टाउन इंटर कॉलेज में चित्रकला प्रदर्शनी का जिलाधिकारी ने किया शुभारंभ

  • राज्य ललित कला अकादमी की ओर से लगाई गई थी प्रदर्शनी

बलिया. राज्य ललित कला अकादमी उत्तर प्रदेश लखनऊ की ओर से टाउन इंटर कॉलेज बलिया में लगाई गई चित्रकला प्रदर्शनी का शुभारंभ मुख्य अतिथि जिलाधिकारी सौम्या अग्रवाल ने दीप प्रज्वलित कर किया. वह बच्चों की कलाकृतियों को देखकर मंत्रमुग्ध हो गई उन्होंने नवांकुर चित्रकारों की कलाकृतियों की बारीकियों से ध्यानपूर्वक देखा और बच्चों को प्रोत्साहन करते हुए कहा कि इनकी पेंटिंग बहुत ही सुन्दर एवं सराहनीय है.

 

कार्यक्रम के संयोजक डॉ. इफ़्तेखार खान से उन्होंने कहा कि प्रदर्शनी समापन के बाद इनकी कलाकृतियों को सेलेक्ट करके कलेक्ट्रेट में प्रदर्शित किया जाएगा जिसको दूरदराज से आने वाले लोग देखेंगे और वे तनाव से मुक्त होंगे. उन्होंने कहा कि यहां के बच्चों की प्रतिभा तारीफ ए काबिल है.

 

राजकीय इंटर कॉलेज बलिया के कला अध्यापक डॉ. इफ़्तेख़ार खान की भूरी भूरी प्रशंसा करते हुए उन्होंने कहा कि काफी लगन और मेहनत से इन्होंने बच्चों की जिंदगी सवारने में अपना योगदान दे रहे हैं. आईआईटी से मास्टर ऑफ डिजाइन कर चुके प्रशिक्षक इरशाद अहमद अंसारी तथा जामिया मिलिया इस्लामिया दिल्ली से फाइन आर्ट कर रहे प्रशिक्षक मु.कैफ खान के साथ ही टाउन इंटर कॉलेज बलिया के प्रधानाचार्य अखिलेश कुमार सिन्हा को अच्छी व्यवस्था सहित पूरे विद्यालय की सराहना की.

 

 

उत्कर्ष, आकांक्षा गुप्ता, अनंत गुप्ता, ऋषभ राज, आकर्षिका, आरत्रिका,  तेजस कुमार,  काजल वर्मा रिद्धि, मेनका सिंह , तेजस, सिदरा, इमाम, हर्षिता वर्मा, हर्षित कुमार, विनीत मौर्य, अनुग्रह, नारायण सिंह, बलदीप सिंह, फलक कुरेशी, आशीर्वाद, सुहेल, शब्दिता सिंह, श्यामा पांडे , आंचल, अंजली कुशवाहा, राघवेंद्र प्रताप, अंशमढ़ी, अनीशा सिंह,
आराध्या सिंह, दीपशिखा, तृप्ति,  अनुराग , करीना खातून, रिधिमा गुप्ता, अनस खान, नाहिद, परवीन और कैफ खान की कलाकृतियों को विशेष रूप से सराहा.

 

 

विद्यालय के प्रधानाचार्य अखिलेश सिन्हा ने बच्चों को प्रोत्साहित करते हुए कहा कि यह प्रशिक्षक और बच्चों की मेहनत का फल प्रदर्शनी है. डॉक्टर खान ने बताया कि यह प्रदर्शनी नमामि गंगे पर आधारित है जिसमें गंगा इकोसिस्टम(परिदृश्य) नदी, पहाड़,झरना तथा पशु और पक्षियों पर आधारित प्राकृतिक दृश्य चित्रण किया गया है. इससे गंगा के प्रति बच्चों में आस्था बढ़ेगी. इस तीन दिवसीय प्रदर्शनी का समापन 30 जून को होगा. प्रदर्शनी प्रत्येक दिवस प्रातः 11 बजे से शाम 6 बजे तक खुली जनमानस के लिए रहेगी.

 

(बलिया से केके पाठक की रिपोर्ट)