उभांव थाना प्रभारी ज्ञानेश्वर मिश्र पर सीयर सीएचसी में दबंगई और बदसलूकी का आरोप, अधिकारियों से की गई शिकायत

सीयर, बलिया. सीएचसी सीयर के डॉक्टरों ने उभांव थाने के प्रभारी निरीक्षक ज्ञानेश्वर मिश्र पर बलदलूकी और दबंगई दिखाने का आरोप लगाया है। इस बारे में एक ऑडियो भी सामने आया है जिसे एक चिकित्सक द्वारा जारी किया गया है।


आरोप है कि उभांव थाना प्रभारी ज्ञानेश्वर मिश्र का फिटनेस सर्टिफिकेट बनवाने के लिए दो सिपाही शुक्रवार की दोपहर सीएचसी सीयर पहुंचे थे। अस्पताल की ओपीडी में ड्यूटी पर तैनात डा.लालचन्द शर्मा ने बिना प्रभारी निरीक्षक के आए किसी तरह के फिटनेस सर्टिफिकेट बनाने से इंकार कर दिया।
चिकित्सक के इन्कार करने को प्रभारी निरीक्षक ज्ञानेश्वर मिश्र ने अपने सम्मान से जोड़ा और उनसे मोबाइल पर कड़े लहजे में बात भी की। इसके करीब आधे घंटे बाद प्रभारी निरीक्षक स्वयं सीयर अस्पताल पहुंचे, तब तक डा. लालचन्द शर्मा ड्यूटी से जा चुके थे।


इस पर प्रभारी निरीक्षक ज्ञानेश्वर मिश्र मौके पर अस्पताल में मिले प्रभारी चिकित्साधिकारी डा. साजिद हुसैन से उलझ गये। वे बार-बार डा. शर्मा को खोज रहे थे। इमरजेन्सी में मरीजों को देख रहे चिकित्सक साजिद हुसैन से भी उन्होंने फिटनेस सर्टिफिकेट बनाने की बात कहीं।


डा. साजिद हुसैन ने कहा कि पहले कोविड की जांच करानी होगी इसके बाद फिटनेस प्रपत्र बन सकता है, इस बात को लेकर प्रभारी निरीक्षक मिश्र भड़क गए और जमकर खरीखोटी सुनायी। अस्पताल के चीफ फार्मासिस्ट भी उनके आक्रोश का शिकार हो गये।


डा. साजिद हुसैन ने कहा कि बिना कोविड 19 जांच किए किसी तरह का फिटनेस दिया जाना संभव नहीं है जिसके बाद प्रभारी निरीक्षक और आग बबूला हो उठे और चिल्लाते हुए कहा कि अब थाने आकर तुम कोविड की जांच करना और फिटनेस देना। साथ ही प्रभारी निरीक्षक मिश्र ने अस्पताल में ही अपने सिपाहियों को सख्त हिदायत दिया कि बिना उनकी इजाजत के अस्पताल पर कोई भी सिपाही नहीं पहुंचेगा और किसी भी स्वास्थ्यकर्मी या अस्पताल के मामले में किसी तरह की मदद नहीं होगी।


उनके इस तरह के बर्ताव को अस्पतालकर्मियों और चिकित्सकों में जबरदस्त रोष व्याप्त हो गया। डा. लालचंद्र शर्मा ने कहा कि उभांव थाने के थाना प्रभारी का चिकित्सकों के प्रति किए गए दुर्व्यवहार की जानकारी डीएम, एसपी और डीआईजी आजमगढ़ सहित उच्चाधिकारियों को दे दी गई है। आगे की रणनीति उच्चाधिकारियों से वार्ता के बाद तय होगी।


क्या बोले प्रभारी निरीक्षक

उभांव थाने के प्रभारी निरीक्षक ज्ञानेश्वर मिश्र ने अपनी फिटनेस बनवाने हेतु अस्पताल पहुंचने की बात स्वीकारी। उन्होंने कहा कि वह अपने दो आरक्षियों को फिटनेस बनवाने के लिए भेजे थे लेकिन डाक्टर लालचन्द शर्मा ने बोला था कि सामने उपस्थित होने पर ही फिटनेस सर्टिफिकेट बनेगा। उन्होंने कहा कि मैं अस्पताल पहुंचा तो डाक्टर शर्मा नहीं मिले। कहा कि मैंने अस्पताल में कहा कि इतना सहयोग आपसे नहीं मिलेगा? हम भी आपका सहयोग किया करते हैं।


पूर्व विधायक ने ली जानकारी

बेल्थरारोड विधानसभा के पूर्व विधायक गोरख पासवान घटना की जानकारी होने पर शुक्रवार की शाम सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सीयर पहुंचे और उभांव थाने के प्रभारी व स्वास्थ्य विभाग के डॉक्टरों के बीच हुई कहासुनी, चेतावनी आदि की पूरी जानकारी के लिए प्रभारी अधीक्षक डाक्टर साजिद से बात की। पूर्व विधायक ने कहा कि भारत का कोई नागरिक हो, हर कोई कानून से बंधा हुआ है। यदि चिकित्सक द्वारा कोतवाल को फिटनेस बनवाने के लिए कोरोना टेस्ट कराने की बात कही, तो उनको पालन करना चाहिए था। कहा जो कुछ हुआ उचित नहीं हुआ।

(उभांव से उमेश गुप्ता की रिपोर्ट)

Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.