दिव्यांग पेंशन के लिए 15 सितम्बर तक आधार से लिंक और किसान 14 सितम्बर तक ईकेवाईसी अवश्य कराये

news update ballia live headlines

बलिया. जनपद में दिव्यांग भरण-पोषण अनुदान (दिव्यांग पेंशन) तथा कुष्ठावस्था पेंशन प्राप्त कर रहे समस्त लाभार्थियों को सूचित करते हुए जिला दिव्यांगजन सशक्तिकरण अधिकारी ए.के. गौतम ने बताया है कि किसी भी सहज जनसेवा केन्द्र/लोकवाणी अथवा स्वयं स्मार्ट फोन के माध्यम से www.sspy-up.gov.in पोर्टल पर अपना मोबाइल नं० पंजीकृत करते हुए अपने आधार का प्रमाणीकरण 15 सितम्बर तक अवश्य करा लें. जिन लाभार्थियों के आधार प्रमाणीकरण किसी कारणवश नहीं हो पा रहे हैं, तो ऐसे लाभार्थी किसी भी कार्य दिवस में कार्यालय जिला दिव्यांगजन सशक्तीकरण अधिकारी, विकास भवन के कक्ष सं0 07 (भूतल) में अपना आधार कार्ड की छायाप्रति एवं बैंक पासबुक कीछायाप्रति, मोबाइल नं० सहित सम्पर्क कर अपना आधार प्रमाणीकरण करा सकते हैं. आधार प्रमाणीकरण न होने की स्थिति में वित्तीय वर्ष 2022-23 में दिव्यांग पेंशन की द्वितीय किश्त का भुगतान निदेशालय द्वारा किया जाना संभव नहीं हो सकेगा.

 

खरीफ फसल में मक्का की फसल में फाल आर्मी एंव तना छेदक रोग के प्रकोप से बचाव/सुझाव जारी

बलिया. जिला कृषि रक्षा अधिकारी धर्मेन्द्र कुमार सिंह ने बताया है कि वर्तमान खरीफ फसल में मक्का की फसल में फाल आर्मी एंव तना छेदक कीट का प्रकोप कहीं-कहीं परिलक्षित हो रहा है. मक्के की फसल की विशेष निगरानी करते हुए कीट/रोग की संक्रमण होने पर स्थित में पौधे के उक्त भाग को हटा दे, जिससे कीटो का फैलाव अधिक नहीं हो सके. मक्का की फसल में फाल आर्मी एंव तना छेदक कीट से बचाव हेतु आप को सामान्य जानकारी होना चाहिये. उक्त के कम में रोग के प्रकोप से बचाव एंव प्रबन्धन हेतु जारी सुझाव एंव संस्तुतिया निम्न प्रकार है. जिसमें ग्रीष्मकालीन जुताई से सुसुप्तावस्था के प्यूपा नष्ट हो जाते है, लाईट ट्रैप 5 प्रति एकड कि दर से रात्रि के समय लगाने से प्रौढ़ कीट मर जाते है, मक्के कि फसल के चारों तरफ 3-4 कतार में ट्रैप फसल जैसे नैपियर की बुआई करनी चाहिए.
अंतर फसल के रूप में मक्के के साथ लोबिया कि 2:1 के अनुपात में बुआई करनी चाहिए. कार्बोफ्यूरान तीन प्रतिशत सी.जी. 33.3 किलोग्राम प्रति हेक्टेयर कि दर से बुरकाव अथवा डाईमेथोएट 30 प्रतिशत ई.सी. 660 मिलिलीटर प्रति हेक्टेयर कि दर से 500-1000 लीटर पानी अथवा थैमेथोक्साम 12.60 प्रतिशत + लैम्ब्डा साईहैलोथ्रीन 9.5 प्रतिशत जेड.सी. 125 मिलीलीटर प्रति हेक्टेयर कि दर से 500-600 लीटर पानी में घोल बनाकर छिड़काव करे.

 

 

मत्स्य पालकों को वैज्ञानिक ढंग से मत्स्य पालन करने के लिए दिये ट्रिप

बलिया. मत्स्य पालक विकास अभिकरण के तत्वावधान में जिलाधिकारी महोदया के निर्देशानुसार पर मत्स्य उत्पादन में वृद्धि हेतु विशेष मत्स्य पालन प्रशिक्षण सोमवार को ग्राम सभा मैरीटार में आयोजन किया गया. जिसमें संजय कुमार, मुख्य कार्यकारी अधिकारी, मत्स्य द्वारा बताया गया कि मत्स्य पालन में वृद्धि हेतु मत्स्य पालकों को वैज्ञानिक ढंग से मत्स्य पालन करना चाहिए एवं मत्स्य आहार का नियमित प्रयोग कर मत्स्य उत्पादकता बढ़ावे. श्री वी०वी० ओझा, म०प्र०स० द्वारा विभागीय योजनाओं एवं मत्स्य रोग की रोकथाम हेतु विस्तृत जानकारी दी गयी. यह जानकारी मुख्य कार्यकारी अधिकारी मत्स्य पालक विकास अभिकरण ने दी है.

 

 

 

पीएम किसान पोर्टल पर 14 सितम्बर तक ईकेवाईसी अवश्य कराये अन्यथा

बलिया. प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजनान्तर्गत जनपद में अब तक कुल 67 प्रतिशत कृषकों के द्वारा ही पीएम किसान पोर्टल पर ईकेवाईसी पूर्ण कराया गया है. जनपद के अन्य समस्त लाभार्थी किसान भाईयों को सूचित करते हुए उप कृषि निदेशक इंद्राज ने बताया है कि पीएम किसान पोर्टल पर मालब 14 सितम्बर तक नही कराये तो योजना की अगली किश्त से वंचित हो जायेंगे. समस्त लाभार्थी कृषकों से अनुरोध है कि पीएम किसान की वेबसाइट www.pmkisan.gov.in पर जाकर अपने एण्ड्रायड मोबाईल नम्बर से ओटीपी के माध्यम से अथवा अपने क्षेत्र के नजदीकी किसी भी कॉमन सर्विस सेण्टर/जनसेवा केन्द्र पर जाकर आधार कार्ड से पीएम किसान पोर्टल पर अपना ईकेवाईसी बायोमेट्रिक प्रोसेस के द्वारा 14 सितम्बर तक अवश्य करा ले, अन्यथा की स्थिति में योजना की धनराशि प्राप्त नहीं हो सकेगी.

(बलिया से केके पाठक की रिपोर्ट)