बांसडीह: टेंपो और मोटरसाइकिल की जोरदार भिड़ंत में छह बच्चों सहित 12 घायल

बांसडीह, बलिया. बांसडीह मनियर मार्ग स्थित सतपोखर पेट्रोल पंप के पास बच्चो से भरी मनियर से आ रही टेम्पो एव बांसडीह की तरफ से जा रही मोटरसाइकिल की जोरदार भिड़ंत में छह बच्चों सहित 12 घायल हो गए.

 

चीख पुकार सुनकर आसपास के लोगो ने घायलों को बांसडीह सीएचसी पहुंचाया. गम्भीरवस्था में घायलों को जिला अस्पताल भेज दिया गया.
जानकारी के अनुसार शनिवार की सुबह करीब सात बजे के आसपास स्थानीय कस्बे के पाण्डेय के पोखरा स्थित पेट्रोल पम्प के आगे भारी बारिश में मनियर से आ रही सवारियों से भरी टेंपो एव बाँसडीह की तरफ से जा रही मोटरसाइकिल में जोरदार भिड़ंत हो गयी जिसमे बांसडीह पढ़ने के लिए आ रहे  छ: बच्चे तीन महिलाएं एवं एक पुरूष एव मोटर साइकिल सवार दो युवक गंभीर रूप से घायल हो गये. घायलों की चीख पुकार सुनकर आस पास के लोगो ने बाँसडीह समुदायिक स्वास्थ केंद्र बाँसडीह पहुचाया. घटना के बाद मौके पर ऑफर तफरी का माहौल बन गया. इस घटना से कोहराम मच गया.

गंभीर रूप से घायलों में मोटरसाइकिल सवार कृष्ण कुमार उम्र लगभग 22 नीरज कुमार उम्र लगभग 20के आसपास निवासी बड़सरी जागीर थाना मनियर एव टेम्पो में सवार निशु वर्मा पुत्री बृजेश वर्मा उम्र 12 निवासी गौरी शाहपुर,शीला देवी पत्नी शंकर दयाल उम्र 30,सोनी देवी पत्नी जय प्रकाश उम्र 30, निवासी मनियर को उचित उपचार हेतु जिलाचिकित्सालय भेज दिया गया.

वहीं मामूली रुप से घायलों में राज मौर्य पुत्र सुभाष मौर्य उम्र 10,आरती देवी पत्नी मनोज थाना सहतवार,बादल पुत्र मनोज उम्र 11 थाना सहतवार, भरत पुत्र स्व भीरुग उम्र 62 निवासी थाना सहतवार,पुरुषोत्तम पुत्र सुगन राजभर उम्र 11 निवासी धसका थाना मनियर, का प्रथमिक इलाज के बाद घर भेज दिया गया. घायल सभी बच्चे मनियर से आ रही टेंपो में बांसडीह स्थित एक निजी नवोदय कोचिंग पढ़ने के लिये आ रहे थे. वहीं टेंपो सवार महिलाएं मनियर से बाँसडीह आ रही थी.

This item is sponsored by Maa Gayatri Enterprises, Bairia : 99350 81969, 9918514777

यहां विज्ञापन देने के लिए फॉर्म भर कर SUBMIT करें. हम आप से संपर्क कर लेंगे.

बांसडीह सीएचसी की खुली पोल
एक तरफ सरकार स्वास्थ्य महकमा को सुदृढ़ करने मैं लगा हुआ है. स्वास्थ्य मंत्री ब्रजेश पाठक सभी जनपदों में स्वास्थ्य सेवाओं को दुरुस्त करने में लगे हुए हैं. वहीं बांसडीह का स्वास्थ्य महकमा दुरुस्त होने का नाम नहीं ले रहा है. राजनीति का केंद्र बन चुका बांसडीह अस्पताल इसका जीता जागता उदाहरण है. सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बांसडीह पर कुल चार चिकित्सकों की तैनाती है,एक अधीक्षक सहित तीन . लेकिन विभागीय लापरवाही से मौके पर इनमें से कोई चिकित्सक घायलों के इलाज के लिये मौजूद नहीं था.

खबर के बाद एक संविदा चिकित्सक मौके पर पहुंचे तब तक पांच गम्भीरवस्था में घायलों को जिला अस्पताल के लिये भेजा जा चुका था.

(बांसडीह संवाददाता रवि शंकर पांडे की रिपोर्ट)