सरकार के खिलाफ शिक्षा प्रेरकों ने खोला मोर्चा पहली को बलिया, 15 दिसंबर को लखनऊ में करेंगे प्रदर्शन

बैरिया, बलिया. स्थानीय सन्त सुरजन बाबा पोखरा परिसर में रविवार को मुरली छपरा व बैरिया के प्रेरको की संयुक्त बैठक हुई. जिसमें सर्वसम्मति से आगामी एक दिसम्बर को जिला मुख्यालय स्थित बापू भवन टाउन हॉल में समस्त प्रेरक सुबह नौ बजे पहुंच जाये. जहा से पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार कलेक्ट्रेट परिसर में धरना प्रदर्शन कार्यक्रम को सफल बनाया जा सके.

इस अवसर पर संघ के राष्ट्रीय महासचिव अमरजीत सिंह ने कहा कि उक्त धरना प्रदर्शन में प्रेरक, बीसी व डीसी का लगभग 40 माह का मानदेय का भुगतान, पुनः बहाली सहित विभिन्न मुद्दों पर रणनीति तय की जाएगी.

(बैरिया से संवाददाता वीरेंद्र मिश्र की रिपोर्ट)

 

 

बलिया. आदर्श लोक शिक्षा प्रेरक वेलफेयर एसोसिएशन की बैठक कंपनी बाग में जिला अध्यक्ष विजय प्रसाद की अध्यक्षता में हुई. इसमें संगठन के राष्ट्रीय महामंत्री अमरजीत सिंह ने आवाहन किया कि बलिया के सभी प्रेरक पहली दिसंबर को जिला मुख्यालय पर विशाल प्रदर्शन करेंगे. इसकी तैयारी जोर शोर से शुरू हो गई है. कहा कि प्रेरकों को डटकर लड़ाई लड़ने का समय आ गया है. उन्होंने करो या मरो का भी नारा दिया. राष्ट्रीय महामंत्री ने कहा कि 15 दिसंबर को लखनऊ में प्रदेश स्तरीय धरना प्रदर्शन होगा.

इसमें सभी जनपदों के प्रेरक अधिक से अधिक संख्या में पहुंचेंगे. सरकार के खिलाफ अपनी मांगों की आवाज बुलंद करनी होगी. शिक्षा प्रेरकों के बहाली तक यह संघर्ष जारी रहेगा.

कलेक्ट्रेट परिसर में स्थित कंपनी बाग में प्रेरकों की बैठक को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय महामंत्री ने कहा कि महर्षि भृगु बाबा की धरती से चिंगारी निकलेगी और लखनऊ में होने वाले धरना प्रदर्शन में ज्वाला का रूप लेगी. श्री सिंह ने बताया कि इस धरना प्रदर्शन में जुलूस द्वारा विधानसभा का घेराव किया जाएगा.

 

सरकार ने प्रेरकों के साथ घोर अन्याय किया है. अपनी मांगों के संबंध में प्रेरकों का प्रतिनिधिमंडल बार-बार सरकार के मंत्रियों से मिलकर अपनी जायज मांगे रखता रहा है लेकिन किसी मंत्री ने प्रेरकों की बात सरकार तक नहीं पहुंचाई. सरकार प्रेरकों का बकाया मानदेय एवं सेवा बहाली नहीं करती है तो प्रेरक विधानसभा के सामने आंदोलन करने को विवश है.
लोक शिक्षा समिति दुबहर के ब्लॉक समन्वयक कृष्णा कान्त पाठक ने प्रेरकों का आवाहन किया कि सभी प्रेरक पहली दिसंबर को धरना प्रदर्शन के लिए क्रांति मैदान टाउन हॉल 9:09 बजे सुबह एकत्रित हो वहां से जुलूस के शक्ल में सभी प्रेरक जिला मुख्यालय पहुंचकर जिलाधिकारी को मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन सौंपेंगे. पहली मांग बकाया मानदेय भुगतान तथा दूसरी मांग सेवा बहाली है. जब तक यह दो मांगे पूरी नहीं होती है, प्रेरक संघर्ष करते रहेंगे. हनुमानगंज के ब्लॉक समन्वयक संतोष कुमार प्रियदर्शी ने आवाहन किया कि हम सभी लोग मिलकर इस धरना को सफल बनाएंगे, क्योंकि सबके सामने भुखमरी की समस्या उत्पन्न हो गई है. लंबी अवधि का मानदेय न मिलने से शिक्षा प्रेरकों के सामने विकट समस्या पैदा हो गई है. सरकार का कोई प्रतिनिधि या अधिकारी शिक्षा प्रेरकों की उचित मांगे सुनने को तैयार नहीं है.

 

प्रेरक संघ के जिला अध्यक्ष विजय प्रसाद ने कहा कि 1 दिसंबर को बलिया में धरना प्रदर्शन को सफल बनाने के लिए जनपद के सभी प्रेरक सुबह 9:00 बजे तक टाउन हॉल के मैदान में पहुंच जाएं जहां से जिलाधिकारी कार्यालय के लिए सभी प्रस्थान करेंगे वहां अपनी मांगों का ज्ञापन सौंपा जाएगा. कहा कि हम लोगों का मानदेय 40 माह का बकाया है. आज तक सेवा बहाली नहीं की गई है और न ही हम लोगों के बारे में किसी तरह की सूचना सरकार की तरफ से दी गयी है. शिक्षा प्रेरकों के सामने विकट समस्या सरकार की गलत नीतियों के कारण पैदा हो गई है , कितने प्रेरक दवा के अभाव में दुनिया को अलविदा कह गए.

 

(बलिया से कृष्णकांत पाठक की रिपोर्ट)

 

 

(