डीएम बलिया का तेज-तर्रार अंदाज देख बांसडीह तहसील कार्यालय के अफसरों के पसीने छूटे

बांसडीह,बलिया. डीएम अदिति सिंह ने मंगलवार को बांसडीह तहसील और ब्लॉक कार्यालय का निरीक्षण किया. तहसील में कर्मचारियों की सर्विस बुक, जीपीएफ, पासबुक अधूरी होने, आवासीय व मत्स्य पट्टा से जुड़े अभिलेख अपडेट नहीं होने पर उन्होंने नाराजगी जताई. सुधार लाने के लिए उन्होंने 15 दिन का समय दिया. उन्होंने कहा कि जिस कर्मचारी को जो जिम्मेदारी दी गई है, उससे जुड़े कार्य को हमेशा अपडेट रखें.

 

 

अदिति सिंह ने आवासीय व मत्स्य पट्टा सम्बन्धी लक्ष्य की जानकारी ली और अभिलेख देखे. आवासीय पट्टा के रजिस्टर में वर्ष 2017-18 के बाद कोई एंट्री नहीं होने, वर्तमान वर्ष में मत्स्य का कोई पट्टा नहीं होने और लगान जमा कराने में लापरवाही पर तहसीलदार को चेतावनी निर्गत करने का निर्देश दिया. उन्होंने एसडीएम दुष्यंत कुमार मौर्य को निर्देश दिया कि पट्टेदार का मौके पर कब्जा व लगान जमा हुआ या नहीं, इसका पुनः सत्यापन कर रिपोर्ट दें.

 

 

निरीक्षण के दौरान लेखपालों की पांच-पांच सर्विस बुक व जीपीएफ पासबुक उठाकर चेक किया तो वह अधूरे मिले और इसे हफ्ते भर में पूरा कराने को कहा. काफी समय से अग्नि शमन यंत्र चेक नहीं करने पर भी नाराजगी जताई. उन्होंने कहा कि किसी आपदा में जनता तक राहत पहुंचाना, हर राशन कार्डधारक को समय पर राशन दिलवाना, आवंटित पट्टा पर समय से कब्जा दिलवाना, अपनी शिकायत लेकर तहसील आने वाले हर फरियादी को न्याय दिलाना प्रमुख कार्य है. इन कार्यों का सम्पादन ठीक से करा दें तो आम जनता की अधिकांश समस्या दूर हो जाएगी.

 

 

संग्रह अनुभाग में निरीक्षण के दौरान वसूली की खराब प्रगति पर उन्होंने कहा कि अमीनों में बराबर-बराबर जिम्मेदारी दें और हर हप्ते समीक्षा करें. वसूली सम्बन्धी दाखिले के विशेष दिन की कार्यवाही के बाबत पूछताछ की. कहा, 15 दिन बाद यहां की प्रगति सुधार कर अवगत करावें. रिकार्ड रूम में अभिलेखों का मिलान व बस्तों की स्थिति ठीक करने को कहा.

 

बांसडीह ब्लॉक के निरीक्षण में मिली कमियों को सुधारने के निर्देश

 

बांसडीह ब्लॉक के निरीक्षण में तमाम कमियां मिलने पर जिलाधिकारी ने नाराजगी व्यक्त की. कमियों को दूर करने के लिए एक हप्ते का अल्टीमेटम दिया. लघु सिंचाई विभाग द्वारा निःशुल्क बोरिंग की प्रगति, पेंशन आवेदन के सत्यापन की स्थिति, बीमा योजना में काफी खराब स्थिति होने पर सुधार लाने की कड़ी हिदायत दी. निरीक्षण के दौरान अभिलेख भी अपडेट नहीं मिले. जिलाधिकारी ने कहा कि सभी कर्मचारी अपने दायित्व को समझें और अपना काम समय पर दुरुस्त रखें. खण्ड विकास अधिकारी को निर्देश दिया कि अपने अधीनस्थों के कार्य पर नजर रखें.

 

डीएम अदिति सिंह ने एडीओ पंचायत को निर्देश दिया कि ब्लॉक के हर गांव में हैंडपम्प व ट्रांसफर की क्या हालत है, इसकी रिपोर्ट दें. सिर्फ कार्यालय में हीं नहीं, बल्कि क्षेत्र में भी भ्रमण कर अपना काम ठीक से करें. निरीक्षण के दौरान सीडीओ विपिन जैन, पीडी डीएन दूबे, एसडीएम दुष्यंत कुमार मौर्य, तहसीलदार संतोष शुक्ला, खण्ड विकास अधिकारी रणजीत कुमार आदि थे.

(बांसडीह से रविशंकर पांडेय की रिपोर्ट)

Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.