2 August, 2021

बलिया में प्रधान पद का चुनाव लड़ रहे थे दोनों, पहले बहन की मौत, फिर भाई की गई जान

सांकेतिक चित्र

बेल्थरा रोड ,बलिया. सीयर ब्लाक के ग्राम पंचायत तुर्तीपार और मोलनापुर से जुड़ी इस दुखद घटना से हर किसी की आंखों में आंसू हैं. तुर्तीपार में मतदान के एक दिन पूर्व बीते 25 अप्रैल की शाम 4 बजे प्रधान पद की महिला प्रत्याशी विमली देवी चुनाव चिन्ह गदा की मौत हो गयी थी, वह कोरोना संक्रमित थीं. उनकी मौत से तुर्तीपार में प्रधान पद का चुनाव टालना पड़ा जो अब 9 मई को होगा.

मतगणना से दो दिन पहल यानी 29 अप्रैल की देर रात 9 बजे ग्राम पंचायत मोलनापुर में प्रधान पद के खड़ाऊं चुनाव चिन्ह से प्रधान पद के प्रत्याशी और पूर्व प्रधान समरनाथ राजभर की मौत हो गई.

मतदान से पूर्व व मतदान के बाद हुई दोनों प्रधान प्रत्याशी रिश्ते में भाई व बहन थे. इनके इस तरह से अचानक निधन से हर कोई आवाक है, यह घटना चारो तरफ चर्चा का विषय बनी हुई है.

समरनाथ राजभर वर्ष 2000 से 2005 तक ग्राम प्रधान थे और 2010 से 2015 में महिला सीट होने पर उनकी पत्नी गिरजा देवी प्रधान रहीं. इस बार यानी 2021 में पंचायत चुनाव में  ग्राम पंचायत मोलनापुर से प्रधान पद के 10 उम्मीदवार थे जिसमें पूर्व प्रधान समरनाथ राजभर का चुनाव चिन्ह खड़ाऊ था.

अभी मतगणना बाकी थी कि अचानक उनकी तबियत बिगड़ी और सांस लेने में दिक्कत होने लगी. बेल्थरा रोड में प्राईवेट अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था. परिजनों के मुताबिक डाक्टर ने आक्सीजन की मात्रा कम होने से सांस लेने में तकलीफ बताई थी. उन्हें ऑक्सीजन दी गई थी और गुरुवार की दोपहर में उनकी सेहत मेंकुछ सुधार हुआ और अपने परिजनों से उन्होंने बातचीत भी की. परिजनों के मुताबिक आक्सीजन खत्म हो जाने के कारण परिवार के लोगों ने काफी मशक्कत से आक्सीजन का इंतजाम किया लेकिन मौके पर आक्सीजन सिलिंडर पहुंचने से पहले ही उनकी मौत हो गई.

(बलिया से कृष्णकांत पाठक की रिपोर्ट)

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.