांडेय की स्मृति में रविवार को सामाजिक चिंतक बब्बन विद्यार्थी ने दर्जनों निराश्रित एवं जरूरतमंद विधवाओं में गर्म ऊनी शाल एवं फल का वितरण किया.

 

इस मौके पर श्री विद्यार्थी ने कहा कि प्रत्येक समर्थवान व्यक्ति को जरूरतमंदों की नि:स्वार्थ भाव से सेवा करना परम धर्म होना चाहिए. समाज में कुछ ऐसे वास्तविक समाजसेवी भी होते हैं, जिन्हें गरीबों की सेवा करने में आनंद की अनुभूति होती है.

 

इस दौरान मंगल पांडेय विचार मंच के अध्यक्ष केके पाठक ने कहा कि आजकल स्वार्थ के कारण परोपकार का स्वरूप बदलता जा रहा है. ऐसे में विद्यार्थी द्वारा नि:स्वार्थ भाव से गरीबों की अनवरत सेवा करते रहना नेक कार्य ही नहीं अपितु सराहनीय एवं सामाजिक दृष्टिकोण से प्रशंसनीय भी है.

 

इस मौके पर विश्वनाथ पांडेय, विमल पाठक प्रधान, रणजीत सिंह, विमल पाठक पोंगा, गोविंद पाठक, गणेशजी सिंह, राजू मिश्रा, नितेश पाठक, उमाशंकर पाठक, रविंद्र पाल, पन्नालाल गुप्ता, राकेश यादव, डा. सुरेशचंद्र प्रसाद, संदीप गुप्ता, अन्नापूर्णानंद तिवारी, त्र्यंबक पांडे गांधी, कुलदीप दूबे, संजय जायसवाल आदि लोग मौजूद रहे.

(बलिया से कृष्णकांत पाठक की रिपोर्ट)

Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.