अधिवक्ता से साइबर ठगों ने की एक तीस हजार रूपये की ठगी

मनियर, बलिया. यूट्यूब चैनल पर अश्लील वीडियो अपलोड करने की धमकी देकर अधिवक्ता से कई बार में कुल मिलाकर तीस हजार रूपये की ठगे गए.

 

पीड़ित अधिवक्ता मारकंडेय सिंह निवासी देवरार ने पुलिस अधीक्षक बलिया, साइबर सेल बलिया व मनियर एसएचओ को तहरीर देकर दोषी व्यक्तियों के विरुद्ध कार्यवाही करने की मांग की है.

 

अधिवक्ता का आरोप है कि मेरे पास 26 सितंबर 2022 को सायं काल फोन आया. फोन करने वालों ने अपना परिचय सीबीआई ऑफिसर विक्रम गोस्वामी एवं युट्यूब चैनल संजय सिंह बताया.

 

कहा कि आप एक अश्लील वीडियो यूट्यूब चैनल पर अपलोड किए हो. आप को गिरफ्तार कर केस दर्ज किया जाएगा. सीबीआई टीम का गठन कर दिया गया है. बहुत जल्द ही आप को गिरफ्तार कर लेगी. उन लोगों द्वारा गाली के साथ अभद्र भाषा का प्रयोग किया गया. यह भी बताया गया कि हम लोगों के ऊपर काफी डीएम साहब का प्रेशर है.

 

इस वीडियो को यूट्यूब वालों से संपर्क कर डिलीट करवाओ और डिलीट की कापी मुझे सेंड करो. यूट्यूब वाले का भी बार-बार फोन आ रहा था कि सीबीआई वाले हमें भी गाली दे रहे हैं. तुम क्या कहते हो? वीडियो डिलीट करवानी है या नहीं.

उन लोगों ने पहले से ही पीड़ित अधिवक्ता के व्हाट्सएप पर एक सीबीआई का आईडी और फोन पे अकाउंट भेजा था जिसमें किसी इरशाद खान और गुलशन सिंह का फोन पे और क्यू आई आर कोड दिया गया था. यह बताया गया कि वीडियो 10 सेकंड का है. डिलीट करने का चार्ज दस हजार पाँच सौ रूपये लगेगा. जिसमें दस हजार रूपये रिफंड हो जाएगा. पीड़ित अधिवक्ता ने दस हजार रूपये भेज दिया. फिर कहा गया कि एक और वीडियो 15 सेकंड की है. इसको डिलीट करने के लिए पन्द्रह हजार पांच सौ रूपये लगेंगे. जब प्रार्थी ने कहा कि पैसे नहीं है तो फिर उनको भद्दी भद्दी गाली दी गई.

 

डिप्रेशन में आकर अधिवक्ता ने ग्यारह हजार पाँच सौ रूपये भेज दिया. कुल मिलाकर अधिवक्ता ने फोन पे एवं जन सेवा केंद्र के माध्यम से कुल तीस हजार रूपये भेजा. जब अधिवक्ता को अपने ठगी होने का आभास हुआ तो वह मनियर थाने पर गया वहां पर उसे पता चला कि यह साइबर फ्राड का मामला है.

(मनियर संवादाता वीरेंद्र सिंह की खास रिपोर्ट)