रसड़ा: कैंडल मार्च निकालकर लोगों ने किया विरोध प्रदर्शन

रसड़ा, बलिया. राजस्थान के जालौर जिले में इंद्र कुमार मेघवाल को मटकी से पानी पीने को लेकर हुई मौत एवं शिक्षिका की निर्मम हत्या के विरोध में मंगलवार की सांय लोगों ने कैंडल मार्च निकालकर विरोध प्रदर्शन किया.

 

प्रशिक्षु कोतवाली प्रभारी उस्मान स्पेक्टर सुभाष चंद यादव को चार सूत्रीय मांग पत्र सौंपा कर कैंडल मार्च समाप्ति किया. नगर के कोटवारी मोड़ से प्रकाश भारती प्रकाश एवं दुर्ग विजय कुमार धर्मचंद के नेतृत्व में छात्र मजदूर किसान ने कैंडल मार्च नगर भ्रमण करते हुए गांधी पार्क में पहुंची. वहां गांधी जी की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर चार सूत्रीय मांग पत्र सौंपा.

 

मांग पत्र में मांग किया कि दलित उत्पीड़न रोकने हेतु शक्त न्यायिक व्यवस्था की जाय, केंद्रीय एवम राज्य शिक्षा मंत्री इस्तीफा दें, ऐसे विद्यालयों को जांच कर बंद किया जाए, पीड़ित परिवार को एक करोड़ की मदद दी जाए. किसान नेता राघवेंद्र कुमार ने कहां की आजादी के इतने दिनों के बाद भारतीय संविधान लागू होने के बावजूद भी जाति उत्पीड़न को सरकार रोक नहीं पा रही हैं जो बड़े शर्म की बात है. एक तरफ सरकार द्वारा स्वतंत्रता की अमृत महोत्सव मनाई गई दूसरी तरफ दलित उत्पीड़न हो रहा है. अपनी अस्मिता बचाने के लिए दलित शोषित समाज को सड़क पर उतरना पड़ रहा है. इसके पूर्व लोगों ने उनके तेल क्षेत्र का पुष्प अर्पित कर श्रद्धा सुमन अर्पित किया.

इस मौके पर गौतम, बादल कुमार राठौर, दीपक गौतम, अनिल आकाशदीप, अमरेश, अरुण कुमार, अमित भारती सोनू, अरविंद, दीपक, बलराम रावत, मनीष, दिनेश आदि उपस्थित रहे.

(रसड़ा से संतोष सिंह की रिपोर्ट)