बलिया का बेटा बना पत्रकारिता के प्रतिष्ठित संस्थान आईआईएमसी के बोर्ड ऑफ स्टडीज का सदस्य

बांसडीह/नई दिल्ली. भारतीय सूचना सेवा के प्रशिक्षण और पत्रकारिता की पढ़ाई के तीर्थ के रूप में प्रतिष्ठित भारतीय जनसंचार संस्थान के बोर्ड ऑफ स्टडीज का सदस्य बलिया निवासी उमेश चतुर्वेदी को बनाया गया है. पत्रकारिता की पढ़ाई के लिए दुनियाभर में प्रतिष्ठित भारतीय जनसंचार संस्थान (आईआईएमसी) के पाठ्यक्रम, प्रशिक्षण और पाठ्यपुस्तकों के निर्धारण में उमेश चतुर्वेदी की भी महत्वपूर्ण भूमिका होने जा रही है.

गौरतलब है कि उमेश चतुर्वेदी भी इसी संस्थान के छात्र रहे हैं. बलिया के बघांव गांव निवासी उमेश चतुर्वेदी बलिया के सतीश चंद्र कालेज के छात्र रहे हैं. यहां से हिंदी में एमए की पढ़ाई करने के बाद उनका चयन भारतीय जनसंचार संस्थान के पत्रकारिता पाठ्यक्रम में पढ़ाई के लिए हुआ था.

उमेश चतुर्वेदी इन दिनों प्रसार भारती के मीडिया कंसल्टेंट हैं. जी न्यूज, इंडिया टीवी, न्यूज एक्सप्रेस और दैनिक भास्कर जैसे प्रतिष्ठित मीडिया संस्थानों में वरिष्ठ पदों पर कार्य कर चुके चतुर्वेदी हिंदी के प्रतिष्ठित स्तंभकार हैं. भारतीय जनसंचार संस्थान की प्रकाशन समिति के वे पहले से ही सदस्य हैं. भारतीय मूल्यों के लिए कार्यरत प्रतिष्ठित मौलिक भारत ट्रस्ट ने भी उन्हें हाल ही में अपनी राष्ट्रीय संचालन समिति का सदस्य नामित किया है.

(बांसडीह से रविशंकर पांडेय की रिपोर्ट)