किसान गेहूं क्रय केंद्र पर गेहूं लेकर भटक रहे, कर्मचारी 3 दिन से गैरहाजिर

बैरिया. प्रदेश सरकार के सख्त निर्देश, स्थानीय विधायक की कोशिशों और जिलाधिकारी अदिति सिंह के रोजाना समीक्षा के बावजूद बैरिया विधानसभा क्षेत्र में सरकारी गेहूं क्रय केंद्रों पर हालात खराब हैं और किसान परेशान हैं.

एक तरफ हॉट गोदाम लालगंज, हॉट गोदाम रानीगंज, साधन सहकारी समिति हनुमानगंज में सरकारी गेहूं की खरीद अव्यवस्था की भेंट चढ़ गई हैं वहीं कृषि उपमंडी समिति रानीगंज (सोनबरसा) में बिना सूचना पिछले तीन दिनों से गेहूं की खरीदारी बन्द है. ट्रैक्टर में गेहूं लेकर किसान तीन दिनों से क्रय केंद्रों पर डेरा डाले हुए हैं किंतु क्रय केंद्रों के प्रभारी बिना सूचना गायब है.

बताते चलें कि 1 अप्रैल से गेहूं क्रय केंद्र चालू करने के आदेश के विपरीत सोनबरसा गेहूं क्रय केंद्र का ताला 15 मई से खुला किंतु महज दो-तीन दिन खरीदारी के बाद केंद्र प्रभारी अचानक गायब हो गए और तब से गेहूं क्रय केंद्र पर ताला लटका हुआ है.

किसानों का आरोप है कि संबंधित कर्मचारी बिचौलियों की मिलीभगत से पिछले दरवाजे से गेहूं खरीदारी कर रहे हैं, उधर साधारण किसान दर-दर की ठोकर खाने को मजबूर है. बताते चलें कि प्रत्येक गेहूं क्रय केंद्र पर प्रतिदिन 600 कुंतल गेहूं खरीदने का आदेश मुख्यमंत्री ने की ओर से दिया गया था. उसे घटाकर 300 कुंतल कर दिया गया बावजूद इसके लोगों को भारी परेशानी हो रही है.

इस मामले में उप जिलाधिकारी प्रशांत नायक का कहना है सभी किसानों का गेहूं क्रय केंद्र प्रभारियों को खरीदना ही पड़ेगा अगर कहीं से किसी किसान को क्रय केंद्र प्रभारियों ने लौटाया तो उसके विरुद्ध कठोर कार्रवाई होगी उन्होंने कहा बंद पड़ा सोनबरसा का क्रय केंद्र भी यथाशीघ्र चालू कराया जाएगा.

(बैरिया से वीरेंद्र मिश्र की रिपोर्ट)

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.