ब्रेकिंग न्यूज: जवान की इलाज के दौरान मौत, जवान का शव रख ग्रामीणों ने रोकी एनएच की रफ्तार

हल्दी, बलिया. बरेली में ट्रेन में चढ़ने के दौरान टीटीई के धक्के से घायल सेना के जवान की इलाज के दौरान मौत होने के बाद शव जवान के पैतृक गांव भरसौता पहुंचने पर ग्रामीणों ने हल्दी में नेशनल हाइवे पर रखकर सड़क जाम कर दिया। ग्रामीणों ने टीटीई पर हत्या का मुकदमा दर्ज करने तथा उसकी तत्काल गिरफ्तारी की मांग पर अड़ गए। बाद में उपजिलाधिकारी बैरिया व बलिया के आश्वासन पर लगभग तीन घंटे बाद जाम समाप्त हुआ। जिसके बाद जवान के शव का पूरे राष्ट्रीय सम्मान के साथ पचरुखिया के गंगा तट पर अंतिम संस्कार किया गया।

टीटीई के धक्के से घायल सेना के जवान की इलाज के दौरान मौत होने के बाद जवान के शव को ग्रामीणों ने हल्दी में नेशनल हाइवे पर रखकर किया सड़क जाम.

 

टीटीई के धक्के से ट्रेन से नीचे गिर गया था जवान

जानकारी के अनुसार पिछले 17 नवम्बर बरेली रेलवे स्टेशन पर ट्रेन में चढ़ने के दौरान बलिया के भरसौता गांव निवासी व सेना के जवान सोनू सिंह जो राजपूत रेजिमेंट में किशनगढ़ (जयपुर)में तैनात थे जो छुट्टी लेकर घर आया था और छुट्टी बीत जाने के बाद राजधानी एक्सप्रेस ट्रेन से अपनी ड्यूटी पर जा रहा था। बरेली रेलवे स्टेशन पर पानी लेने के लिए ट्रेन से उतरा था और पानी लेकर जब ट्रेन पर चढ़ने लगा तब तक ट्रेन चल दी इसी दौरान टीटीई द्वारा धक्का देने से सोनू नीचे गिर गया। ट्रेन की चपेट में आने से उसका एक पैर कट गया और दूसरा बुरी तरह से कुचल गया। जिसे बरेली के सैन्य अस्पताल में भर्ती कराया गया। अस्पताल में डॉक्टरों ने सोनू की तीन बार सर्जरी की, सोमवार को उसका दूसरा पैर भी काटना पड़ा था।

जवान के शव को ग्रामीणों ने हल्दी में नेशनल हाइवे पर रखकर किया सड़क जाम.

इस दौरान वह बेहोश ही रहा और बुधवार शाम इलाज के दौरान उसकी मौत हो गयी। राजपूत रेजिमेंट में तैनात जवान सोनू सिंह का शव शुक्रवार को बलिया उनके पैतृक गांव भरसौता पहुंचा जिसके बाद ग्रामीणों ने परिजनों के साथ हल्दी थाना क्षेत्र के स्थानीय ढाले पर नेशनल हाइवे 31 पर शव को रखकर सड़क को जाम कर दिया। तथा आरोपी टीटीई पर हत्या का मुकदमा दर्ज करने तथा उसकी गिरप्तारी की मांग करने लगे।

जवान के शव को ग्रामीणों ने हल्दी में नेशनल हाइवे पर रखकर किया सड़क जाम.

थानाध्यक्ष हल्दी सुनिल कुमार सिंह ने इसकी जानकारी क्षेत्राधिकारी बैरिया समेत जिले के आला अधिकारियों को दी।जिसके बाद मौके पर पहुचे उप जिलाधिकारी बैरिया आत्रेय मिश्रा तथाउपजिलाधिकारी बलिया प्रशांत नायक ने आश्वासन दिया कि हत्या का मुकदमा दर्ज कराया जाएगा और शीघ्र ही उसे गिरफ्तार भी कराया जाएगा जिसके बाद परिजन व ग्रामीणों ने धरना को समाप्त किया। ततपश्चात मृतक जवान सोनू सिंह का अंतिम संस्कार गंगा के पचरुखिया घाट पर सेना से आये जवानों द्वारा गार्ड ऑफ ऑनर देकर किया गया।मुखाग्नि उनके तीसरे भाई विपिन सिंह ने दी।

 

इस मौके पर क्षेत्राधिकारी बैरिया उस्मान,हल्दी थानाध्यक्ष सुनील कुमार सिंह,दुबहर एसओ राजेश कुमार मिश्रा,दोकटी थानाध्यक्ष राजीव,सहित पुलिसकर्मी उपस्थित रहे। वहीं घर पर मृतक की माता मंजू देवी,पत्नी अर्चना तथा दोनों बहनों का रोते-रोते बुरा हाल है।
मृतक सोनू चार भाई व दो बहन थे। सोनू चारों भाईयो में दूसरे नंबर का था।इनके पिता अक्षैवर सिंह किसान है बड़ा भाई जितेन्द्र सिंह जो सीआरपीएफ में है,तीसरा भाई विपिन सिंह सेना में भर्ती केलिए तैयारी कर रहे है।वही छोटा भाई विकास पंचायत सहायक के पद गाँव मे ही तैनात है।मृतक सोनू सिंह 2011 में राजपूत रेजिमेंट में भर्ती हुए। तथा उनकी शादी 2016 में रतसड़ में अर्चना सिंह से हुई थी।मृतक की तीन वर्षीय एक लड़की तथा एक माह का लड़का है।

(हल्दी से आरके की रिपोर्ट)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.