डीएम ने भागड़ नाला से जलकुंभी साफ कराने और बंद पानी टंकियों को तत्काल शुरू कराने का दिया निर्देश

बैरिया, बलिया. जिलाधिकारी सौम्या अग्रवाल ने गुरुवार को बैरिया ब्लॉक में प्रधानों व ग्राम पंचायत अधिकारियों की बैठक कर अपने अपने ग्राम पंचायतों में भागड़नाला से जलकुंभी तत्काल निकलवाने का निर्देश दिया. ताकि जल प्रवाह बना रहे और जलभराव की स्थिति न उत्पन्न होने पाए.

 

उक्त कार्य मनरेगा के तहत मजदूरों से कराने की हिदायत भी ग्राम प्रधानों व ग्राम सचिवों को दी. वहीं बंद पड़ी पानी टंकियों को तत्काल राजवित्त से धन लगाकर चालू कराने का निर्देश ग्राम प्रधानों को दिया. कहा चाहे जितना भी पैसा लगे लगाओ ग्रामीणों को स्वच्छ पेयजल उपलब्ध कराया जाय.

 

ग्राम प्रधानों ने बजट का रोना रोया तब जिलाधिकारी ने कहा व्यवस्था करके पानी टंकी को चालू कराया जाए लोगों को कनेक्शन देकर पैसा वसूले जाए और उससे खर्च को एडजस्ट किया जाए.

 

उल्लेखनीय है कि दोपहर 1 बजे के लगभग अचानक जिला विकास अधिकारी रजित राम मिश्र बैरिया ब्लॉक पर आ धमके और खंड विकास अधिकारी सहित अधीनस्थों को व्यवस्था के प्रति फटकार लगाते हुए तत्काल ग्राम प्रधानों व ग्राम सचिवों की बैठक बुलाने का निर्देश खंड विकास अधिकारी को दिए. बताया कि जिलाधिकारी बैठक करने के लिए ब्लॉक पर आ रही हैं. इतना सुनते अधीनस्थों के हाथ-पैर फूल गए और आनन-फानन में ग्राम प्रधानों तथा ग्राम पंचायत अधिकारियों की बैठक बुलाई गई। सब को फोन करके तत्काल बैरिया ब्लॉक में पहुंचने का निर्देश दिया गया.कुछ देर बाद वहां नारायणगढ़ श्रीकांत पुर, श्रीनगर, गोपालपुर, भीखा छपरा, तालिबपुर, कोटवां सहित कई गांव के प्रधान तथा ग्राम पंचायत अधिकारी ब्लॉक पर पहुंच गए. कुछ ही देर बाद जिलाधिकारी सौम्या अग्रवाल भी ब्लॉक पर पहुंची.

 

बैठक में प्रधानों को जब भागड़ नाला से जलकुंभी निकलवाने का निर्देश जिलाधिकारी ने दिया, तो कुछ प्रधानों ने कहा की भागड़ नाला में कुछ स्थानों पर काश्तकारी जमीन है, उसमें काश्तकार सफाई नहीं करने देंगे. जिलाधिकारी ने कहा जहां ग्राम पंचायत हो वहां कराइए बाकी इसकी भी व्यवस्था मैं कर दूंगी.

 

इस बैठक में मुख्य विकास अधिकारी प्रवीण वर्मा, डीडीओ राजित राम मिश्र, खंड विकास अधिकारी शैलेश कुमार मुरारी, एडीओ पंचायत रितेश राय, ग्राम पंचायत अधिकारी जगनारायण यादव, अरविंद यादव, प्रवीण मौर्य, हेमंत कुमार, ग्राम प्रधान जितेंद्र वर्मा वंदना गुप्ता, भुनेश्वर राम, रीता देवी, आशा देवी आदि मौजूद थीं.

 

मुख्य विकास अधिकारी ने पत्रकारों को बैठक में जाने से क्यों रोका, चर्चा में रहा

जिलाधिकारी के साथ ग्राम प्रधानों और सचिवों के बैठक में पत्रकारों को जाने से मुख्य विकास अधिकारी ने रोका और कहा कि पत्रकार भीतर न जाए. एक छायाकार बैठक में जाकर फोटो खींचने लगे तो उन्हें सीडीओ ने कड़ी फटकार लगाते हुए बाहर का रास्ता दिखा दिया. सीडीओ के इस आचरण से पत्रकारों में रोष व्याप्त है आखिर भागड़ नाला की सफाई के लिए बैठक में किस गोपनीय एजेंडे पर वार्ता होनी थी सीडीओ ने पत्रकारों को बैठक में जाने से रोका इसको लेकर तरह-तरह की चर्चा व्याप्त है.

 

(बैरिया संवाददाता वीरेंद्र मिश्र की रिपोर्ट)