1 August, 2021

रिटायर्ड आईएएस सूर्य प्रताप सिंह ने बलिया के दुबहर थाने में दर्ज कराया बयान, दर्ज है एफआईआर

दुबहर,बलिया. सेवानिवृत्त आईएएस अधिकारी सूर्यप्रताप सिंह ने बलिया के दुबहर पुलिस थाने में पहुंच कर अपना बयान दर्ज करा दिया है। उन्होंने बलिया में गंगा घाट पर शवों को बहाने एवं उसे जेसीबी मशीन से गाड़ने के संबंध में ट्वीट किया था. इस पर 12 मई 2021 को बलिया कोतवाली में एफआईआर दर्ज होने के बाद विवेचना अधिकारी दुबहर थाना प्रभारी अनिलचंद्र तिवारी को बनाया गया है.

बयान दर्ज कराने के लिए रिटायर्ड आईएएस को 15 जून को दुबहड़ थाने में तलब किया गया था. इसी क्रम में पूर्व आईएएस अधिकारी सूर्यप्रताप सिंह मंगलवार की सुबह 4:00 बजे बलिया के लिए लखनऊ से रवाना हुए और शाम को 5:00 बजे बलिया पहुंचे.

दुबहर में उन्होंने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि लोकतंत्र में अभिव्यक्ति की आजादी का सबको अधिकार है. ऐसे में मेरे द्वारा जो ट्वीट किया गया है, उसमें कहीं से भी मुकदमा दर्ज करने की स्थिति नहीं बनती है क्योंकि मेरे ट्वीट में जिन शवों का फोटो लगाया गया है, वह प्रतीकात्मक मात्र है. इसके अलावा एक ही मामले में मेरे ऊपर उत्तर प्रदेश राज्य में ही दो जगह मुकदमा दाखिल किया गया है जबकि किसी एक अपराध में एक ही व्यक्ति पर कहीं भी एक जगह मुकदमा दाखिल किया जा सकता है.

 

 

उन्होंने कहा कि उनके ट्वीट से कहीं से भी जनमानस के प्रति कोई भय का माहौल उत्पन्न नहीं हुआ है. यह सीधे-सीधे परेशान करने की साजिश रची जा रही है जबकि इस कोरोना वायरस संक्रमण काल में बयान वर्चुअल माध्यम से भी लखनऊ से ही कराया जा सकता था।

दुबहर थाने पर बयान दर्ज कराने के पूर्व दुबहड़ थाने के भवन के जर्जर हालात पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि यह कब ढह जाए इसकी कोई गारंटी नहीं है. यहां तो बैठने की भी जगह नहीं है. इस जर्जर थाने में पुलिस के जवान और स्टाफ कैसे रहते होंगे ? सरकारों को इस दिशा में ठोस कार्य करना चाहिए.

सूर्य प्रताप सिंह दुबहर थाने पहुंचे तो उनके साथ आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता भी पहुंचे. उनके साथ वकील भी थे. इस अवसर पर आम आदमी पार्टी के उत्तर प्रदेश सह प्रभारी अनूप पांडेय, डॉ. शोभनाथ सिंह, मोती सिंह, एडवोकेट कमलेश यादव, जिला अध्यक्ष डॉ प्रदीप कुमार, सचिव अश्विनी गिरी, नगर अध्यक्ष अशोक गुप्ता, टीपू सिंह, रणविजय सिंह, अजय कुमार राय मुन्ना, एडवोकेट हरदयाल आदि उपस्थित थे.

(दुबहर से कृष्णकांत पाठक की रिपोर्ट)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

You may have missed