श्रीनाथ मठ में ऐतिहासिक रोट पूजन और लाठी पूजन में भक्तों ने लाठियों संग किया शौर्य व शक्ति का प्रदर्शन

रसड़ा, बलिया. क्षेत्र के नगपुरा स्थित श्रीनाथ मठ पर आयोजित ऐतिहासिक रोट पूजन एवम लाठी पूजन में श्रीनाथ भक्तो ने भीषण गर्मी में भी अपने लाठियों संग शौर्य एवम शक्ति का प्रदर्शन कर अपने इष्टदेव को प्रसन्न किया. लाखों श्रद्धालुओं की लाठियों की संगम से नाथ नगरी गुजायमन रहा.  श्रीनाथ बाबा का रोट का प्रसाद सर्व प्रथम सूफी संत रोशन शाह के साथ साथ रसड़ा नागपुर कन्सो सहित महराजपुर श्रीनाथ मठों पर प्रसाद चढ़ाया गया.

 

सर्व प्रथम तिकादेवरी एवम नगपुरा के ग्रामीणों ने जयकारों के बीच लाठियों संग परिक्रमा कर पूजा की शुरुआत किया. उसके बाद गोविंदपुर मंगरौली बंकापुर कलना कझारी नफरेपुर के ग्रामीणों ने लाठियों संग पूजा किया. इसके बाद अलग अलग गावों के हजारों श्रीनाथ भक्त लाठियों संग प्रर्दशन कर आना शुरू हुआ जो देर शाम तक सिलसिला जारी रहा.

नागपुर डेहरी कोटवारी अठिलापुर नगहर सरदासपुर रामपुर जाम सुल्तानपुर कन्सो पटना खड़ंसरा मन्दा अमहर दक्षिण पट्टी हिताकापूरा परसिया मुड़ासन पकड़ी खेजुरी सहतवार कटहुरा मुंडेरा नीबू कबीरपुर कट्या अठगावा अमवा के सती माई संवरुपुर पचवार आदि सैकडों के गांव श्रीनाथ भक्त शामिल रहे. जनपद ही नहीं गैर जनपद के श्रद्धालु अपने अपने वाहनों से सपरिवार लाठियों संग आकर पूजा किया.

 

इस मौके विधायक उमाशंकर सिंह, पूर्व विद्यायक सुरेन्द्र सिंह, नपा कार्यवाहक अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सोनी, सतीश सिंह, महंथ कौशलेन्द्र गिरी, रमेश सिंह, , चंद्रशेखर सिंह, विजय शंकर यादव, गोविन्द नरायण सिंह, पूर्व प्रमुख अनिल सिंह, सतीश कुमार सिंह, निर्भय सिंह, सुनील सिंह, आदि लोग शामिल रहे.

विधायक उमाशंकर सिंह द्वारा पेयजल और रुह्वाआवजा की व्यवस्था की गयी थी. वहीं सर्व समाज विकास ट्रस्ट सहित गांव लोग भी अपने अपने घरों पर स्टाल लगाकर पेयजल पिला रहे थे.

श्रीनाथ भक्तो ने लाठियों संग हैरतअंगेज प्रदर्शन कर पुराने जमाने की याद ताजा कर दी. श्रीनाथ भक्तों ने अपने लाठियों संग अदभुत कला प्रदर्शन कर अपनी कला बाजी का अनोखा प्रदर्शन कर खूब वाहवाही लूटी. जगह जगह पुलिस व्यवस्था की गयी थी. सुरक्षा में कई थानों के फ़ोर्स एवम पीएसी बल तैनात रहा.
श्रीनाथ बाबा का पूजा में श्रीनाथ भक्तों का उत्साह एवम जज्बा भीषण गर्मी में भी देखने लायक था. श्रीनाथ बाबा के पूजा में सेंगर बंश के साथ साथ सभी जातियो के लोग एवम मुस्लिमों ने भी बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया. ये पूजा एक बार फिर सांप्रदायिक एकता एवम आपसी सौहार्द का मिशाल पेश किया.

अगली पूजा कन्सो पटना में किये जाने की घोषणा की गयी. ये पूजा हर श्री नाथ मठ पर दो वर्ष पर की जाती है. कोरोना काल मे ये पूजा नही हुई थी. श्री नाथ बाबा के चढ़ावा में तीन लाख एक हजार एक रुपया देकर सुल्तानपुर ने प्रथम स्थान प्राप्त किया. वहीं दो लाख पच्चास एक रुपया चढ़ा कर दूसरा स्थान नगहर ने प्राप्त किया. कन्सो पटना नागपुर खेजुरी महराजपुर के ग्रामीण अपने श्री नाथ बाबा का पूजा करके चले जबकि रसड़ा श्री नाथ बाबा पर हिता का पूरा बनियाबान्ध उतर पट्टी समेत नगर के श्रद्धालु पूजा अर्चन करके नगपुरा पूजा किया.

(रसड़ा से संतोष सिंह की रिपोर्ट)